सुप्राडिन टेबलेट के फायदे, नुकसान एव उपयोग विधि

Supradyn tablet ke fayde.

सुप्राडिन टेबलेट के फायदे । यह एबॉट इंडिया द्वारा बनाई गई एक गोली है । यह विशेष रूप से प्रतिरक्षा, रक्त परिसंचरण, ऑक्सीजन, संतति में सुधार के निदान या उपचार के लिए प्रयोग किया जाता है । यह एलोपैथिक टेबलेट है जो मुख्य रूप से विटामिन की कमी को पूरा करने के लिए ली जाती है यह टेबलेट कृत्रिम रूप से तैयार किया गया मल्टीविटामिन फार्मूला है ।

सुप्राडिन एक सिंथेटिक पोषण पूरक है जिसमें मल्टी विटामिन और खनिज होते हैं । यह कई उद्देश्य को पूरा करता है क्योंकि इसका उपयोग विटामिन की कमी और गैस्ट्रिक की समस्याओं के इलाज के लिए किया जाता है । तो चलिए जानते हैं – सुप्राडिन टेबलेट के फायदे और नुकसान के बारे में – Supradyn tablet ke fayde.

पढ़े – आश्वाशक्ति पाउडर के फायदे । Ashwashakti powder ke fayde.

सुप्राडिन टैबलेट कैसे काम करता है –

सुप्राडिन टेबलेट हमारे शरीर को कैल्शियम व विटामिन और मिनरल की आवश्यकता होती है । हमें ऊर्जावान और उत्साहित रखने के लिए संक्रमण को रोकने में सुप्राडिन टेबलेट मदद करती है । जैसे विटामिन विटामिन बी1, बी12, सी, डी 3 आदि स्कर्वी और एनीमिया जैसी स्थिति की रोकथाम और उपचार में सुप्राडिन टेबलेट ली जाती है ।

कैल्शियम, जस्ता, लोहा सहित इस दवा में मौजूद खनिज तंत्र हड्डी और रक्त कोशिकाओं मजबूत बनाने में सहायक होती हैं । सुप्राडिन टैबलेट, खनिज और, ट्रेस तत्वों के साथ एक मल्टीविटामिन टेबलेट है । इसमें अन्य तत्व जैसे – 11 विटामिन, ए, बी1, बी2, बी3, बी5, बी6, बी7, बी12, सी, डी 3 और ई शामिल हैं । इनमें 5 मिनरल शामिल है जैसे मौगनीज, आयरन, कैल्शियम, फास्फोरस और मैग्नीशियम इसमें 4 ट्रेस ऐलिमेंट तत्व पाये जाते हैं।

पढ़े – पतंजलि पेनिस तेल । Patanjali lingvardhak oil.

सुप्राडिन टेबलेट के फायदे – Supradyn tablet ke fayde.

सुप्राडिन टैबलेट एक विटामिन एवं मिनरल और बहुत से फायदेमंद तत्व है जो हमारे शरीर के लिए बहुत लाभकारी हैं । इस टेबलेट का इस्तेमाल के बहुत फायदे है। यह शरीर में विटामिन और मिनरल की कमी को दूर करता है । वही बॉडी में मेटबोलाइजिंग, कार्बोहाइड्रेट के विकास को सामान्य बनाए रखता है ।

पढ़े – डाबर शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल के फायदे । Dabur shilajit gold capsule.

सुप्राडिन टैबलेट गंभीर रोगो के फायदे –

यह टेबलेट लीवर और शरीर के गंभीर रोगों से भी बहुत फायदा करती है लेकिन डॉक्टर की सलाह अनुसार ही हमें यह दवाई दी जाती है ।

सुप्राडिन टेबलेट पाचन संबंधी रोगों से भी हमें बहुत फायदेमंद साबित हुई है लेकिन हमारे शरीर में अपच कब्ज जैसी बीमारी को भी दूर करती है ।

सुप्राडिन टेबलेट से मांसपेशियों की ऐंठन दूर होती है काम के बाद थकान दूर होती है किसी प्रकार की बीमारी से होने वाली कमजोरी भी दूर होती है ।

विटामिन बी12 की टेबलेट के रूप में सुप्राडिन के फायदे –

यह विटामिन B12 की कमी को पुरा करने के लिए लाभकारी टैबलेट है । इनका नियमित रूप से सेवन करने पर Vitamin B12 की कमी दूर होती हैं । इसमे मौजूद विभिन्न प्रकार के विटामिन एव मिनरल्स आवश्यक पोषक तत्वों की कमी को पुरा करने मे सहायक है ।

Vitamin B12 शरीर मे उपस्थित आवश्यक तत्वों मे से एक हैं । इनकी कमी या लेवल कम होने से शरीर खोखला हो जाता हैं । केवल हड्डियों का ढाँचा बन जाता हैं । अधिक जानकारी के लिए हमारा पिछला लेख पढ़े ।

सुप्राडिन टेबलेट के स्कीम व बालो के लिए फायदे

यह त्वचा संबंधी संक्रमण से बचाने के लिए भी बहुत फायदे हैं । यह वसा के श्र्वसन और चयापचय में ऊत्तक की मदद से प्रोटीन एल डी एल के, संश्लेषण को बाधित कर के रक्त कोलेस्ट्रोल को कम करता है ।

इसी प्रकार यदि आपके बाल सफेद हो रहे हैं तो सुप्राडिन टेबलेट का इस्तेमाल करने से आपके बालों को पूर्ण पोषण मिलता है और यह दूसरे बालों को सफेद होने से रोकती है ।

सुप्राडिन टेबलेट के आँखों के लिए फायदेमंद –

यह टेबलेट आंखों की समस्या या छाती के दर्द की समस्या और हमारे रक्तचाप का बढ़ना जैसी समस्या से छुटकारा दिलाने में मदद करता है इसके साथ ही शरीर में विटामिन डी की कमी को पूरा करता है हमारे ह्रदय की परेशानी को कम करता है दिल का दौरा पड़ने वाली समस्या से भी छुटकारा दिलाने में मदद करता है ।

पढ़े – सिल्डेनफ़िल के फायदे नुकसान । Sildenafil tablet uses in hindi.

सुप्राडिन टेबलेट के अन्य फायदे –

यह एक बहू खनिज विटामिन कंपलेक्स है । जिनका सेवन से शरीर में होने वाले तनाव और थकान को दूर एवं शरीर को स्फूर्ति मिलती है ।

शरीर में होने वाले कई प्रकार के रोग जैसे खाज खुजली चर्म रोग इस टैबलेट के लेने से रोगों से लड़ने की क्षमता मिलती है ।

यदि आप पतले हैं और सुप्राडिन टेबलेट का इस्तेमाल करते हैं। तो आपको डॉक्टर की सलाह से सुप्राडिन टेबलेट ले जो शरीर को मजबूत बनाती है ।

सुप्राडिन टेबलेट को डैली लेने से दर्द भी कम होता है।
यह टेबलेट हमारे लिए बहुत ही पॉपुलर साबित हुई जो विदेश में भी इसकी बहुत डिमांड है ।

सुप्राडिन टेबलेट का उपयोग एव लेने का तरीका –

यह टैबलेट खासतौर पर प्रतिरक्षा और रक्त परिसंचरण में सुधार के लिए काम में ली जाती है लेकिन इसके कई उपयोग और भी हैं जिसमें हम इस टेबलेट को काम में ले सकते हैं जैसे –

  • स्किन एव हेयर प्रॉब्लम के लिए,
  • इम्मूंटी बूस्ट के लिए,
  • विटामिन ए व विटामिन बी12 के लेवल के लिए,
  • विटामिन डी की पूर्ति के लिए,
  • हड्डियों व माशपेशियों को मजबूत बनाने के लिए इनका उपयोग किया जाता है ।

सुप्राडिन टैबलेट अधिक मात्रा में लेने से क्या होता हैं –

इनकी ओवरडोज होने पर कुछ साइड इफ़ेक्ट्स नजर आ सकते है जैसे – सरदर्द, पेट मे मरोड़े, गैस, कब्ज एव एलर्जी आदि की शिकायत हो सकती है । इस टेबलेट का अधिक मात्रा में सेवन करने से चिंताएं बढ़ जाती है और ह्रदय की गति तेज तेज चलने लगती है । अगर आपको इस दवा से ऐसा कुछ भी विदित होता है तो आप तुरंत डॉक्टर की सलाह लें और अपने शरीर को आराम तो ।

डायबिटीज के मरीजों को ब्लड एंव यूरीन टेस्ट करवाते समय सुप्राडिन टेबलेट नहीं लेनी चाहिए, क्योंकि डायबिटीज परिणाम गलत भी आ सकते हैं ।

अंगों पर प्रभाव – लिवर और किडनी की समस्या वाले रोगी तो किसी भी नुकसान को रोकने के लिए डॉक्टर की सलाह के बाद ही सुप्राडिन का सेवन करना चाहिए नहीं तो लीवर और किडनी पे साईड इफेक्ट हो सकता है ।

सुप्राडिन टेबलेट से सावधानी –

इस टेबलेट में मौजूद आयरन कई बार हमारे कब्ज और पेट के असंतुलन का कारण भी बनते हैं ।

डायबिटीज के मरीज को यह टेबलेट लेने से पहले डॉक्टर की सलाह जरूर ले, नहीं तो इस टेबलेट का साइड इफेक्ट हो सकता है ।

यह टेबलेट का यूं ही इस्तेमाल करते हैं तो हमें उल्टी और पेट में जलन जैसी समस्या हो सकती है तथा हमारे शरीर में दूसरी समस्याएं भी पैदा हो सकती है । जिसे भूख नहीं लगना, सिर में दर्द होना । यह सब लक्षण टेबलेट के साईड इफेक्ट होते हैं ।

कई बार शरीर में व सिर में भारी होता है । पेट का साफ ना होना पेशाब का पीला आना प्यास नहीं लगना यह सब इसी टैबलेट से हो सकती है । इसमें मौजूद लोह तत्व के कारण यह हमारे दांतो का रंग भी थोड़ा सा बदल देती है जो हमें स्पष्ट दिखाई देता है ।

सुप्राडिन टैबलेट के नुकसान

वैसे तो हम डॉक्टर की सलाह के टेबलेट लेते हैं तो कोई साइड इफेक्ट नहीं होता है लेकिन कुछ सच में ऐसे हैं जिससे साइड इफेक्ट या नुकसान हो सकता है जैसे –

  • उल्टी – कभी-कभी किसी बीमारी के चलते इस गोली से हमें उल्टियां भी हो सकती है ।
  • त्वचा में जलन – गोली के सेवन के बाद शरीर में खुजली आना, जलन होना शुरू हो जाती है जिससे बेचैनी बढ़ जाती है । पेट में दर्द की प्रॉब्लम भी हो सकती है ।
  • चक्कर आना – कभी-कभी हम भूखे पेट गोली ले लेते हैं तो भी चक्कर आने लगते हैं और सिर घूमने लगता है।
  • सांस लेने में दिक्कत – जिसे सांस की प्रॉब्लम होऔर उसने टेबलेट ली है तो भी कभी कभी घबराहट बेचैनी से सांस लेने में तकलीफ हो जाती है ।
  • त्वचा पर लाल चकते पड़ना – कभी-कभी गोली के साइड इफेक्ट से शरीर पर लाल लाल दापड़ जैसे चकते पड़ जाते हैं । जिससे कभी-कभी हीव्स पे भी खुजली शुरू हो जाती है ।
  • भूरा और काला मल होना – कभी कभी गोली से हमें कब्जी की शिकायत हो जाती है । जिससे गोली की वजह से मल का कलर भी चेंज हो जाता है । पेट में मल जमा होने के कारण कब्जी अधिक हो जाना, अर्थात मलका सूख जाना जिससे उसका कलर काला हो जाता है ।
  • त्वचा की खुजली – सुप्राडिन टेबलेट लेने के बाद शरीर में खुजली सी होने लगती है । जो कुछ समय तक कंटिन्यू चलती रहती है जिससे हमें परेशानियां होती है ।
  • वजन बढ़ना – सुप्राडिन टेबलेट से किसी का वजन भी बढ़ जाता है । क्योंकि सभी की बॉडी एक जैसा मूवमेंट नहीं करती है ।

अन्य दवाओं के साथ सुप्राडिन टेबलेट –

यदि हम अन्य बीमारियों की दवा ले रहे हैं तो उसके साथ हमें सुप्राडिन नहीं लेना है उसका असर पड़ता है मायोकार्डी अल इन्फ्राक्शन हो सकता है ।

  • शराब के साथ सुप्राडिन ना ले – चना के साथ सुप्राडिन हम लेते हैं तो साइड इफेक्ट अधिक हो सकता है ।इसलिए शराब के साथ थोड़े समय का अंतराल अवश्य रखें ।
  • सूजन – सुप्राडिन टेबलेट से पलकों पर चेहरे पर होटो पे सूजन आ जाती है । यदि आपको इस प्रकार के लक्षण दिखाई दे तो तुरंत अपने डॉक्टर की सलाह ले ।
  • डायरिया – कभी-कभी सुखरानी टेबलेट से उल्टी दस्त होना जी मिचलाना जैसी शिकायत हो जाती है । तो दोस्तों आप यह गोली लेने से पहले अपने डॉक्टर से सलाह अवश्य ले हैं किसी के कहे मुताबिक दवा का सेवन नहीं करें।
  • दांतों का रंग खराब होना – इस टेबलेट के सेवन से दातों का रंग भी बदल जाता है कुछ पीले स दिखाई देते हैं ।
  • सुप्राडिन मासिक धर्म पर प्रभाव – इस टेबलेट मासिक धर्म को प्रभावित करती है यह टेबलेट लेने से रक्त स्त्राव ज्यादा हो सकता है जिससे हमें कमजोरी महसूस हो सकती चक्कर आ सकते हैं ।

निष्कर्ष – दोस्तों सारांश में हम यही कह सकते हैं कि सुप्राडिन टेबलेट बहुत फायदेमंद टेबलेट है । जिससे हमें विटामिन, मिनरल्स और विभिन्न प्रकार के पोषक तत्व मिलते हैं । और ये हमें कमसे कम दामों में मिल जाती है ।
हर दवा के फायदे हैं तो नुकसान भी इसीलिए हमें डॉक्टर के परामर्श से दवा लेनी चाहिए शरीर के लिए सुप्रालैंड टेबलेट बहुत ही बेहतरीन टेबलेट हैं ।