उच्च रक्तचाप के कारण, लक्षण एवं उपाय । High blood pressure in hindi

 

High-blood-pressure-in-hindi.

हाई ब्लड प्रेशर के कारण – आज व्यस्तता भरी जिंदगी में अनेकों बीमारियों से घेर लिया है उनमें उच्च रक्तचाप भी एक है । अगर हमारे शरीर में रक्तचाप नार्मल है तो हम सामान्य जीवन जी सकते है लेकिन सामान्य से कम या ज्यादा होने पर परेशानी खड़ी हो सकती है । इस बीमारी का मुख्य कारण हमारा खान पान एवं व्यस्तता है । सरदर्द, सीने में दर्द एवं चक्कर आना प्रमुख लक्षण है । समय पर हाई ब्लड प्रेशर को कंट्रोल न करने पर Heart disease जैसी प्रॉब्लम हो सकती है ।

High B.P को WHO ने Silent Killer घोषित किया है । ये चुपचाप हमारे सेहत को ही बल्कि नहीं जिंदगी को Disturb कर रहा है । आज भारतवर्ष में काफी बडी तादाद में High B.P के रोगी है । एक शोध के अनुसार हर आंठवा व्यक्ति ब्लड प्रेशर की बीमारी से ग्रस्त है तो High blood pressure एक महामारी की तरह इर्द गिर्द फैल गयी हैं और ताउम्र हमारी जिंदगी इसके आगोश में कहीं ना कहीं सिसक रही है । तो चलिए जानते – उच्च रक्तचाप के कारण, लक्षण एवं उपाय, high Blood pressure in hindi. 

उच्च रक्तचाप क्या है ? What is high blood pressure in hindi ?

जब आपका रक्तचाप सामान्य स्तर पर पहुच जाता है तो उसे high blood pressure कहा जाता है । इसे भी hypertension कहा जाता है । यानी Blood flow तेज हो जाता है । जब रक्त धमनियों से रक्त के गुजरने के प्रवाह और ब्लड को पंप करने के लिये दिल द्वारा लगाई जा रही ताकद के आधार पर ब्लड प्रेशर के स्तर का निर्धारण होता है । समय पर नियंत्रण न होने पर दिल की बीमारी के चांसेस बढ़ जाते है ।

रक्तचाप मापना – ब्लड प्रेशर को स्पाईग्मोमैनोमीटर नामक उपकरण से मापा जाता है। सबसे पहले आपकी बांह के चारों ओर एक कफ रखा जाता है और एक पंप के साथ फुलाया जाता है जब तक कि परिसंचरण काट नहीं दिया जाता है और रक्तचाप को मापने वाला डॉक्टर एक स्टेथोस्कोप का उपयोग करता है, जिसे आपकी बांह पर रखा जाता है, ताकि धमनियों के माध्यम से रक्त के स्पंदन की आवाज सुनी जा सकती हैं ।

हाई ब्लड प्रेशर के कारण – causes of high blood pressure

हाई ब्लड प्रेशर होने बहुत सारे कारण हो सकते है । जैसे खानपान, दैनिक दिनचर्या वगैरह वगैरह तो चलिए जानते है High Blood Pressure Causes
धूम्रपान करना ( smoking ) – High blood pressure होने का कारण अत्यधिक नशीले पदार्थों का सेवन करना है । धूम्रपान करना सेहत के लिए बहुत ही नुकसानदायक होता है । इनका अधिक सेवन करने से रक्तचाप को प्रभावित करते है ।

◆ वजन बढ़ना – मोटापा बीमारियों की जड़ है । सामान्य वजन से अधिक वजन बढ़ जाने से धीरे धीरे बीमारियों खतरा बढ़ने लगता है । उन में से High blood pressure भी एक है । डॉक्टर्स के अनुसार मोटापे की वजह से ब्लड सर्कुलेशन ठीक से नहीं हो पाता है । अधिकतर मामलों में ब्लड प्रेशर का मुख्य कारण होता है ।

हाई ब्लड प्रेशर के कारण –

एक्सरसाइज न करना – योग – व्यायाम भी हमारे सेहत के लिए बहुत लाभदायक होता है । हमारी रोग प्रतिरोधी क्षमता में वृद्धि होती है । हमारी बॉडी की मांशपेशियों स्ट्रांग होती है । इसके विपरीत यदि व्यायाम न करने पर रक्तचाप ठीक से नहीं हो पाता है जिसे ब्लड प्रेशर की प्रॉब्लम हो सकती है ।

नमक का ज्यादा सेवन करना – कुछ लोग खाने में अधिक नमक का सेवन करने के आदी होते है । या यूँ कहे कि खाने में तीखा नमक खाने की आदत होती है लेकिन ज्यादा नमक का सेवन करना सेहत के लिए नुकसानदायक होता है । और ब्लड प्रेशर जैसी बीमारियों को न्योता दे देते है ।

टेंशन लेना – आज की भागदौड़ भरी जिंदगी में तनाव बड़ा सरदर्द बना हुआ है । कुछ लोग इग्नोर कर देते है और कुछ लोग काफी गंभीर होते है जो किसी न किसी से डिप्रेशन में आ जाते है । high blood pressure के मुख्य कारणों में तनाव भी एक है । अधिकतर मामलों ब्लड प्रेशर की प्रॉब्लम अधिक तनाव वालो में पाई गई है ।

उच्च रक्तचाप के लक्षण एव हाई ब्लड प्रेशर के कारण

रक्तचाप आपके रक्त की वह शक्ति है जो आपकी धमनियों की दीवारों के खिलाफ धकेलती है। हर बार जब आपका दिल धड़कता है, तो यह धमनियों में रक्त पंप करता है। जब आपका दिल धड़कता है तो आपका रक्तचाप उच्चतम होता है, रक्त को पंप करना इसे सिस्टोलिक प्रेसायर कहा जाता है।

आपका ब्लड प्रेशर रीडिंग इन 2 नंबरों का उपयोग करता है। आमतौर पर सिस्टोलिक नंबर डायस्टोलिक नंबर से पहले या ऊपर आता है। -119/79 का या उससे कम का पठन सामान्य है। रक्त चाप – शीर्ष नंबरों के लिए 140/90 या उच्चतर 120 और 139 के बीच उच्च बीपी है। या नीचे की संख्या के लिए 80-89 के बीच को प्रीहाइपरटेंशन कहा जाता है । 

High BP ke lakshan in Hindi.

चक्कर आना – ब्लड प्रेशर कम या ज्यादा होने आपको चक्कर आने लगते है । एक हेल्थी व्यक्ति को भी ऐसा लगता है कि उनका दिमाग धूम रहा है । साथ ही साथ किसी काम मे मन नहीं लगता है । थकान सी महसूस होती हो तो तुरंत डॉक्टरी सलाह ले ।

सर्द दर्द होना – जब ब्लड प्रेशर असंतुलित होने पर रक्त मस्तिष्क में नहीं पहुंच पाता है यही कारण है कि सर में भारीपन सा होता है । पूरा सर लगातार दर्द करने लगता है । कुछ मरीज़ों में गर्दन के आस पास पसीना आना भी देखा गया है । हालांकि लगातार सरदर्द होना हाई ब्लड प्रेशर के प्रमुख लक्षणों में से एक है । लेकिन आप चिंता करने के बजाय डॉक्टर से परामर्श ले ।

सीने में दर्द – जब रक्तचाप बढ़ जाता है तो सीने में दर्द होने लगता है । शुरुआती दौर में छाती में भारीपन लगता है । हल्की सी चुंबन का अहसास होता है । फिर दर्द होने लगता है । जब High blood pressure से फेफड़ों तक रक्त पहुंचाने के लिए धमनियों पर दबाव बढ़ जाता है जो दर्द का कारण बनता है ।

अन्य कारण – डॉक्टर्स के अनुसार अन्य लक्षणों में थकान होना, सांस लेने में परेशानी होना, दृष्टि कमजोर होना आदि लक्षण माने गए है ।

Symptoms of high blood pressure.

Best home Remedies to control Blood Pressure. 

Diet – high blood pressure वाले इंसान को अपने diet में fruits, vegetables, whole grains इसका Intake बढा देना चाहिये । याने उन्हे अपने diet में fiber का intake बढा देना चाहिये । उनको Low Fat Diary Product Use करना चाहिये ।

Weight – आप अपना जो weight है उसे control में रखे क्योंकि बढते हुये जो वजन है उस बढते वजन के साथ जो Blood Pressure हैं वो भी बढना चालू हो जाता है ।

Exercise – आप रोज exercise करने की आदत डाल लें क्योंकि studies में पाया गया हैं कि 150 minutes per week exercise करने से जो blood pressure है वो 5 mmlg तक कम हो सकता हैं । तो आपको रोज exercise करने की habbit डालनी चाहिये पर आपको ध्यान ये रखना हैं exercise करने से पहले जो आपका B.P है वो normal range में होना चाहिये क्योकि exercise करने से भी blood pressure है वो बढ जाता है ।

तुरंत हाई बीपी कम करने के घरेलू उपाय 

Quit smoking – आप smoking को completely quit करें, क्योकि smoking Blood pressure को बढाने का कार्य करती हैं और धुम्रपान बंद करने के फायदे हैं जैसे की आप cancer से बचे रहेंगे बाकी Lungs को Injury कम होगी ।

Reduce Alcohol – आप alcohol के intake को Restrict करें । ज्यादा alcohol पिने से भी B.P. बढ जाता हैं । Hyper tension की Risk बढ जाती है ।

Vitamin D3 – इसके अलावा vit- D3 का भी Role Blood Pressure को कम करने में पाया गया हैं और इसके लिये Blood pressure वाले व्यक्ति को किसी अच्छी laboratory में जाकर Vit D3 के Levels हैं उन्हे check करना चाहिये । अगर ये Levels कम आते हैं तो व्यक्ति को किसी अच्छे doctor से Consult करना चाहिये ।

Yoga For High Blood Pressure. उच्च रक्तचाप के योग –

बालकासन – वज्रासन में बैठ जाये । फिर सांस लें और लंबी मुस्कान करें एवं सिर को Floor पर रख दें । आगे झुकते जाये । बगल में हाथो को रखे । हाथो का Position change भी कर सकते है । ऐसे position में 2-3 मिनट तक रहना है ।

सेतुबंधासन – पहले सीधे लेटे । दोनों पैरो को साथ में लेकर bend करें । साथ में सांस लेकर कमर को उपर उठाये । हाथ को बगल में रखे । फिर breathing करते रहें । धीरे -धीरे normal position में आयें ।

अपानासन – अब दोनों पैर को bend करें और पेट की तरफ लाये । दोनों हाथो से पैरो को Tight पकड के रखे । इस प्रक्रिया बार बार दोहराए ।

उच्च रक्तचाप के जोखिम क्या हो सकते हैं ?

High Blood pressure की रोकथाम करना बहुत ही जरूरी है । यदि समय पर कंट्रोल नहीं होने अनेको बीमारियों को न्यौता मिल सकता है । मस्तिष्क की रक्तवाहिनियों का ब्लॉक होना, दिल का दौरा पड़ना, दिल के रोग एवं किडनी का खराब होना आदि ।

अपनी बात – उच्च रक्तचाप का समय पर रोकथाम के लिए समय पर लक्षणों को पहचान कर डॉक्टर से परामर्श ले एवं खान पान के परहेज के साथ साथ योग व्यायाम करें एवं नशीले पदार्थों का सेवन से त्याग करें । तो उम्मीद करते है आज का टॉपिक उच्च रक्तचाप के कारण, लक्षण एवं उपाय । high blood pressure in hindi आपके लिए जरूर उपयोगी साबित हुआ होगा । आप अपने विचार हमारे कमेंट बॉक्स में लिखे । । अभिलाषा देशपांडे ।।

Read more posts

किडनी के शुरुआती लक्षण एवं उपाय । Symptoms of kidney disease

लिवर के कारण, लक्षण एवं उपचार । symptoms of liver disease