कार्डियोटोन कैप्सूल के फायदे, नुकसान, उपयोग एव प्राइस इन इंडिया

cardioton capsule uses in hindi.

कार्डियोटोन कैप्सूल के फायदे, बदलती हुए जीवन शैली के बीच हार्ट अटैक जैसे रोग व्यक्ति की लाइफ लाइन को बिगाड़ देते हैं । आज कल तो साइलेंट अटैक तेजी से देखने को मिल रहे हैं । एक्सपर्ट के अनुसार पिछले 2 – 3 सालो मे हार्ट अटैक के मामलो मे बढ़ोतरी हो रही है । जिसमे युवा वर्ग के लोग भी चपेट में आ रहे है । वही बिजी शेड्यूल के चलते उच्च कोलेस्ट्रोल, उच्च रक्तचाप के मामले भी बढ़ रहे है ।

ऐसे में इस खतरे को कम करने के मार्केट में अनेकों दवाए उपलब्ध है । उनमे से कार्डियोटोन कैप्सूल भी एक है । कार्डियोटोन कैप्सूल एक प्राकृतिक आयुर्वेदिक दवा है जो दिल के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने के लिए उपयोग की जाती है। यह कैप्सूल आमतौर पर दिल संबंधित समस्याओं जैसे कि हार्ट ब्लॉकेज, दिल की कमजोरी और उच्च रक्तचाप को कम करने के लिए इस्तेमाल की जाती है । तो चलिए जानते हैं – कार्डियोटोन कैप्सूल के फायदे, नुकसान, उपयोग के बारे में – cardioton capsule uses in hindi.

पढ़े – लिंग बढ़ाने की आयुर्वेदिक oil, tablet एव 5 देशी दवा

कार्डियोटोन कैप्सूल क्या है ?

कार्डियोटोन कैप्सूल एक आयुर्वेदिक औषधि है। जो बहुत कम समय उच्च रक्तचाप, दिल की विफलता और स्ट्रोक की संभावना से निपटने मे सहायक बनती है। साथ ही यह भविष्य मे दिल की विफलता कि संभावना को भी कम करती है। यह दिल तथा शरीर की सुरक्षा भी करता है । कार्डियोटोन रक्त वाहिकाओं के अतिभार को स्वाभाविक रुप से रोक सकता है।

कार्डियोटोन कैप्सूल एक प्राकृतिक आयुर्वेदिक प्रोडक्ट है जो दिल के स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है। यह कैप्सूल विभिन्न प्राकृतिक घटकों से बनाया जाता है जो दिल के लिए सहायक होते हैं। यह कैप्सूल मुख्य रूप से दिल संबंधी समस्याओं से निपटने और दिल के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद करता है।

कार्डियोटोन कैप्सूल के घटकों में कई प्राकृतिक चीजें शामिल होती हैं जैसे कि अर्जुन छाल, अश्वगंधा, लहसुन, गुग्गुल, अमला, टर्मेरिक, शंकपुष्पी, शिलाजीत और विभिन्न दूसरे जड़ी बूटियों का मिश्रण होता है। ये सभी घटक विभिन्न तरीकों से दिल के स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करते हैं।

पढ़े – हार्ट के लिए पतंजलि की दवा – 7 सबसे अच्छी दिल की दवा

कार्डियोटोन कैप्सूल के फायदे एव उपयोग –

कार्डियोटोन कैप्सूल का मुख्य उपयोग रक्तचाप को कम करना तथा दिल से संबंधित समस्याओं मे किया जाता है । इसके अलावा रक्त वाहिकाओं को साफ करने मे सर दर्द को ठीक करने मे दिल का दौरे को ठीक करने मे, उदासीनता को ठीक करने मे, शरीर मे विषाक्त पदार्थ को निकालने मे, ब्लड प्रेशर की समस्या को दूर करने मे दृष्टि मे कमी को दूर करने मे, अत्यधिक थकान को दूर करने मे, रक्त मे खराब कोलेस्ट्रॉल को निकालने मे आदी जैसी बीमारीयो व समस्या मे उपयोग किया जाता है ।

कार्डियोटोन कैप्सूल रक्तवाहिको को साफ करता है । जिससे ब्लड प्रेशर सामान्य करता है । वही यह हाई कॉलेस्ट्रोल को भी कम करता है । इनका नियमित रूप से सेवन करने से दिल को मजबूत होता है। इनके अलावा यह धुंधली नजर मे फायदेमंद है । वही शुगर जैसे रोग के लिए लाभकारी है ।

पढ़े – लिबिडेक्स कैप्सूल के फायदे, नुकसान एव उपयोग कैसे करें

कार्डियोटोन कैप्सूल के फायदे –

इस कैप्सूल का सेवन करने से बहुत सारे फायदे है । यह कैप्सूल साइलेंट हार्ट अटैक होने के भी चांस कम होते हैं । वही हार्ट ब्लॉकेज को भी रोकता है । इसके निम्नलिखित प्रमुख फायदे हो सकते हैं –

  1. दिल के स्वास्थ्य में सुधार – कार्डियटोन कैप्सूल के उपयोग से दिल के स्वास्थ्य में सुधार होता है, यह दिल की सामग्री चिंता को कम करता है और दिल की स्वास्थ्य में सुधार करता है।
  2. रक्तचाप नियंत्रण – कार्डियोटोन कैप्सूल का उपयोग रक्तचाप को नियंत्रित करने में मदद कर सकता है और हृदय संबंधित समस्याओं से बचाव करने में सहायक हो सकता है।
  3. प्राकृतिक तरीके से हृदय स्वास्थ्य को बनाए रखना – इसके प्राकृतिक घटक हृदय स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद कर सकते हैं।
  4. रक्त परिसंचरण में सुधार – कार्डियोटोन कैप्सूल के उपयोग से शरीर के रक्त परिसंचरण में सुधार हो सकता है जो दिल के स्वास्थ्य को बेहतर बनाए रखने में मददगार हो सकता है।
  5. तनाव कम करना – यह कैप्सूल आमतौर पर दिल के स्वास्थ्य के लिए नकारात्मक प्रभाव डालने वाले तनाव को कम करने में मदद करता है।

पढ़े – सुप्राडिन टेबलेट के फायदे, नुकसान एव उपयोग विधि

कार्डियोटोन कैप्सूल के नुकसान

इस कैप्सूल के सेवन से किसी प्रकार के दुष्प्रभाव नही मिले हालाकि आपको कार्डियोटोन कैप्सूल के सेवन से किसी तरह का नुकसान होता है तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करे । यदि आप सावधानी से सेवन करे तो नुकसान की संभावना कम हैं जैसे –

  • दवा की सलाहकार से पूरी जानकारी प्राप्त करना और दिशा निर्देश का पालन करना।
  • अपने डॉक्टर को यदि आप गर्भवती हैं, डिबीटीज़ की समस्या से पीड़ित हैं, या किसी अन्य दवाओं का सेवन कर रहे हैं तो सूचित करना।
  • निरंतर डॉक्टर के समर्थन और निरीक्षण के तहत ही इसे लेना या उपयोग करना।
  • किसी तरह की संभावित दुष्प्रभाव की सूचना दवा के पैकेट में दी गई हो तो तुरंत डॉक्टर से संपर्क करना।
  • खुराक और उपयोग की अवधि से ज्यादा संभावित फायदों के लिए नहीं होना चाहिए।

इस तरह से, कार्डियटोन कैप्सूल एक प्राकृतिक आयुर्वेदिक प्रोडक्ट है जो दिल के स्वास्थ्य को सुधारने में मदद कर सकता है। यह आपके डॉक्टर या आयुर्वेदिक चिकित्सक की मार्गदर्शन और समर्थन के साथ उपयोग करना चाहिए, और उसके साथ संबंधित दिशा निर्देश का पालन करना बहुत महत्वपूर्ण है।

पढ़े – धातु गाढ़ा करने की आयुर्वेदिक दवा पतंजलि – वीर्य पतलेपन की दवा

कार्डियोटोन कैप्सूल प्राइस इन इंडिया, खुराक एव सावधानियां –

इस कैप्सूल की भारत में कीमत की बात करे तो हम आपको बता की 2499 रुपये के आस पास है । इनका उपयोग भारत के अलावा नेपाल, तिब्बत, पाकिस्तान साहित कई देशो में किया जाता हैं ।
किसी भी खुराक की मरीज की उम्र, लिंग बीमारी लक्षण आदि कार को पर निर्भर करती है। कार्डियोटोन कैप्सूल की उचित खुराक के लिये डॉक्टर से परामर्श लिजिये।

  • सेवन की विधी – किसी भी दवा का सेवन करने के लिये सबसे पहले डॉक्टर से संपर्क करे। कार्डियोटोन कैप्सूल का सेवन दिन मे अधिकतम 2 बार कर सकते है।
  • सावधानियाँ – कार्डियोटोन कैप्सूल उपयोग करने से पहले लेबल को ध्यान से पढिये।
  • गर्भावती महिलाये इस कैप्सूल को सेवन करने से पहले डॉक्टर से सलाह लिजिये।
  • स्तनपान कराने वाली महिलाये भी दवा के सेवन से पहले डॉक्टर को इस संबंध मे सुचित करे।

इस कैप्सूल का उपयोग करने से पहले एक्सपायरी डेट देख लिजिये।
कभी भी अल्कोहोल के साथ इसका सेवन ना करे।
अगर इस कैप्सूल से आपको एलर्जी हो तो डॉक्टर को सूचित करे ।

अंतिम शब्द – यह एक आयुर्वेदिक उत्पाद है जिनका नियमित रूप से सेवन करना फायदेमंद है । यह ध्यान रखने की बात है कि योग्य डॉक्टर से अवश्य परामर्श करे । आज के लेख का उद्देश्य केवल शैक्षणिक है । सिर्फ सामान्य जानकारी के लिए लिखा गया है ।। अभिलाषा देशपांडे ।।