पेरासिटामोल व साइड इफेक्ट । Paracetamol uses in hindi

Paracetamol uses.

Paracetamol uses in hindi. Paracetamol एक ऐसी दवा है जिनका उपयोग भारत, ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड व यूरोप जैसे देशों में किया जाता हैं । यही कारण है कि यह दवाई जन जन से परिचित हैं । पेरासिटामोल कई रूपो में इस्तेमाल की जाने वाली रामबाण दवा से कम नहीं है । यह टेबलेट, लिक्विड, सिरप, इंजेक्शन एवं ओरल के रूप में मार्केट में उपलब्ध है ।

दर्द चाहे कोई भी हो मगर इलाज एक ही है – Paracetamol. चाहे USA हो या India. इनका इस्तेमाल तेजी से हो रहा है । फर्क सिर्फ इतना है कि USA में अलग नाम से जानी जाती है । जिसे Acetaminophen कहा जाता है । जिनका उपयोग जापान, कनाडा व अमेरिका जैसे देशों में किया जाता हैं । पेरासिटामोल दवा लेने के बाद तुरंत अपना काम शुरू करती है । यह दर्द सहने की क्षमता देती है । इनके जहाँ बहुत सारे फायदे हैं । मगर नुकसान ( Side effect ) भी बहुत ज्यादा है । जैसे लिवर खराब हो जाना, इनकी लत भी लग सकती है । इसलिए आवश्यक है कि डॉक्टरी सलाह से इस्तेमाल करें ।

पेरासिटामोल का मतलब क्या होता है ? What is Paracetamol in hindi.

एनिलिन एनाल्जेसिक नामक दवाओं के एक वर्ग का रूप मानी जाने वाली पैरासिटामोल की उतप्ति कोलतार से हुई बताई जाती है। इसे फेनासेटिन का active मेटाबॉलिज़मक भी माना गया है जो एनाल्जेसिक और एंटीपायरेटिक के रूप में काफी जाना माना प्रसिद्ध नाम रह चुका है।

इसके विषय में एक बात और बताते चलें कि फेनासेटिन के विपरीत paracetamol को medical dose में कार्सिनोजनिक नहीं माना जा सकता। एसिटामिनोफेन और पेरासिटामोल एक ही यौगिक के रासायनिक नाम से बने हैं या यह भी कह सकते हैं कि इनकी उत्पत्ति हुई है। यदि यौगिक की बात करें तो पेरा- एसिटा इलएमिनोफिनोल को संक्षिप्त रूप में APAP कहा जाता है।

पढ़े – अश्वशक्ति पाउडर के फायदे व नुकसान । Ashwashakti powder ke fayde.

पेरासिटामोल टेबलेट का उपयोग । Paracetamol uses in hindi.

दर्दनाशक या painkillers दवाओं के रूप मे जिस दवा का सबसे पहले नाम लिया जाता है, वह है पैरासिटामॉल दवा। शरीर का जब कभी तापमान बढ़ जाता है तो उसे कम करने के लिए Paracetamol बहुत उपयोगी दवा मानी जाती है। ठंड के समय या फिर टीकाकरण आदि के समय यह दवा काफी उपयोगी है।

दर्द और बुखार में काम आने वाली यह दवा आज घर-घर की पहचान बन चुकी है। जो सॉल्ट जिस दवा को बनाने के काम आता है वह दवा उसी के नाम से जानी जाती है और उसे जेनेरिक दवा कहते हैं। अर्थात यदि पैरासिटामोल सॉल्ट से बनी दवाई को कोई भी कम्पनी इसी के नाम से यानि की इसी सॉल्ट के नाम से बेचती है तो वह जेनेरिक दवा कहलाती है परन्तु यदि इसी सॉल्ट की दवा को कम्पनी किसी अन्य नाम से, ब्रांड से बेचती है तब यह उस कम्पनी की ब्रांडेड दवा कही जाती है । जैसे Panadol, Alvedon, Calpol, Tylenol आदि । इनका उपयोग मुख्य रूप से बुखार एवं दर्द में किया जाता हैं ।

पेरासिटामोल 500mg टेबलेट का उपयोग । Paracetamol uses in hindi.

पेरासिटामोल एक ऐसी दवा है जो हर मेडिकल स्टोर पर आसानी से उपलब्ध हो जाती है । इनका ( Paracetamol uses in hindi. ) उपयोग सभी प्रकार के दर्द के रोकथाम के लिये किया जाता है । पैरासिटामोल 500mg टैबलेट उपयोग दर्द एवं बुखार, सिरदर्द, बॉडी पैन, दाँत दर्द, मांसपेशियों का दर्द, जॉइंट पैन, माइग्रेन, वायरल फीवर आदि से राहत देने के लिए किया जाता है ।

पेरासिटामोल शरीर का तापमान को कम करने में सहायक है । बुखार के दौरान केमिकल को रिलीज होने से रोकने का कार्य करने में सक्षम है । यही कारण है कि पेरासिटामोल का उपयोग अधिक किया जाता है ।
इसी प्रकार ऑपरेशन के होने वाले दर्द एवं एक्सीडेंट के बाद होने दर्द से राहत देने के लिए दर्द की स्थिति अनुसार डॉक्टर्स Paracetamol 500mg, 1000mg, 1500mg का डोज देते है । इस दवाई के साथ अन्य मेडिसीन का उपयोग करके अनेको नामों इनका उपयोग किया जाता है ।

पेरासिटामोल 650mg टेबलेट का उपयोग । Paracetamol uses in hindi.

इस Paracetamol 650 MG Tablet का उपयोग माइल्ड एनाल्जेसिक के रूप में वर्गीकृत किया जाता है, जो बुखार के इलाज ( Fever treatment ) के लिए किया जाता है । इनका उपयोग दर्दनाशक जैसे पीठ दर्द, सिरदर्द, गठिया और दांत दर्द के मामले में किया जाता है। इनके सक्रिय संघटक एनाल्जेसिक की श्रेणी में आता है, जो NSAID की श्रेणी से संबंधित है। इस टेबलेट का उपयोग बुखार के कारण शरीर में होने वाले दर्द निवारण के लिए काम आता है ।

पेरासिटामोल 325mg उपयोग । Paracetamol uses in hindi.

दर्दनाशक एवं ज्वरनाशक के रूप में पेरासिटामोल 325mg टैबलेट एक सामान्य टेबलेट हैं । आमतौर इनका उपयोग सामान्य दर्द जैसे सरदर्द, कमर दर्द, पीठ दर्द, बदन दर्द, बुखार से पहले या बाद में अकड़न आदि में उपयोग की जाती हैं ।

इस टेबलेट का उपयोग बच्चों के लिए भी किया जाता हैं । हालांकि बच्चों के लिए यह डोज़ सामान्य से अधिक है । इसलिए इनका उपयोग डॉक्टर की सलाह से करें । वयस्कों के लिए यह सामान्य खुराक हैं ।

पढ़े – इज़ोल टॉनिक के फायदे नुकसान । Eazol health tonic uses in hindi.

पेरासिटामोल लेने से पूर्व ध्यान रखने योग्य बातें । paracetamol uses in hindi.

कुछ लोगो में यह आदत देखी गई है कि वह बिना किसी बीमारी या रोग ही के अपने आप पैरासिटामॉल दवाई खा लेते हैं। परन्तु ऐसा करने से पूर्व उन्हे एक बार चिकित्सक से ज़रूर सलाह ले लेनी चाहिए।

● यदि कोई महिला गर्भवती है या फिर बच्चे को स्तनपान कराती है, ऐसे में उसे इस बात का ध्यान रखना होगा कि कोई भी दवा बिना किसी चिकित्सक की परामर्श के ना ले। इस दौरान महिला जो भी दवा खायेगी वह सब उसके स्तनपान के ज़रिये बच्चे में चली जायेगी।

● अगर कोई व्यक्ति शराब का अत्यधिक मात्रा में सेवन करता है या फिर किसी महिला या पुरूष को यकृत की गंभीर समस्या है तब भी कोई भी दवा लेने से पूर्व डाक्टर से पूछना बेहद आवश्यक है।

● यदि किसी महिला या पुरूष को या फिर बच्चे को किसी दवाई से एलर्जी की शिकायत है तब भी कोई भी दवा लेने से पूर्व सावधानी बरतना बेहद आवश्यक होगा। कुल मिलाकर हम यही कहेगें कि बिना चिकित्सक के कोई दवा नही लेनी चाहिए।

पेरासिटामोल की खुराक बच्चों को कितनी मात्रा में देनी चाहिए ? Paracetamol uses in hindi.

जब कोई भी व्यक्ति मार्केट से किसी भी तरह की दवा खरीदें, तब उसके पैकेट के ऊपर साफ साफ कुछ instructions लिखें होते हैं या फिर कभी- कभी पूरा पैकेट होता है और उसमें अंदर लिखित रूप से एक पर्ची डली होती है। उसमें स्पष्ट शब्दों मे लिखा होता है कि पैरासिटामॉल के side effects क्या हैं ?

खुराक की मात्रा आदि बातो के बारे में जानकारी दी गई होती है। उन सबको सही ढंग से पढ़ना चाहिए और आयु के हिसाब से जितनी मात्रा खाने के लिए लिखी होती है उसे follow करना प्रत्येक के लिए बेहद ज़रूरी है। पैरासिटामॉल कोई टॉफी तो है नहीं कि जब मन किया खा लिया या फिर अपनी इच्छा से जितनी मात्रा हाथ लगी खाकर छुटकारा पा लिया। किसी को भी पैरासिटामॉल की मात्रा डॉक्टरी सलाह से लेनी चाहिए । जानते हैं कि पैरासिटामॉल की अनुशंसित खुराक क्या है ।

पढ़े – मेडरमा क्रीम कैसे इस्तेमाल करें । Mederma cream uses in hindi.

6 महीने के बच्चे को पेरासिटामोल की कितनी खुराक देनी चाहिए । paracetamol uses in hindi.

दो महीने से अधिक आयु के बच्चे को चिकित्सक दवा देने की सलाह दे देते हैं वह भी तब, जब उसे इंजेक्शन वगैरहा लगाए जाते हैं इस दौरान उसे बुखार आता है। याद रखीये दो महीने से अधिक आयु के बच्चे को 60 मिलीग्राम दवा दी जा सकती है। यदि बहुत ही ज़रूरत हो तभी 4-6 घंटे बाद इसे दोहरा सकते हैं परन्तु जो सलाह चिकित्सक दें वहीं मानते हुए करें।

बात आती है 3 से 5 महीने के बच्चे की। उसे प्रतिदिन लगभग 4 से 6 घंटे पर 60 मिलीग्राम की अधिकतम चार dose दी जा सकती हैं वह भी तब जब ज़रुरत हो।
◆ अगर बच्चा 6 महीने का हो चुका है और बीमार है तब उसे प्रतिदिन 4- 6 घंटे पर 120 मिलीग्राम की चार dose दी जा सकती हैं।

पेरासिटामोल खुराक । Dose of Peracetamol uses in hindi.

यदि बच्चे की आयु 2 और 3 वर्ष हो चुकी है और दवा की आवश्यकता पड़ रही है तब प्रतिदिन हर 4-6 घंटे पर 180 मिलीग्राम की चार dose दी जा सकती है।

◆ अब बात करते हैं उन बच्चों की dose की जिनकी आयु 4 -5 वर्ष ह़ चुकी है। उन्हें प्रतिदिन हर 4-6 घंटे पर 240 मिलीग्राम की चार dose दे सकते हैं। 240- 250 मिलीग्राम की चार dose उन बच्चों को दी जा सकती है जिनकी उम्र 6-7 वर्ष हो चुकी है।

◆ अब और आगे बढ़ते हैं और बात करते हैं 8- 9 वर्ष के बच्चों की। इनको आवश्यकता पड़ने पर प्रतिदिन हर 4-6 घंटे में 360-375 मिलीग्राम की चार dose दे सकते हैं। 10 से 11 वर्ष के बच्चों की तरफ ध्यान दें तो इनको प्रतिदिन हर 4-6 घंटे पर 480-500 मिलीग्राम तक चार dose दी जा सकती हैं।

◆ अब आते हैं हम 12-15 वर्ष की आयु के बच्चों पर इनको 480-750 मिलीग्राम की अधिकतम 4-6 घंटे के अंतराल पर डोज़/ खुराक देने की सलाह दी जाती है। 16 वर्ष और उससे अधिक आयु के बच्चों के लिए, वयस्कों के लिए, 500 मिलीग्राम अर्थात 1 ग्राम दवा देनी है। यह ध्यान रखीये कि चार dose के अनुसार प्रतिदिन 4-6 घंटे पर यह अधिकतम 4 ग्राम होगी। ना कम ना ही अधिक।

पेरासिटामोल दवा के बारे में कुछ टिप्स – tips for Paracetamol uses in hindi.

ध्यान रहे दवा तभी खाएं जब चिकित्सक द्वारा बताई गई हो या उस दवा को खाने की बेहद ज़रुरत हो। हर 4-6 घंटे पर यह दवा खाई जाती है, तब जाकर इससे आराम मिलता है। एक और महत्वपूर्ण बात यह कि एक दिन में चार से अधिक बार इसकी dose नहीं लेनी चाहिए। पैरासिटामोल की खुराक के बीच चार घंटे का अंतराल अवश्य हो।

◆ अगर घर में बच्चा बीमार है और उसे पैरासिटामोल दवा देनी है तब सबसे पहले दवाई के लेबल पर लिखी बातों को ध्यान से पढ़े। लेबल पर लिखा होता है कि किस आयु वर्ग के व्यक्ति को कितनी dose देनी चाहिए ? बच्चों की आयु को सही से जाँच परखकर ही दवा दें।

◆ कभी कभी ऐसा भी होते देखा गया है कि हम सही समय पर पैरासिटामोल या अन्य दवा लेना भूल जाते हैं। इसमें घबराने या परेशान होने की ज़रूरत नहीं है बल्कि जब भी हमें दवा लेने का याद आए तभी ले लेनी चाहिए परन्तु एक बात जो याद रखनी है कि

अगर हम चार में से एक खुराक लेना भूल भी गये हैं तो उसे फिर ना लें क्योकिं 24 hours में मरीज़ को चार खुराक दवा लेनी है अगर वह अपनी इच्छानुसार दवा लेगा तो समय में गड़बड़ उत्पन्न हो जायेगी। अगर एक दिन में मरीज़ चार में से तीन खुराक भी ले लेता है तब भी ठीक है परन्तु dose एक साथ दो कभी नहीं लेनी चाहिए इससे लाभ की जगहा हानि हो सकती है।

पेरासिटामोल की अधिकम खुराक । Maximum dose of paracetamol per day for adults.

मरीज़ को दवा लेने से पूर्व दवा की शीशी या लेबल पर लिखी उम्र को अवश्य देखना चाहिए। यदि गलती से किसी बच्चे को या व्यस्क को दवा की मात्रा अधिक दे दी गई है तो तुरंत डॉक्टर के पास जाना चाहिए। कंटेनर को ज़रूर साथ लेकर जाए और डॉक्टर को दिखाए इससे डॉक्टर ठीक से समझ जायेगा और समय रहते मरीज़ का उचित ईलाज हो सकेगा। याद रखीये अत्यधिक मात्रा में paracetamol medicine लेने से यकृत को नुकसान पहुंच सकता है।

◆ Paracetamol की 2 doses एक साथ कभी भी नहीं लेनी चाहिए।
◆ Paracetamol दर्द निवारक दवा है इससे तुरंत लाभ होते देखा गया है। यदि मरीज़ को दवा लेने के बाद भी आराम ना मिले या दर्द कम ना हो तो तुरंत डॉक्टर या अपने फार्मासिस्ट के पास जाना चाहिए।

◆ कोई भी दवाई खाने से पहले उस दवाई के लेबल को पढ़ना व जाँचना बेहद ज़रूरी है। मरीज़ को एक ही समय में पेरासिटामोल युक्त एक से ज़्यादा दवाओ का सेवन नहीं करना चाहिए। आप ध्यान रखीये कि ठंड या फ्लू की चिकित्सा की दवाओं में पेरासिटामोल की dose दी जाती है। और यह दवा ओवर-दा-काउंटर दवाओं में एक घटक के रूप में प्रयोग में लाई जाती है।

पेरासिटामोल का उपयोग । Peracetamol uses in hindi.

Painkillers medicine में भी paracetamol शामिल हो सकती है। जिसके बारे में चिकित्सकों द्वारा पहले से लिख दिया जाता है या बता दिया जाता है। कोई भी दवा लेने से पहले यह अवश्य देख लें कि उस दवा के लेबल में पेरासिटामोल है या नहीं। अगर मरीज़ को सही ढंग से कुछ भी समझ में नहीं आ रहा है तो कैमिस्ट से या फिर अपने चिकित्सक से पूछ ले परन्तु कभी भी दवा को ओवर-डोज़ के रूप में ना खाए ।

◆ सुविधा के लिए प्रत्येक dose को एक plain paper मे लपेटकर उस पर समय लिख दें कि यह खुराक कितने बजे खानी है। घर में कोई भी पुरानी दवा ना रखें और ना ही expired date की कोई दवा घर में store करके रखें।

◆ यदि किसी व्यक्ति या महिला का आपरेशन होने वाला है तो आपरेशन से पहले डॉक्टर को अपने ईलाज व जो दवाई आप खा रहे हैं उसके बारे में जानकारी ज़रूर दें। इससे डॉक्टर को आपरेशन करने के दौरान कौन सी दवा मरीज़ को देनी है आदि में सुविधा हो जायेगी।

◆ अगर किसी दवा से एलर्जी है तुरंत अपने डॉक्टर को बताइये। Paracetamol बहुत अच्छी व कारगर दवा मानी व बताई गई है अगर फिर भी किसी के मन में इस दवा को लेकर कोई शंका हो तो तुरंत डॉक्टर से पूछना चाहिए।

पेरासिटामोल का भंडारण कैसे करें | How to stores paracetamol in hindi.

सबसे पहली और महत्वपूर्ण बात तो यही है कि –

  1. पैरासिटामोल दवा को बच्चों की पहुंच से दूर रखें।
  2. नमी से बचाकर रखें ।
  3. गीले हाथों से बिल्कुल भी touch ना करें।
  4. अधिक गरमी में ना रखें।
  5. अधिक ठंड यानि फ्रीज में ना रखें।
  6. छाया वाले स्थान पर रखें जहाँ धूप ना आती हो ।

पढे – गोरा होने के 10 बेस्ट फेस वॉश । Best face wash for oily skin in hindi.

पेरासिटामोल का उपयोग किन बीमारियों में किया जाता हैं ?

Paracetamol uses in hindi. का उपयोग विशेष रूप से दर्दनाशक दवाओं के रूप में किया । एक्सपर्ट के अनुसार इनका उपयोग इन बीमारियों में किया गया है –
● जोड़ों में दर्द, मांसपेशियों में दर्द, दांत में दर्द,
डेंगू बुखार, मलेरिया, चिकनगुनिया,
● वृषण में सूजन, पैरों में दर्द, साइटिका,
● कमर दर्द, स्लिप डिस्क, मोच,
● एड़ी में दर्द, कलाई में दर्द, ऑस्टियोआर्थराइटिस,
माइग्रेन, वायरल फीवर,
● प्रेगनेंसी में कमर दर्द, प्रेगनेंसी में ब्रेस्ट में दर्द,
● गर्भावस्था में ऐंठन, गर्भावस्था में पेडू में दर्द,
● प्रेगनेंसी में सर दर्द, प्रेगनेंसी में बुखार,
● प्रेगनेंसी में दर्द, हाथ में दर्द आदि ।

पढ़े – ईडी बूस्टर कैप्सूल । ED Booster capsule uses in hindi.

पेरासिटामोल की ओवरडोज होने पर क्या करे ?

डॉक्टर के अनुसार Paracetamol की दिनभर की निर्धारित dose से अधिक खुराक लेने पर स्वास्थ्य पर इनका गम्भीर प्रभाव पड़ता है । Paracetamol overdose होने पर कुछ सामान्य लक्षण नजर आते जैसे पसीना आना, चक्कर आना, उल्टी मतली होना, कब्ज आदि ।

डॉक्टर के अनुसार इनके लिए एन-एसेटिल्सिस्टेइन (N-acetylcysteine) नामक एंटीडोट का इस्तेमाल किया जाता है । हालांकि 8 घंटे के भीतर ही लेना पड़ता है। जिसे Paracetamol विषाक्तता के हानिकारक प्रभावों को समाप्त किया जा सकता है। इस एंटीडोट इस इस्तेमाल डॉक्टर की सलाह से करें ।

Paracetamol side effects in hindi.

पेरासिटामोल खाने के नुकसान ? Paracetamol side effects in hindi.

कहते हैं कि पेरासिटामोल बहुत कारगर दवा है और किसी भी तरह के दर्द में इसे खाया जाता है। आमतौर पर हल्का सा फीवर या फिर बुखार की हरारत होने पर paracetamol medicine खाई जाती है। लेकिन यदि doctor से बिना पूछे paracetamol दवा का ज्यादा सेवन किया जाए तो इससे पेट का अल्सर और एसीडिटी होने का खतरा बन जाता है।

कई बार ऐसी स्थिति भी उत्पन्न हो जाती है कि मरीज़ को खून की उल्टी होती देखी गई है। अगर बुखार है या दर्द है तुरंत doctor को दिखाएँ। अपने आप डाक्टर बनने का असफल प्रयास ना करें। याद रखीये किसी भी चीज़ का ज्ञान ना होना आपको संकट में डाल सकता है।

पेरासिटामोल का लिवर पर असर । Paracetamol khane ke nuksan.

आपको बता दें कि paracetamol medicine dose प्रत्येक व्यक्ति के शरीर के भार के हिसाब से निर्धारित होती है। मामूली सा सिरदर्द, हल्के बुखार में व्यक्ति बिना डॉक्टर की एडवाइस के पैरासिटामॉल खा लेता है। यही वह कारण है जो व्यक्ति का लीवर डैमेज कर देती है। इसके अतिरिक्त जो महिलाएँ शराब का सेवन करती हैं, उनके लिए 24 घंटे में यानि की पूरे एक दिन में 6 ग्राम से ज्यादा paracetamol medicine लीवर डैमेज की वजह बनती है। जो बेहद दुखद व चिंताजनक विषय है।

प्रजनन क्षमता कम हो जाना । Paracetamol khane ke nuksan.

गर्भावस्था एक ऐसी नाज़ुक अवस्था है जब एक नारी माँ बनने वाली होती है और उसके साथ केवल अपनी ही नहीं बल्कि उस बच्चे की ज़िंदगी भी जुड़ी होती हैं जो अभी तक संसार में आया ही नहीं। ऐसे में कोई भी महिला जो गर्भवती है उस समय हल्का सिरदर्द होने पर paracetamol medicine खा लेती है, तब उसकी होने वाली संतान में प्रजनन क्षमता कम हो जाती है। याद रखिये जब तक डाक्टर स्वयं नहीं कह देता कि नारी को paracetamol दवा खानी है तब तक paracetamol दवा नहीं खानी चाहिए।

Peracetamol से लाभदायक बैक्टीरिया का नाश । Paracetamol khane ke nuksan.

Paracetamol medicine की अधिक मात्रा या फिर बिना डॉक्टर की सलाह से paracetamol medicine का सेवन शरीर की त्वचा पर स्थित लाभदायक बैक्टीरिया को मार देती है। इससे यह हानि होती है कि व्यक्ति की प्रतिरोधक क्षमता नष्ट हो जाती क्योंकि यही वह बैक्टीरिया हैं जो व्यक्ति की प्रतिरोधक क्षमता को सुरक्षित रखते हैं। अगर यही नष्ट हो गये तो कोई भी बीमारी होने पर किसी को भी कोई भी दवाई फायदा ही नहीं कर पायेगी।

त्वचा के रोग – Paracetamol का अधिक सेवन त्वचा के विभिन्न रोग उत्पन्न कर सकता है। त्वचा पर एलर्जी हो जाती या फिर लाल रंग के निशान त्वचा पर फैल सकते हैं।

Paracetamol से डायरिया का खतरा । Paracetamol khane ke nuksan.

Paracetamol की अधिक मात्रा डायरिया यानि कि Loose, watery stools/ उल्टी दस्त की शिकायत हो सकती है। इससे शरीर का पानी कम हो जाता है और शरीर कमज़ोरी महसूस करता है।

● शरीर का भारी हो जाना – जब शरीर मोटा होगा तो diabetes का खतरा भी बढ़ जायेगा। जी हाँ paracetamol tablet के अधिक सेवन से व्यक्ति का शरीर मोटा हो जाता है और उसमें अनेको बीमारियाँ आ जाती हैं।
◆ कुछ अन्य बीमारियाँ –
● त्वचा की प्रतिक्रियाएं
● अस्थमा की संभावना का हो जाना।
● ल्यूकोपेनिया (कम सफेद रक्त कोशिकाओं की गिनती)
● प्लेटलेट की संख्या का कम होना ।
● पेट से खून का बहाव ।

पेरासिटामोल कैसे ले । How to take Paracetamol tablet ?

सबसे पहले हमारी यही सलाह है कि जब भी paracetamol tablet खाएँ तो डॉक्टर से ज़रूर पूछ लें। बिना डॉक्टर के कभी भी paracetamol tablet नहीं खानी चाहिये। अब इसको लेने का तरीका भी जान लेते हैं। पानी के साथ paracetamol tablet को बिना चबाए या फिर कुचले निगल लेना चाहिए। Paracetamol tablets लेने से पूर्व कुछ सावधानियां –

● Paracetamol tablet अगर आप ले चुके हैं तो 2 घंटे के अंदर – अंदर कभी भी एंटासिड जैसी medicine ना खाएं।

● Paracetamol tablet लेने के दौरान कभी भी शराब का सेवन ना करें क्योंकि यह आपके पेट की समस्याओं और लिवर damage के आतरे को बढ़ा सकता है।

क्या पेरासिटामोल गर्भवती ले सकती हैं ? Paracetamol uses in hindi.

वैसे तो गर्भवती महिला के लिए paracetamol tablet अच्छी मानी गई है परन्तु फिर भी गर्भवती महिला को paracetamol tablet कभी भी अपने आप नहीं लेनी चाहिए। अगर चिकित्सक द्वारा prescribed की गई हो तभी खाएं अन्यथा बिल्कुल भी ना खाए।

Breast feeding में महिला को डॉक्टर से सलाह ज़रूर लेनी चाहिए। जबकि यह हानिकारक नहीं होती परन्तु यहाँ बच्चे की सेहत का मामला है तो माँ को कोशिश यही करनी चाहिए कि जब तक डाक्टर ना कहे paracetamol ना खाएं।

● यदि कोई व्यक्ति काफी लंबे समय तक उपचार के लिए paracetamol tablet एसिटामिनोफेन दवा ले रहे हैं, तो ऐसे में उस व्यक्ति को समय- समय अपने डॉक्टर से नियमित रूप से अपने गुर्दे की कार्यक्षमता, यकृत के कार्य और रक्त के घटकों के स्तर की जाँच करवाते रहना चाहिए । ऐसा इसलिए क्योंकि paracetamol tablets अधिक खा लेने से यकृत/ लीवर को नुकसान पहुंच सकता है ।

Paracetamol tablets कब नहीं खानी चाहिए ?

इन कुछ बीमारियों में paracetamol नही खानी चाहिए ।

  • ड्रग एलर्जी ।
  • किडनी और लिवर की कोई भी बीमारी ।
  • शराब की लत या शराब का अधिक म त्रा में सेवन करना ।
  • Low blood platelets count
  • ल्यूकोपेनिया (कम सफेद रक्त कोशिकाओं की गिनती)

दवाएँ जिनको खाने के बाद व्यक्ति को दर्द से आराम मिलता है और वह अच्छा / comfortable महसूस करता है। आपको यहाँ बताते चलें कि paracetamol is very comfortable medicine in any pain परन्तु पेरासिटामोल का अधिक उपयोग ( paracetamol uses in hindi) लिवर को हानि पहुँचा सकता है। जाने किन दवाओ में पेरासिटामोल पाया जाता हैं ।

● Some medicine contains paracitamol
● Calpol (Glaxo SmithKline Pharmaceuticals)
● Dolo (Micro Labs Ltd )
● Sumo L (Alkem Laboratories Ltd)
● Kabimol (Fresenius Kabi India Pvt Ltd)
● Fepanil (Veritaz Healthcare Ltd)

● Pyrigesic (East India Pharmaceutical Works Ltd)
● Malidens ( Abbott )
● Febrinil (Maneesh Pharmaceuticals Ltd)
● Pacimol ( Ipca Laboratories Ltd )
● T-98 ( Mankind Pharma Ltd )

पढ़े – पेनकिलर टेबलेट एवं साइड इफेक्ट्स । Pain killer tablet in hindi.

Peracetamol के साथ अन्य दवाओं के साथ नकारात्मक प्रभाव | Interaction of Paracetamol with other drugs –

Drug interaction तब होती है जब दो या दो से अधिक काफी दवाएँ एक दूसरों के साथ प्रतिक्रिया करती हैं। याद रखिये कि Drug interaction किसी भी medicine को कम प्रभावी बना सकता है। यही नहीं कभी कभी इसके परिणाम काफी घातक सिद्व होते हैं।

कई बार ऐसा भी होता है कि यह किसी भी दवा के प्रभाव को बहुत अधिक increase कर देता है । कुछ drugs interaction काफी हानिकारक भी हो जाती हैं। इसलिए हमारी सलाह यही होगी कि जब भी paracetamol tablet खाएं तो लेबल को अच्छी तरह से ध्यान से पढ़कर ही खाएं और अपने डॉक्टर से सलाह ज़रूर लें।

◆ घातक ( Life – threatning )

Oxyphenbutazone (Sioril, Oxyphenbutazone Metamizole (Novalgin Rc, Bral, Andep ( Ravian )

◆ गम्भीर (Severe)

Isoniazid (Rifact Kid, Risorine, R Cinex, R F Kid B6, Rifacon)
Lamotrigine (Lamiace, Lamitor, Lamez, Lamepil, Lametec)
Pilocarpine (Pilagan, Pilocarpin, Carpinol, Pilocarpine, Carpine)
Leflunomide (Lefra, Arava, Cleft, DM Lef, Lefno)
Imatinib Mesylate (Mesylonib,Veenat, Celonib, Glivec, Imatinib Mesylate)

मध्यम (Moderate)

Phenytoin (Phen Phen, Phenobarbital + Phenytoin, Episol Plus, Barbitoin, Epiphen)
Cholestyramine (Inflacure C, Choltran, Cholestyramine, Cholestyramine + Diclofenac )
Busulfan ( Bucelon, Busulmax, Busulfan )

FAQ –

Q1. Paracetamol tablet खाने के कितने समय बाद इसका असर होना शुरू हो जाता है ?

जबाब – Paracetamol tablet का असर हमें लगभग 30 – 45 मिनट में दिखाई देना शुरू हो जाता है।

Q2. Paracetamol tablet एक व्यक्ति दिन में कितनी बार ले सकता है ?

जबाब – 24 hours में paracetamol tablets की चार dose ली जा सकती हैं वो भी चार चार घंटे के अंतराल पर। यानि कि दो dose के बीच 4 घंटे का अंतर होना बेहद आवश्यक है।

Q3. Paracetamol tablet खाने के बाद क्या कोई महिला या पुरूष driving कर सकते हैं ?

जबाब – अगर किसी व्यक्ति ने paracetamol tablet की निर्धारित dose खाई है और डॉक्टर की परामर्श के बाद उचित समय पर ही खाई है तो driving क्षमता में कोई भी हस्तक्षेप नहीं हो सकता।

Q4. बच्चों के लिए paracetamol tablet secure है या नहीं ?

जबाब – बहुत अच्छा प्रश्न है हर माँ को यही चिंता रहती है कि उसके बच्चे के लिए paracetamol tablet ठीक है या नहीं तो आपको बता दें कि paracetamol tablets या इसका कोई भी रूप तभी तक सुरक्षित माना जाता है जब यह किसी डॉक्टर ने prescribed करके दिया हो। कभी भी अपने आप बच्चों को paracetamol tablets देने का प्रयास नहीं करना चाहिए।

Q5. Paracetamol tablets भोजन या शराब के साथ ले सकते हैं क्या ?

जबाब – कोई भी व्यक्ति भोजन के साथ तो paracetamol tablets ले सकता है परन्तु शराब के सेवन के समय बिल्कुल भी नहीं। क्योंकि यह रियेक्ट होकर पेट की समस्याओं को बढ़ा सकती है और जिगर में काफी दुष्प्रभाव पैदा कर सकती है।

Q6. Paracetamol tablets के विकल्प कौन कौन से हैं ?

जबाब – ● Calpol ( Glaxo SmithKline Pharmaceuticals )
● Dolo ( Micro Labs Ltd )
● Sumo L ( Alkem Laboratories Ltd )
● Kabimol ( Fresenius Kabi India Pvt Ltd )
● Fepanil ( Veritaz Healthcare Ltd )
● Pyrigesic ( East India Pharmaceutical Works Ltd )
● Malidens ( Abbott )
● Febrinil ( Maneesh Pharmaceuticals Ltd )
● Pacimol ( Ipca Laboratories Ltd )
● T-98 ( Mankind Pharma Ltd )

Q7. पेरासिटामोल का रासायनिक सूत्र क्या है ?

जबाब – आंकड़ेसूत्र C8H9NO2
आण्विक भार 151.17 g/molSMILESeMolecules &
PubChem भौतिक आंकड़े घनत्व 1.263 g/cm3 g/cm³गलनांक168 °C (334 °F)जल में घुलनशीलता14 mg/mL (25 °C) मि.ग्रा/मि.ली (२० °से.)फ़ार्मओकोकाइनेटिक आंकड़ेजैव उपलब्धताalmost 100%उपापचय90 to 95% Hepatic अर्धायु 1–4 h उत्सर्जन Renal लाइसेंस आंकड़े ।

Q8. Crocine medicine क्या काम आती है ?

जबाब – Crocine 1000mg tablet का उपयोग बुखार को कम करने और शरीर के किसी भी भाग में हुए दर्द को कम करने में किया जाता है। सिर दर्द, या सामान्य दर्द, कहीं पर भी हो यह दवा उपयोग में लाई जाती है। यह दवा सस्पेंशन, लिक्विड, ड्रॉप, सिरप के रूप में सरलता से मिल जाती है।

इस दवा को रोगी को देने से पूर्व यह जानना बेहद आवश्यक होता है कि समस्या कितनी बड़ी है। या फिर मूल समस्या क्या है। तभी इसे चिकित्सक के बताए अनुसार लेना चाहिए। इससे होने वाले लाभों पर एक नज़र डालते हैं। बुखार और सिर दर्द की बात तो हम पहले ही कर चुके हैं अब अन्य लाभों पर थोड़ आगे बढ़ते हैं।

Q9. कोरोना वैक्सीन लगाने के बाद पेरासिटामोल टेबलेट ले सकते है ? Paracetamol uses in hindi.

जबाब – हा कोरोना वैक्सीन लगाने के बाद पेरासिटामोल टेबलेट ले सकते है बशर्ते यदि आप बुखार से पीड़ित हो । यदि नॉर्मल बुखार या बॉडी दर्द हो तो थोड़ा परहेज करें । क्योंकि यह तकलीफ़ कुछ समय तक की है तो सहन करने में कोई हर्ज नहीं है । फिर भी आप डॉक्टरी सलाह को महत्व दे ।

अस्वीकरण – इस ( Peracetamol uses in hindi. ) लेख में दी गई समस्त जानकारी का उद्देश्य केवल शिक्षा देना है । यदि आप किसी दवा का इस्तेमाल कर रहे या करना चाहते हैं तो डॉक्टरी सलाह से करें । किसी भी जान माल के नुकसान की हमारी कोई जिम्मेदारी नहीं है