7 दिनों में 7 किलो वजन कम कैसे करें । How to weight loss in hindi.

How to weight loss fast in hindi.


How to weight loss in hindi. आज के दौर में मोटापा तेजी से बढ़ रहा है । विश्व स्वास्थ्य संगठन WHO के अनुसार कुछ आकड़े के अनुसार पूरे विश्व में करीब 3 करोड लोग मोटापे का शिकार हैं और साढे सात करोड़ से ज्यादा लोग ऐसे हैं जिनका वजन काफी अधिक है। शरीर में अतिरिक्त वसा का एकत्र हो जाना और शरीर के वज़न को अचानक बढ़ा देना ही मोटापा कहलाता है। पूरे विश्व में करीब 3 करोड लोग मोटापे का शिकार हैं और साढे सात करोड़ से ज्यादा लोग ऐसे हैं जिनका वजन काफी अधिक है। शरीर में अतिरिक्त वसा का एकत्र हो जाना और शरीर के वज़न को अचानक बढ़ा देना ही मोटापा कहलाता है।


एक बात और बता दें कि अधिक वज़न का होना और शरीर का मोटा होना दोनों में काफी अंतर है क्योंकि कभी कभी किसी व्यक्ति के शरीर का वज़न उसकी हडडियों के भार व लंबाई चौडाई के कारण भी हो बढ़ जाता है। उसको हम मोटापा नहीं मान सकते।


जैसा की हमने बताया कि मोटापा ( obesity ) हमारे शरीर की activeness को कम कर देता है और हमारे शरीर में जगह जगह पर वसा के हिस्से दिखाई देते हैं। आपने अक्सर देखा होगा कि पेट का निचला भाग, कमर के side वाला हिस्सा ( Belly fat ) और हाथों व पैरों तथा hips का अचानक फूल जाना आदि यह सभी कुछ मोटापे की श्रेणी में आता है। तो चलिए जानते है – how to weight loss.

Table of Contents


मोटापा भयानक समस्या – How to weight loss.


आज यह समस्या ऐसी हो गई है कि इसके विषय में सोचना एक महत्वपूर्ण आवश्यकता बन गई है। मोटापा एक बेहद जटिल स्वास्थ्य समस्या है जो कुछ कारणों और व्यक्तिगत कारकों जैसे कि व्यवहार और आनुवंशिकी के संयोजन से उत्पन्न होती है। व्यवहार में शारीरिक गतिविधि, निष्क्रियता, आहार patterns, दवा का उपयोग और अन्य जोखिम शामिल हो सकते हैं। अतिरिक्त योगदान कारकों में भोजन और शारीरिक गतिविधि पर्यावरण, शिक्षा और कौशल, और खाद्य विपणन और प्रचार शामिल हैं।


मोटापा गंभीर समस्या है क्योंकि यह खराब मानसिक स्वास्थ्य परिणामों और जीवन की गुणवत्ता में कमी से जुड़ा माना गया है। यही नहीं बल्कि मोटापा दुनिया भर में मृत्यु के प्रमुख कारणों से भी जुड़ा है, जिसमें मधुमेह, दिल का रोग, स्ट्रोक और कुछ प्रकार के कैंसर शामिल हैं। इसलिए आवश्यक है कि समय रहते Weight loss करना जरूरी है ।

Also read –

15 दिनों में पेट की चर्बी कैसे कम करें । How to loss belly fat fast.

पाइनएप्पल से 10 दिन में वजन कम कैसे करें । Pineapple weight loss in hindi.

मोटापे का कारण – Due to obesity in hindi.


लोग और परिवार अपने परिवेश या समुदाय के आधार पर निर्णय ले सकते हैं। उदाहरण के लिए, फुटपाथ या सुरक्षित बाइक ट्रेल्स की कमी के कारण कोई भी व्यक्ति पैदल दुकान या अपने काम पर नहीं जा सकता। हमारा समुदाय व परिवेश, घर, child care, स्कूल, स्वास्थ्य देखभाल और कार्यस्थल की सेटिंग सभी दैनिक व्यवहार को प्रभावित कर सकते हैं। इसलिए ऐसा वातावरण बनाना महत्वपूर्ण है जो शारीरिक गतिविधि में संलग्न हो और पूर्ण रूप से सुरक्षित भी।

आनुवांशिकता

क्या मोटापे में जीन की भूमिका होती है ?


मोटापे की महामारी के लिए जिम्मेदार होने के लिए मानव आबादी में आनुवांशिक परिवर्तन बहुत धीरे-धीरे होते हैं। फिर भी, लोग ऐसे वातावरण में कैसे प्रतिक्रिया करते हैं जो शारीरिक निष्क्रियता और उच्च कैलोरी खाद्य पदार्थों के सेवन को बढ़ावा देता है, यह बताता है कि जीन मोटापे के विकास में भूमिका निभाते हैं।

जीन मोटापे को कैसे प्रभावित कर सकते हैं ?


जीन शरीर को उसके वातावरण में होने वाले परिवर्तनों पर प्रतिक्रिया करने के निर्देश देते हैं। कई जीनों में भिन्नता भूख और भोजन का सेवन बढ़ाकर मोटापे में योगदान दे सकती है। कभी कभी कोई मोटापा नामक रोग एक परिवार में जब पनपता है तो वह विरासत में मिला मोटापा होता है जो सदियों से पीढ़ी दर पीढ़ी आगे बढ़ता चला जा रहा है और परिवार के सदस्यों को प्रभावित कर रहा है।


आपको बता दें कि एक परिवार के भीतर विरासत में मिले मोटापे का एक स्पष्ट पैटर्न एकल जीन ( मोनोजेनिक मोटापा ) एक विशिष्ट प्रकार की वजस से होता है। अधिकांश मोटापा संभवतः कई जीनों और पर्यावरणीय कारकों के बीच जटिल अंतःक्रियाओं के परिणामस्वरूप होता है जो बेहद खराब व हानिकारक समझे जाते हैं ।

पारिवारिक इतिहास के बारे में ?


स्वास्थ्य देखभाल चिकित्सक नियमित रूप से पारिवारिक स्वास्थ्य इतिहास एकत्र करते हैं जिससे लोगों को मोटापे से संबंधित बीमारियों जैसे मधुमेह, हृदय रोगों और कैंसर के कुछ रूपों के उच्च जोखिम वाले लोगों की पहचान करने में मदद मिल सके।

पारिवारिक स्वास्थ्य इतिहास करीबी रिश्तेदारों के बीच साझा आनुवंशिकी और पर्यावरण के प्रभावों को दर्शाता है। परिवार अपने जीन नहीं बदल सकते हैं, लेकिन वे स्वस्थ खाने की आदतों और शारीरिक गतिविधि को प्रोत्साहित कर सकते हैं। वे परिवर्तन परिवार के सदस्यों के स्वास्थ्य में सुधार कर सकते हैं और अगली पीढ़ी के स्वास्थ्य इतिहास में सुधार कर सकते हैं।

अन्य कारक: रोग और दवाएं


कुछ बीमारियों के कारण मोटापा या वजन बढ़ सकता है। इनमें कुशिंग रोग, और पॉलीसिस्टिक अंडाशय सिंड्रोम शामिल हो सकते हैं। स्टेरॉयड और कुछ एंटीडिप्रेसेंट जैसी दवाएं भी वजन बढ़ने का कारण हो सकती हैं। ऊर्जा संतुलन और वजन बढ़ाने में अन्य कारकों की भूमिका पर अनुसंधान जारी है जैसे कि रासायनिक जोखिम और माइक्रोबायोम की भूमिका।


एक स्वास्थ्य देखभाल प्रदाता आपको अपनी स्वास्थ्य आदतों और इतिहास के बारे में अधिक जानने में मदद कर सकता है ताकि यह पता लगाया जा सके कि व्यवहार, बीमारियां, दवाएं, और/या मनोवैज्ञानिक कारक वजन बढ़ाने या वजन घटाने को कठिन बनाने में योगदान दे रहे हैं या नहीं।

अधिक वज़न या मोटापे से होने वाले खतरे – How to weight loss.


WHO ने यह अनुमान लगाया है कि वह दिन दूर नहीं जब स्वास्थ्य पर मोटापे का असर भी smoking की ही तरह पडे़गा और फैल जायेगा। दुनिया में मौत के निरन्तर 10 बढते कारणों में से चार मुख्य कारण –


● मधुमेह,
● पक्षाघात और
● कैन्सर का कारण बढ़ता मोटापा ही है जो काफी dangerous है। प्राप्त आकड़ो के अनुसार संयुक्त राज्य अमेरिका में हर वर्ष 3,00,000 से अधिक जो असमय मौतें होती हैं उनका मुख्य कारण मोटापा ही होता है।


● हृदय रोग (Heart Disease) –
New England General of Medicine के अनुसार heart attack या हृदय से सम्बंधित रोगो का का खतरा मोटे व्यक्तियों में दोगुना और अधिक वजन वाले व्यक्तियों में एक-तिहाई बढ जाता है । यहाँ तक कि अधिक वजन वाले व्यक्तियों की औसत आयु भी कम हो जाती है ।


उच्च रक्तचाप (उच्च रक्तचाप),
● उच्च एलडीएल कोलेस्ट्रॉल,
● कम एचडीएल कोलेस्ट्रॉल, या ट्राइग्लिसराइड्स के उच्च स्तर (डिस्लिपिडेमिया),
● मधुमेह प्रकार 2,
● हृदय – धमनी रोग, आघात,
● पित्ताशय का रोग,


ऑस्टियोआर्थराइटिस (एक जोड़ के भीतर उपस्थित और हड्डी का टूटना)
● स्लिप एपनिया और सांस लेने में तकलीफ, कई प्रकार के कैंसर,
● बाहरी चिह्न,
● जीवन की निम्न गुणवत्ता
● मानसिक बीमारी जैसे नैदानिक ​​अवसाद, चिंता, और अन्य मानसिक विकार |
● शारीरिक दर्द और शारीरिक कामकाज में कठिनाई उत्पन्न हो जाती है।
● वजन को संतुलित रखने के लिए आप कीवा ग्रीन टी, और नोनी का इस्तेमाल कर सकते हैं |

Best way to weight loss.

वजन कम करने के आसान तरीके । Best way to weight losys in hindi.


मोटापा अनेक बीमारियों का घर है। आज हम आपको बताते हैं कि केवल 7 दिनों में आप अपना वज़न वो भी 7 किलो किस प्रकार सकता घटा सकते हैं । तो चलिए जानते है Weight Loss tips


Vajan kam karane ke upay खाने की आदतो में सुधार –

Weight loss के लिए सबसे पहले अपने खान पान की आदतो को बदले। अधिक कैलोरीज़ व फैट वाली चीज़ो से दूर रहना शुरू करें। Breakfast, Lunch and Dinner निश्चित समय पर ही करें। स्वीट, फ्राइड फूड, बेक्ड खाद्य पदार्थ ना ही खाएँ तो बेहतर है। चाहे घर में या फिर बाहर कैसी भी पार्टी हो आपको ऐसा कोई भी खाद्य पदार्थ नहीं खाना है जो आपके शरीर के मोटापे को बढ़ा दे।

Vajan kam karane ke upay. कौन सा खाना नहीं खाना चाहिए –

7 दिनों में वज़न कम करने के लिए आपको केक, पेस्ट्री, ज्यादा नमक वाला खाना, फ्रेंच फ्राइज, bread butter जैसी चीजों का खाना बंद करना होगा। इसके स्थान पर आपको साबुत अनाज, ड्राई फ्रूट और हरी सब्जियों को अपने खाने में सम्मिलित करना होगा।

Weight loss tips. तेज चाल / कदमों से चलें –

आपको शायद यह सुनकर हसी आ रही होगी परन्तु यही सच है।आपके चलने का तरीका भी आपके weight loss करने में मददगार साबित हो होता है।


7 दिनों में 7 किलो तक वजन कम ( how to weight loss ) करने के लिए आपको तेज चाल व तेज़ कदमों से चलने की आदत डालनी होगी। आपको प्रतिदिन 10 हजार कदम पैदल चलना होगा। यह कदम यदि तेज़ होगें तभी लाभ होगा। बहुत से लोगो को यह लग रहा होगा कि उनसे एक साथ 10 हज़ार कदम नहीं चला जायेगा या वह चल नहीं पायेगें तो घबराने की कोई बात नहीं है। इन कदमों को आप दो हिस्सों में बाँट सकते हैं। सुबह और शाम। परन्तु याद रखने वाली बात यही है कि 10 हज़ार कदम हर हालत में पूरे करने हैं। how to weight loss.

Vajan kam karne ke upay. नींद का समय –

सही समय पर सोए और सही समय पर उठे। यदि आप सही समय पर नहीं सोयेगें तो सुबह जल्दी उठ नहीं पायेगें और यदि जल्दी उठ भी गये तो नींद पूरी ना होने के कारण दिन भर आपका शरीर थका -थका सा रहेगा और आप कोई भी काम नहीं कर पायेगें। ऐसे में कोई भी काम ना कर सकने के कारण लगातार बैठे रहने से मोटापा आप पर हावी हो सकता है।

Weight loss tips in hindi. नकारात्मक से दूर रहें –

कभी कभी मानसिक तनाव भी व्यक्ति के शरीर में ऐसे हार्मोन को increase कर देता है कि व्यक्ति का मन खाने को करता रहता है। बार बार वह कुछ ना कुछ खाने की इच्छा करने लगता है ऐसे में उसका मोटापा बढ़ने का खतरा बना रहता है।
किसी भी व्यक्ति को तनाव से दूर रहने की कोशिश करनी चाहिए। यह माना कि परेशानियाँ कहाँ नहीं है परन्तु फिर भी कोशिश करें कि नकारात्मक विचारों से दूर रहे। और अच्छे विचारो को जीवन में जगह दें।

How to weight loss. अपने काम स्वयं करने की आदत –

Weight loss के लिए व्यक्ति को यह कोशिश करनी चाहिए कि वह अपने काम स्वयं करने का प्रयास करे अधिक वाहनो का इस्तेमाल ना करें। पैदल आए और जाए, जब तक वाहन की अधिक ज़रूरत ना हो।

How to weight loss in hindi. एल्कोहल व नशे से दूर रहे –

आज शराब पीना व नशा जीवन के लाइफ स्टाइल में शामिल हो चुका है। हमारे देश व समाज में तकरीबन 8 फीसदी लोग नशे की आदत व शराब का सेवन करते देखे गये हैं। इससे भी मोटापा तेज़ी से बढ़ने की संभावना रहती है। कुछ लोग शराब के साथ अधिक मांसाहारी भोजंन का सेवन करते हैं जो शरीर में वसा की मात्रा को बढ़ा देता है और मोटापा बढ़ जाता है।

Vajan kam karne ke upay. रस्सा कूदना व साइकिल चलाना –

अगर हम अपने जीवन में एक घंटा रस्सा कूदने या फिर cycling को देते हैं। तब भी हम शीघ्र ही मोटापे पर काबू पा सकते हैं। जल्दी weight loss करने में सफल हो जाते है ।

Vajan kam karne ke upay. व्यायाम या योगा करना –

अगर शरीर को स्वस्थ रखना है तो सुबह या फिर शाम को थोड़ा सा व्यायाम ज़रूर करना चाहिए। इससे शरीर एक्टिव बना रहता है और नींद भी अच्छी आती है।

Vajan kam karne ke upay. फलो का सेवन –

एक महत्वपूर्ण बात अगर आप कभी कभी भोजन की बजाय फल खाते हैं तब भी बहुत अच्छी बात है कि आपको या तो मोटापा होगा ही नहीं या फिर धीरे धीरे कम ( Weight loss ) होता चला जायेगा। फलों में फाइबर होते हैं जो हमारे शरीर को चुस्त तंदरुस्त बनाते हैं और शरीर में शक्ति पैदा होती है। फल शरीर से अतिरिक्त चर्बी को जलाकर बाहर निकाल देते हैं।

7 दिन में 7 किलो वजन कम कैसे करें । How to weight loss in 7 days –


7 दिन में वजन कम करने के सबसे पहले खानपान ( Weight loss diet ) पर ध्यान देना बहुत ही आवश्यक है । क्योंकि योग व्यायाम के साथ साथ डाइट भी बहुत महत्वपूर्ण है । 7 दिनों की डाइट पर ध्यान देना आवश्यक है जो इस प्रकार से है – how to weight loss in 7 days.

Weight loss diet. पहला दिन –

वजन कम ( Weight loss ) के लिए पहले दिन की डाइट में स्वास्थ्य वर्धक भोज्य पदार्थ का सेवन करना चाहिए । यदि फलो का सेवन करते है तो केला खाने से परहेज करें ।


Weight loss diet. दूसरा दिन –

weight loss के सप्ताह के दूसरे दिन केवल सब्जियों का सेवन करें । इन सब्जियों का सेवन उलाबकर या सलाद के रूप में कर सकते है । आलू खाने से परहेज करें ।


Weight loss diet. तीसरा दिन –

तीसरे दिन की डाइट में पहले एवं दूसरे दिन की डाइट को ब्रेकफास्ट एवं डिनर के रूप में इस्तेमाल करेंगे पर ध्यान रखें कि weight loss के लिए केले व आलू से परहेज करें ।


Weight loss diet. चौथे दिन

वजन घटाने की डाइट में स्मूदी या फिर मिल्क शेक का सेवन करें । आज आप सिर्फ केला और दूध का सेवन करें । जिसे आपका फैट नहीं बढ़ेगा ।


Weight loss diet. पांचवा दिन

वजन कम करने की डाइट में टमाटर शामिल करें एवं उबला हुआ चावल का प्रयोग करें । साथ ही साथ अधिक से अधिक पानी पिए ।


छठे दिन की डाइट में सब्जियों का सेवन कर सकते है । यदि आप लंच करना चाहते है तो चावल ले सकते है ।
सांतवा दिन की डाइट में फलो का जूस पिए । एवं कप भर उबले हुए चावल एवं सब्जियों को शामिल कर सकते है । इस प्रकार weight loss diet से मोटापा कम कर सकते है ।

वजन कम करने के उपाय – weight loss tips in hindi.


● Weight loss के लिए स्वस्थ व्यवहार यानि कि healthy behavior में नियमित शारीरिक गतिविधि और स्वस्थ भोजन शामिल हैं। गतिविधि के लिए शरीर द्वारा उपयोग की जाने वाली कैलोरी की संख्या के साथ खाद्य पदार्थों और पेय पदार्थों की खपत कैलोरी की संख्या को संतुलित करना अतिरिक्त वजन को रोकने में एक भूमिका निभाता है।


● शारीरिक गतिविधि फिजिओथेरेपी कानफेडरेशन आफ इंडिया की सलाह है कि, वयस्कों को सप्ताह में कम से कम 150 मिनट तीव्र गतिविधि से जैसे तेज चलना चाहिए। इसके अलावा, वयस्कों को ऐसी गतिविधियाँ करने की ज़रूरत है जो सप्ताह में कम से कम 2 दिन मांसपेशियों को मजबूत करें। ऐसा करने से शरीर को जहाँ नयी ऊर्जा मिलेगी वहीं शरीर में activeness भी बनी रहेगी।

● एक स्वस्थ आहार patters की बात अगर की जाए तो वो आहार जो साबुत अनाज, फल, सब्जियां, कम प्रोटीन, कम वसा वाले और वसा रहित डेयरी उत्पादों में शामिल हैं और इन सबसे ऊपर पीने के पानी आदि पर विशेष ज़ोर दिया जाता है।


● लंबे समय तक स्वास्थ्य लाभ और टाइप 2 मधुमेह और हृदय रोग जैसी पुरानी बीमारियों की रोकथाम के लिए पौष्टिक भोजन और नियमित शारीरिक गतिविधि का एक पैटर्न भी महत्वपूर्ण है।

ये उपाय बिल्कुल भी कठिन नहीं हैं सबसे सरल व संभव उपाय हैं। जो प्रत्येक व्यक्ति सरलता से कर सकता है। फिर भी योग्य चिकित्सा सलाह ले फिर how to weight loss का प्रयास करें ।
डॉ सत्यम भास्कर

Share

Leave a Comment