शादी के कितने दिन पहले ब्लीच करना चाहिए ? जाने फायदे नुकसान

Bleach kab karna chahiye.

शादी के कितने दिन पहले ब्लीच करना चाहिए । विवाह एक सुनहरा अवसर होता है चाहे वह लड़का हो या लड़की इसलिए हर कोई इस अवसर पर सुंदर दिखना चाहता है। वैसे तो चेहरे की अपनी प्राकृतिक बनावट होती है । लेकिन हर कोई चाहता है की उसकी त्वचा सुंदर और चमकीली दिखे ताकि वह आकर्षण का केंद्र बन सके।

हर किसी व्यक्ति की यह इच्छा रहती है चाहे वह स्त्री हो या पुरुष चेहरे की रौनक हर उम्र में बनी रहे इसके लिए चेहरे को खूबसूरती देने के लिए ब्लीच करना जरूरी है ताकि चेहरे के दाग धब्बे हट सके।

क्योंकि यह अवसर अधिक व्यस्तता भरी होती है इसलिए जरूरी है की कुछ दिन पहले ब्लीच करा ले ताकि चेहरे पर दाग धब्बे मुंहासे इत्यादि को हटाया जा सके ताकि आपकी खूबसूरती बरकरार रहे। तो चलिए जानते हैं – ब्लीच कब करना चाहिए –

पढ़े – गोरा होने की क्रीम पतंजलि – सबसे अच्छी 5 आयुर्वेदिक क्रीम

ब्लीच क्या है ?

ब्लीच एक ऐसी व्यवस्था है जो चेहरे एव बालों की अच्छी तरह से क्लीनिंग करती है । इस पद्धति मे विभिन्न प्रकार के केमिकल, कॉस्मेस्टिक पदार्थो का उपयोग किया जाता है । ब्लीच करने से फेस की रौनक़ बढ़ती है । फेस से कील मुहासे एव डेड स्किन से निजात मिलती हैं ।

आमतौर पर ब्लीच शादी से पहले किया जाता हैं । या फिर किसी फ़क्शन मे जाने से पूर्व किया जाता है ।
लेकिन ध्यान दें की अगर आप किसी एक्सपर्ट ब्यूटीशियन से ही ब्लीच करवाएं वह त्वचा के लिए बहुत योगी निर्देश देंगे जिसका पालन करने से त्वचा में किसी तरह की कोई साइड इफेक्ट नहीं पड़ेगी । हालांकि ब्लीच करने से कुछ साइड इफ़ेक्ट्स भी होते हैं ।

पढ़े – सरसो के तेल से बच्चे को गोरा करने का तरीका – फायदे ओर नुकसान

शादी के कितने दिन पहले ब्लीच करना चाहिए ?

आमतौर पर अपने फेस व हेयर की रौनक़ बढ़ाने के लिए ब्लीच करवाया जाता है । क्योंकि फेस पर से कील मुंहासे और दाग धब्बे को हटाकर सॉफ्ट बनाना होता है । जो चेहरे की खूबसूरती में यह बेवजह की रूकावट डालते है । एक्सपर्ट के अनुसार शादी के 15 दिन पहले ब्लीच करवाना एक बेहतर विकल्प हो सकता है । कारण यह है कि ब्लीच के साइड इफेक्ट से चेहरे में किसी तरह की अगर गड़बरी दिखे तो यह अवसर हो कि इसे सुधार किया जा सके।

यह अवश्य ध्यान रखें कि ब्रिज करवाने से पहले उसे अपने शरीर के किसी दूसरी त्वचा में लगाकर उसको जांच लें ताकि इसका कोई साइड इफेक्ट ना हो अगर दाग धब्बे और जगते हो रहे हो या फिर लाल दाग हो रहे हो तो फिर प्लीज ना करवाएं क्योंकि यह एलर्जी का भी जरिया बनता है। हां अगर शरीर में किसी तरह की कोई साइड इफेक्ट ना देखें तो ब्लीच करवाने में कोई रुकावट नहीं है।

पढ़े – गोरा होने के 10 बेस्ट फेसवाश – Face wash for oily skin.

शादी के कितने दिन पहले ब्लीच करवाने के  टिप्स –

स्किन को हेल्थी, ताजगी और चमकीले बनाने के लिए पानी की मात्रा को बढ़ाते रहे हैं । कम पानी पीने से त्वचा पर इफेक्ट दिखने लगते हैं इसीलिए पानी भरपूर मात्रा में लें दिन में 8 से 10 गिलास पानी अवश्य किए ताकि आपके पूरे शरीर की हर अंग को फायदा मिल सके।

इस के अलावे खानपान में भी कुछ बदलाव लाने होंगे । पौष्टिक आहार के तौर पर हरी पत्तेदार सब्जियों का भरपूर मात्रा में इस्तेमाल करें जो त्वचा के लिए बहुत ही फायदेमंद होते हैं । पालक में विटामिन ट्वेल्थ रहती है । इसलिए यह त्वचा के लिए बहुत फायदेमंद है । हरी सब्जियां और सलाद का दिन में खाने के तौर पर इस्तेमाल करे।

थोड़ी मात्रा हल्दी में थोड़ा सा दूध मिलाकर इसे पेस्ट बनाकर चेहरे पर लगाएं। कुछ ही दिनों में चेहरे की रंगत बदल जाती है । हल्दी ना सिर्फ लगाने में बल्कि यह खाने का भी बहुत अच्छा स्रोत है जो शरीर में बहुत सारे फायदे देते हैं।

त्वचा की रंगत सदा के लिए बनी रहे इसलिए बिना वजह किसी अन्य की राय न लें और टिप्स का भी इस्तेमाल ना किया करें जिसके बारे में पूर्ण जानकारी ना हो इसीलिए एक्सपर्ट के हिसाब से त्वचा की रंगत में बदलाव कैसे ली जाए उन्हीं से संपर्क करें ताकि सही दिशा निर्देश दे सकें ब्लीच तो बहुत अच्छा माध्यम है ही जो चेहरे की और त्वचा की देखभाल में फायदेमंद है।

पढ़े – औजार मोटा करने की दवा घरेलु उपाय – लंबा करने के 7 नुस्खे

ब्लीच करने के फायदे –

हमेशा किसी अच्छे ब्यूटीशियन से ब्लीच करवाएं। और साथ ही अच्छे ब्यूटी प्रोडक्ट का इस्तेमाल करें ताकि चेहरे पर किसी तरह का दुष्प्रभाव ना पड़े क्योंकि त्वचा शरीर के सबसे अति संवेदनशील अंग होते हैं। वैसे अक्सर यह प्रयास करें की बहुत ज्यादा मात्रा में या जल्दी-जल्दी ब्लीच ना करवाएं इससे चेहरे पर कुछ गंभीर प्रभाव आ सकते हैं।

  • सनटैन के लिए – सूर्य के प्रकाश में कुछ ऐसे हानिकारक तत्व होते हैं जो त्वचा की रंगों को नुकसान करती है इसमें त्वचा की टैनिंग को दूर करने के लिए प्लीज कर किया जा सकता है। क्योंकि प्लीज एक ऐसा केमिकल है जिसे उसके लाइटिंग और व्हाइटनिंग प्रभाव के लिए जाना जाता है इसलिए। इसलिए इसका इस्तेमाल अक्सर लोग त्वचा की रंगत निखारने के लिए करते हैं।
  • ग्लोइंग स्किन – एक्सपर्ट के अनुसार फेस स्किन पर ग्लो को बरकरार रखने के लिए ब्लीच करवाएं इससे ना सिर्फ चेहरे की चमक बनी रहती है साथ ही पूर्व की तरह चेहरे हो जाते हैं। वैसे तो चेहरे की रंगत और बनावट प्राकृतिक होती है लेकिन रंगत में बदलाव के लिए ब्लीच करने की ब्यूटीशियन सलाह देते हैं । लेकिन इसके बार-बार के इस्तेमाल से चेहरे की ऊपरी त्वचा पतली होती चली जाती हैं जो बाद में बदसूरती का कारण बनती है
  • दाग धब्बे को कम करना – चेहरे पर हुए काले धब्बे और मुहांसों को हटाने के लिए ब्लीच का इस्तेमाल किया जाता है ब्लीच से मेलेनिन प्रोडक्ट को कम करके धब्बों को साफ करने में आसानी होती है। लेकिन इस बात का भी ख्याल रखें की ब्लीच ज्यादा ना करवाएं। कुछ खास ऐसे अवसर जो सामाजिक समारोह से जुड़ी हुई हो और शादी विवाह के परपस से ब्लीच का इस्तेमाल यदा-कदा व्यक्ति कर सकता है लेकिन इसका आदि ना बने।

चेहरे के बाल छुड़वाने के लिए ब्लीच करने के फायदे –

अनावश्यक रूप से ऐसे बाल चेहरे पर रुक जाते हैं जो चेहरे को बदसूरती का रूप दे देती है । बाल चेहरे की रंगत को गहरी करने लगती है इसीलिए ब्लीच करवाने की आवश्यकता होती है। अनावश्यक बालों को चेहरे से दूर करने के लिए ब्लीच करना आवश्यक हो जाता है इसलिए इन परिस्थितियों में ब्लीच करने की व्यवस्था व्यक्ति की हो जाती है।

एक बात ध्यान रखें ब्लीच करने से पहले चेहरे की फेस वॉश से सफाई अवश्य करें तभी ब्लीच फायदेमंद होगी। क्योंकि चेहरे में बाहरी अपशिष्ट ओं का चेहरे पर जमावड़ा हो जाता है जिसके कारण चेहरा काला दिखने लगता है इन परिस्थिति में ब्लीच के द्वारा चेहरे की सफाई हो जाती है।

ब्लीच पैकेट और पाउच के साथ-साथ ट्यूब में भी होती है अगर इस पैकेट में क्रीम की पैकेट हो तो उसे हल्के हाथों से चेहरे पर मसाज करें।

ब्लीच को चेहरे पर 10 से 15 मिनट तक लगाकर रखें इसके उपरांत गीले कपड़े से कुछ मिनटों के बाद चेहरा साफ करके पोछ लें और फिर ठंडे पानी से चेहरे की सफाई करें।

ब्लीच करने के नुकसान –

चेहरे की रंगत बदलने के लिए ब्लीच करना फायदेमंद है लेकिन साथ ही इसके कुछ नुकसान भी हैं जैसे –

  • बार-बार ब्लीच करने के बाद अगर त्वचा पर जलन हो रही हो तो इसे ना लगाएं।
  • अगर त्वचा संवेदनशील हैं तो इसकी त्वचा में रंग परिवर्तन हो सकता है अर्थात त्वचा लाल रंग में बदल सकता है। कोशिश करें कि बिना वजह ब्लीच ना करवाएं।
  • त्वचा की ऊपरी परत ब्लीच बार बार करने से पतली हो जाती है। साथ ही स्किन कैंसर की भी खतरा रहता ‌है।
  • मोतियाबिंद की समस्या भी हो सकती है।
  • चेहरे में यानी की त्वचा पर सूजन की समस्या हो सकती है।
  • ब्लीच करने समय अगर कोई भी केमिकल मुंह के अंदर चला जाए तो थायराइड, ल्यूकेमिया, लीवर की समस्या उत्पन्न हो जाती है।
  • ब्लीच का असर आंखों पर भी पड़ सकता है । आंखों में चिरमिराहट और जलन की समस्या हो सकती है इसके साथ ही आंखें लाल होने लगती है।

इसलिए जाहिर सी बात है । ब्लीच करवाने की फायदे और नुकसान दोनों हैं । हालांकि चेहरे की रंगत पूरी तरह बदल जाती है लेकिन कुछ फायदे के साथ-साथ नुकसान भी है यथा संभव हो तो जितना कम हो सके उतना ब्लीच करवाएं और करवाने के दौरान निर्देशित टिप्स का पालन जरूर करें।