पतंजलि शराब छुड़ाने की दवा । नशा मुक्ति की 5 सबसे अच्छी दवा

Patanjali shrab chhudane ki dawa.

पतंजलि शराब छुड़ाने की दवा । शराब एक तरल पदार्थ होता है जिसे अनाज, फल और कुछ सब्जियों को सड़ा कर बनाया जाता है । इन चीजों से खमीर उठाकर शराब तैयार की जाती है । इस पूरी प्रक्रिया के दौरान एथनॉल नामक एक रसायन की उत्पत्ति होती हैं । जो बॉडी के लिए हानिकारक होता है । शराब बनाने के लिए कुछ अन्य पदार्थों का भी इस्तेमाल किया जाता है । जो आपके पेट और आंतों से होते हुए खून में पहुंचता है । और यही रक्त तेजी से शरीर के सभी हिस्सों से होता हुआ मस्तिष्क में पहुंचता है और यही कारण है कि शराबी को नशे का अहसास होने लगता है ।

शराब अक्सर आनन्द के लिए पी जाती है। इनकी शुरूआत दोस्तों के साथ मौज मस्ती के कारण होती है । बाद में लत लग जाती है । अन्य कारण जैसे – गम मिटाने के लिए, खुशी मनाने के लिए, डिप्रेशन एवं चिन्ता में, गुस्से में आकर या आवेग आने पर, आत्माविश्वास बढ़ाने या मूड बनाने के लिए आदि। इसके अतिरिक्त शराब के सेवन को धार्मिक व अन्य सामाजिक अनुष्ठानों से भी जोड़ा जाता है। परन्तु कोई भी समाज या धर्म इसके दुरूपयोग की स्वीकृति नहीं देता है।

पढ़े – अश्वशक्ति पाउडर के फायदे व नुकसान । Ashwashakti powder ke fayde.

शराब सेवन के लक्षण

रोजाना शराब का सेवन करने वाले लोगों में कुछ लक्षण दिखाई देने लगते हैं, जिसके आधार पर भी इसके आदी होने को पहचाना जा सकता है। जैसे-

  • शराब सेवन करने की प्रबल इच्छा एवं अत्यधिक मात्रा में सेवन करना ।
  • शराब न पीने पर शरीर में कम्पन होना, अनियमित रक्तचाप होना, घबराहट, बेचैनी होना, कानों में आवाज सुनाई पड़ना, भयभीत होना, नींद न आना आदि इन प्रॉब्लम का हल शराब पीने से ही होता हैं।
  • शराब का सेवन लम्बे समय तक करना।
  • कार्यो में अरुचि और अधिकतर समय शराब की तलाश में बिताना या नशे के प्रभाव में रहना।
  • विभिन्न दुष्प्रभाव जैसे शारीरिक, आर्थिक व मानसिक की परवाह न करते हुए शराब सेवन बंद नही रखना या कोशिश करने के बावजूद सेवन बंद नही कर पाना।
    जब व्यक्ति नियमित शराब पीने लगता है तब अनेको समस्याओं का जन्म होता है ।

शराबी की शारीरिक समस्याएँ विशेष रूप से पेट की बीमारियाँ, लीवर की बीमारी मुख्य रूप से सिरोसिस, स्नायु तंत्र की कमजोरियाँ, कैंसर आदि । तो आपको तुरन्त योग्य चिकित्सक से सम्पर्क करना चाहिए वरना आपका जीवन खराब हो सकता है।

पतंजलि शराब छुड़ाने की दवा Price एवं उपाय

पतंजलि शराब छुड़ाने की दवा जो है एक नशा मुक्ति दवा । आसुत पेय पदार्थ देसी शराब, अल्कोहल के नशा से मुक्ति पाइए । बिना बताए शराब छुड़ाने की दवा जिसे घरेलू आयुर्वेदिक दवा के रूप में इस्तेमाल कर सकते हैं ।

इन दवाओं में पतंजलि अभयारिष्ट सिरप, पतंजलि अश्वशिला टेबलेट, पतंजलि शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल आदि मुख्य हैं । इनका नियमित रूप से सेवन करने पर नशे की लत से मुक्ति मिलती है । इस बात का ध्यान रखें कि इस्तेमाल करने से पहले योग्य वैध की सलाह अवश्य लें क्योंकि हर रोगी की भिन्न भिन्न होती हैं और उसी के आधार पर खुराक दी जाती है । तो चलिए जानते है – Patanjali shrab chhudane ki dawa.

पढ़े – इज़ोल टॉनिक के फायदे नुकसान । Eazol health tonic uses in hindi.

पतंजलि शराब छुड़ाने की दवा – दिव्य अश्वशिला कैप्सूल । Patanjali Ashvashila Capsule.

यह एक आयुर्वेदिक कैप्सूल हैं जो 2 प्रकार की आयुर्वेदिक औषधियों जैसे शिलाजीत एवं अश्वगंधा से मिश्रण से तैयार किया जाता है । ये दोनों ही औषधियां शारिरिक दुर्बलता दूर करने में रामबाण दवा के रूप में कारगर है । चूंकि इनका इस्तेमाल ज्यादातर यौन विकारो जैसे शीघ्रपतन, पेनिस प्रॉब्लम आदि के लिए भी किया जाता हैं ।

लेकिन यह औषधि शरीर की कोशिकाओं में एनर्जी का स्तर बढ़ाकर बॉडी में नई ऊर्जा का संचार करती है । बॉडी की मांशपेशियों को स्ट्रांग करती हैं । यही कारण है कि शराब, बीड़ी, सिगरेट एवं अफीम जैसी नशे की लत को छुड़ाने में सहायक है । क्योंकि यह सहनशक्ति बढ़ाने की कारगर दवा है ।

दिव्य श्री नशा मुक्ति प्लस पाउडर । Divya shri Nasha mukti plus –

यह पतंजलि की आयुर्वेदिक हर्बल प्राकृतिक चिकित्सा पद्धति से तैयार की गई एक दवा है । जिसमे कई प्रकार की आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों जैसे विदारीकंद, अश्वगंधा, भुई अमला, ब्राही आदि जो विभिन्न प्रकार के नशे जैसे सिगरेट, बीड़ी, तम्बाकू व शराब पीने की लत से मुक्ति दिलाने के लिए कारगर है ।

  • विदारी – यह एक एंटीवायरल, जीवाणुरोधी गुणों से भरपूर होती हैं जो पेट मे सूजन, दर्द एवं गैस्टिक के लिए लाभदायक होती हैं ।
  • अश्वगंधा – यह औषधि विभिन्न प्रकार की शारिरिक कमजोर को दूर करके नई ऊर्जा का संचार करता है ।
  • भुई अमला – यह एंटीवायरल, एंटीऑक्सीडेंट एवं जीवाणु रोधी के गुणों से भरपूर होने के कारण यकृत एवं पेट अम्लता, अल्सर की प्रॉब्लम के लिए लाभदायक है ।
  • ब्राही – यह औषधि मानसिक दुर्बलता दूर करने के साथ डिप्रेशन को दूर करने के लिए कारगर है ।

दिव्य श्री नशा मुक्ति प्लस पाउडर का नियमित रूप से अनुशासित खुराक के रूप में सेवन करने पर नशे जैसी बुरी लत को छुड़ाने में कारगर है ।

पति को शराब छुड़ाने की दवा पतंजलि – अजवाइन काढ़ा

अजवाइन काढ़ा सिरप दिन में 3 बार चाय की प्याली इतना इस काढ़े का सेवन करते हैं, तो दो से 3 हफ्ता मे ही शराबी लोगों को शराब की लत से छुटकारा मिल जाता है।
विधि -:

  • 250 ग्राम अजवाइन के साथ 4 गुना पानी मिक्स करदें ।
  • पानी और अजवाइन की मिश्रण को अच्छी तरह उबाल कर ले ।
  • पानी को अजमाइन से अलग करके एक छोटी सी सी सी में रख ले ।
  • अब आप इस पतंजलि गुण वाली अजवाइन काढ़ा का शेवन करें ।

पढ़े – बेस्ट 9 महिलाओं के लिए टॉनिक Patanjali, आयुर्वेदिक

शराब छुड़ाने के उपाय – आदि की सुखौता

आदि के छोटे-छोटे टुकड़े के ऊपर नींबू की लेप के साथ काला नमक लगाकर धूप में कुछ दिन के लिए सूखने छोड़ दे, इस सूखे आदि खट्टे नमकीन को शराब पीने वाले व्यक्ति को दिन में 2-3 बार चूसने के लिए दे दे। ऐसा आपको 20 से 25 दिन तक लगातार सेवन कराना है इस टिप्स से 100% शराब पीने की आदत छोड़ने लगेंगे ।

पढ़े – घर पर काढ़ा बनाने की विधि । Kadha banane ki vidhi in hindi.

अजवाइन से शराब छुड़ाने के उपाय – अजवाइन की शिकंजी

शराब पीने वाले व्यक्ति या महिला को शिकंजी मे उबला हुआ अजवाइन का पानी मिलाकर पिलाने से कुछ ही हफ्तों में शराब पीने की आदत या अमल धीरे-धीरे छोड़ जाता है। यह बहुत ही अच्छा रामबाण उपाय है शराब की लत से छुटकारा दिलाने का ।

पढ़े – कैंसर के लक्षण व बचाव । Cancer ke lakshan in hindi.

अदरक पाउडर का काढ़ा । Adrak Powder ka Kadha.

पतंजलि द्वारा अदरक पाउडर का काढ़ा भी शराब छुड़ाने के लिए एक अच्छा उत्पाद है| जिससे किसी भी प्रकार की शराब को छुड़ाया जा सकता है | इस काढ़ा को आप घर पर तैयार कर सकते हैं । इसके लिए आप पतंजलि से अदरक पाउडर और अजवाइन का पाउडर एक गिलास पानी में उबालकर छान ले और ठंडा कर ले।

ठंडा होने के बाद आधा गिलास काढ़ा रात्रि में तथा आधा गिलास सुबह खाना खाने से पहले पिला दे | सुबह सूर्य के प्रकाश व्यक्ति लंबी लंबी सांसे लेता है, तो उसके शरीर में सल्फर बढ़ जाता है | जिसकी वजह से शराब छूट जाती है | पतंजलि की यह बहुत ही फायदेमंद दवा है।

श्री गंगा आयुर्वेद क्विट एडिक्शन । Shri Ganga Quit Adiction.

यह एक भारतीय आयुर्वेदिक नशा मुक्ति दवा है. जिसका शरीर पर किसी प्रकार का दुष्प्रभाव नहीं पड़ता है और व्यक्ति की शराब छुट जाती है| इस दवा को प्रतिदिन 1 पाउच लेना होता है | इसे भोजन के साथ भी खाया जा सकता है | जिससे व्यक्ति शराब पीना छोड़ देता है ।

पढ़े – पतंजलि बवासीर क्रीम एवं 5 आयुर्वेदिक दवा ।

गंगा नशा मुक्ति पाउडर । Ganga Nasha Mukti Powder.

गंगा आयुर्वेद कंपनी द्वारा निर्मित गंगा नशा मुक्ति पाउडर शराब जैसी बुरी लत को छुड़ाने में मददगार है और किसी भी व्यक्ति को इसे भोजन के साथ दिया जा सकता है फिर कोई साइड इफेक्ट नहीं है ।

यह पाउडर विभिन्न प्रकार की आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों से निर्मित होने के कारण यह शारिरिक कमजोरी को दूर करता है । क्योंकि नशा की लत एक ऐसी लत जो धीरे धीरे बॉडी को कमजोर कर देती है और उसी नशे से रोगी को एनर्जी मिलती है ।

शराब छुड़ाने की आयुर्वेदिक दवा पतंजलि

  • RIDALCOL 200 ML आयुर्वेदिक क्विट एडिक्शन
    यह एक शराब छुड़ाने के लिए नशा मुक्ति दवा है | जिसमें अश्वगंधा, शंखपुष्पी, ब्राह्मी शामिल है| इसके अलावा इसमें एंटी अल्कोहल के रूप में तुलसी और भूमि आंवला लिवर टॉनिक अर्जुन आदि शामिल है।
  • वृंगरा एंटी एडिक्शन पाउडर (200 ग्राम)
    यह एक शराब को छुड़ाने के लिए पूरी तरह से आयुर्वेदिक और हर्बल दवा हैं । इसको भी खाने के साथ या ऐसे भी दिया जा सकता है ।
  • सोवम एंटी एडिक्शन ड्रॉप्स –
    सोवम एंटी एडिक्शन ड्रॉप्स शराब पीने वाले व्यक्तियों की मानसिक भावनात्मक प्रतिक्रियाओं को संतुलित करके शराब छुड़ाने में सहायता करती हैं. इस दवा का लगभग 1 महीने तक सेवन करें।

अंतिम शब्द – आज के लेख पतंजलि शराब छुड़ाने की दवा । Patanjali Shrab Chhudane ki dawa. में दी गई जानकारी का उद्देश्य शैक्षणिक एवं नशे से मुक्ति दिलाना है । यदि आप वाकई में नशे की लत को छोड़ने की दृढ़ इच्छा रखते हैं तो उपरोक्त दवाओं का सेवन करने से पहले योग्य डॉक्टर से परामर्श अवश्य करें ।