फोड़ा फुंसी सुखाने की टेबलेट, दवा, cream एव घरेलु उपाय

Foda funsi sukhane ki tablet.

फोड़ा फुंसी सुखाने की टेबलेट । फोड़े फुंसी हमारी स्किन पर होने फफोले होते है जो हमे थोड़ी थोड़ी परेशानी देते हैं । यानी ज्यादा कोई दिक्क़त नहीं होती है लेकिन रूप को कुरूप बना देते हैं । लेकिन जब यह ज्यादा दिनों तक भी ठीक नही होते हैं तो आफत आ जाती हैं । इन फोड़े के चारो तरफ स्किन लाल पड़ जाती हैं । वही इसमे सफ़ेद रंग का मवाद भी निकलता है । ये फोड़े फुंसी कही भी हो सकते हैं जैसे बगल मे, गुप्तांगो मे या फिर चेहरे पर भी ।

डॉक्टर्स के अनुसार यह एक प्रकार का इंफेक्शन है जो हमारी इम्युनिटी की विरुद्ध प्रतिक्रिया का परिणाम है । वही गलत खानपान या अधिक तैलिय पदार्थ का सेवन करने के कारण भी होता हैं । यह पिम्पलस के प्रतिरुप मे होती है । दूसरा कारण स्किन का सही देखभाल न करने के कारण भी फोड़े फुंसी भी हो सकते हैं । इनकी जाँच करने के लिए ब्लड टेस्ट आदि की जाती हैं तो चलिए जानते हैं – फोड़े  फुंसी सुखाने की दवा के बारे में –

पढ़े – औजार मोटा करने की दवा घरेलु उपाय – लंबा करने के 7 नुस्खे

फोड़े फुंसी के लक्षण –

यह एक दर्दनाक स्थिति होती है जो ज्यादातर बैक्ट्रीरियल संक्रमण के कारण होती हैं । जिन पर खुजली, जलन, दर्द, सूजन एव लालिमा होती है । जब यह फुटता है तो उनमे से सफ़ेद रंग का मावाद निकलता है । यदि इनका समय पर ट्रीटमेंट नही किया जाए तो इसमे कीड़े पड़ने की संभावना भी बढ़ सकती हैं । इनके लक्षण इस प्रकार से है –

  • पसीना आना,
  • स्किन लाल होना,
  • खुजली पर होना,
  • स्किन पर सूजन व घाव होना,
  • स्किन पर गांठ होना,
  • स्किन पर फोड़े से मवाद निकलना,
  • बुखार आना,
  • दर्द का आभास होना आदि ।

असल में फोड़ा फुंसी एक स्किन पर गांठ के रूप मे होने वाला उभार हैं । जिसमे से द्रव पदार्थ निकलता है । जिससे एंटीबायोटिक दवाओं का सेवन करके बचा जा सकता है ।

पढ़े – बाल उगाने की अंग्रेजी दवा, टेबलेट एव 5 घरेलु उपाय

फोड़ा फुंसी सुखाने की टेबलेट –

जब त्वचा पर फोड़े फुंसी होते है तो सामान्य रूप से उस जगह पर स्किन लाल होती हैं । साथ ही उस स्थान पर दर्द भी होता हैं । इनके लिए एंटीबायोटिक दवाई काफी असरदार होती है । हालांकि मरीज की स्थिति, लिंग व आयु के आधार पर अलग अलग दवाओं का उपयोग किया जाता है । इनके लिए आवश्यक है कि एक बार डॉक्टर से अवश्य परामर्श करे –

ऐल्थ्रोसिन 500 टैबलेट – यह विभिन्न प्रकार के संक्रमण जैसे आँख, कान, नाक, फेफड़े के संक्रमण को रोकने के लिए उपयोग मे ली जाती हैं । यदि फोड़े फुंसी का इन्फेक्शन ज्यादा है तो क्लिंडैमिसिन (क्लेकिसिन), सल्फामाइथॉक्सासोल / त्रिमेथोपैम (बैक्ट्रीम), सेफ़ेलेक्सिन (केफ्लक्स), मुपिरोसिन (बैक्ट्रोबैन), डॉक्सिस्कीलाइन (डोरिक्स) या वैनोकॉमीन (वन्गासिन) का उपयोग किया जा सकता है ।

पढ़े – लायब्रिडो टेबलेट के फायदे नुकसान व उपयोग विधि

फोड़ा फुंसी सुखाने की टेबलेट व क्रीम –

फोड़े और फुंसी (ब्लिस्टर और पिंपल्स) को सुखाने के लिए कई दवाएं और उपाय उपलब्ध हैं। यहां कुछ आम दवाओं का नाम और उपयोग विधि दी गई है –

  • एटीबायोटिक क्रीम – यह क्रीम फोड़े और फुंसी में इन्फेक्शन को कम करने में मदद करती है। आप मेट्रोनिडाज़ोल, एक्लाइन सल्फेट, आदि जैसी अंटीबायोटिक क्रीम का उपयोग कर सकते हैं। इन क्रीमों को आपके चिकित्सक द्वारा सलाहित किया जाना चाहिए।
  • एंटीफंगल क्रीम – यदि फोड़े और फुंसी के कारण रोगी को कंधाक्रुद (फंगल इन्फेक्शन) हुआ है, तो एंटीफंगल क्रीम का उपयोग किया जा सकता है। अगर आपको अथलीट्स फुट, योनिनिया, या किसी अन्य त्वचा संक्रमण के संकेत हैं, तो क्रीम जैसे की टेरबिनाफाइन, क्लोट्रिमाजोल, आदि का उपयोग करें।
  • ड्राईंग लोशन – सुगन्धित एल्कोहल पर आधारित ड्राइंग लोशन रोगी की स्थिति को सुखा और सुखाने के लिए उपयोग हो सकता है। यह फोड़े और फुंसी को सूखने का असरदार उपाय हो सकता है।

फोड़े फुंसी सुखाने की होमियोपैथिक दवा –

होमियोपैथिक दवाएं भी फोड़े और फुंसी सुखाने में मदद कर सकती हैं। आप सुल्फर, हेपार सल्फ, हेपार सल्फुरिक, एपीसे रेशिया, आदि जैसी दवाओं का उपयोग कर सकते हैं। लेकिन होमियोपैथिक दवाओं का उपयोग करने से पहले डॉक्टर से सलाह लेना अच्छा रहेगा।

यह थे कुछ आम दवाएं और उपयोग विधि। हालांकि, आपकी स्थिति पर निर्भर करके आपके चिकित्सक द्वारा और उपाय भी सलाहित किए जा सकते हैं। इसलिए अपने चिकित्सक से राय लेने से पहले दवाओं का उचित इस्तेमाल करें।

फोड़ा फुंसी सुखाने की cream –

फोड़ा फुंसी सुखाने के लिए कुछ दवाएं हैं, जिनका उपयोग आप कर सकते हैं। यहाँ कुछ दवाओं के नाम और उपयोग विधि दी गई है:

  • टपफ्लॉ क्रीम – इसे फोड़े से आफत और सुखाने के लिए प्रयोग किया जा सकता है। सुबह और शाम को विकसित क्षेत्र पर हल्की मालिश करें।
  • मैटरी क्रीम – यह क्रीम भी फोड़े सुखाने के लिए उपयोगी हो सकती है। फोड़े को आस्था की दिशा में अपनाकर इस क्रीम को लगाएं।
  • त्रपिदी सादा तेल – ट्रपिदी सादा तेल भी खाद्य विभाग में उपलब्ध होता है और यह भी एक अच्छी सुखाने की दवा है। इसे फोड़े पर छोटे-छोटे चक्कर बनाएं । फोड़ा फंसी को सुखाने के लिए क्रीम के रूप में कई विकल्प हो सकते हैं, जैसे कि –

1. क्लोट्रिमाज़ोल (Clotrimazole) क्रीम,
2. मिकोनाज़ोल (Miconazole) क्रीम,
3. टर्बिनाफ़ाइन (Terbinafine) क्रीम,
4. बुटेनाफाइन (Butenafine) क्रीम,
5. नाफ्टिफीन (Naftifine) क्रीम,
6. टोलनाफ़्टेट (Tolnaftate) क्रीम,

कृपया ध्यान दें कि यह सिफारिशें केवल सामान्य दर्शन द्वारा हैं और सर्वप्रथम एक चिकित्सक या पेशेवर की सलाह लें, विशेष रूप से यदि आपका समस्या गंभीर है या बढ़ रही है।

इस लेख मे उपलब्ध कराई गई जानकारी केवल शैक्षणिक है । इनका उपयोग करने से पहले योग्य डॉक्टर से परामर्श करें ।

प्राइवेट पार्ट में फोड़ा फुंसी सुखाने की टेबलेट व क्रीम –

तुरंत सलाह के लिए चिकित्सक से परामर्श करें। इसके बावजूद, कुछ फोड़ा फंसी सुखाने के लिए इस्तेमाल किए जाने वाले एलोपैथिक दवाओं में शामिल हो सकते हैं:

  • आइबुप्रोफेन (Ibuprofen): निचले दर्द को कम करने और सूजन को कम करने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।
  • सलिसिलिक एसिड (Salicylic acid): अनचाहे त्वचा को स्लफ पुर्वक हटाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।
  • बेंजोइक एसिड (Benzoyl Peroxide): त्वचा की सतही बैक्टीरिया को मरने के लिए और पुराने कोमल फोड़ों को सुखाने के लिए इस्तेमाल किया जाता है।
  • एंटीबायोटिक ऑइंटमेंट (Antibiotic ointment): इस्तेमाल होता है यदि फोड़ा फंसी संक्रमणजनक हो तो।
  • स्टेरॉयड क्रीम या ग्रीस (Steroid cream or gel): इस्तेमाल होता है फोड़ा फंसी के लिए जो अत्यधिक सूजन या खुजली के लिए जरूरी हो।

फिर भी, आपको यह हमेशा याद दिलाना चाहिए कि आयुर्वेदिक दवाएं और होमियोपैथिक दवाएं भी फोड़ा फंसी के उपचार में मददगार हो सकती हैं और आपके स्वास्थ्य के लिए अधिक लाभकारी हो सकती हैं। इसलिए, चिकित्साक को अपने विचार के बारे में बताेएँ और उनके साथ सहयोग करें ताकि आपको सबसे अच्छी दवा और उपचार प्रदान किया जा सके।

पढ़े – अंडकोष मे पानी सुखाने की दवा – हाईड्रोसिल की टेबलेट

फोड़े फुंसी सुखाने के घरेलू उपाय –

स्किन पर होने वाले फोड़े फुंसी या बालतोड़ के उपचार के लिए न केवल दवा, टेबलेट या cream का उपयोग किया जाता है बल्कि कुछ घरेलु उपाय भी है । जिससे आप अपने घर पर भी कर सकते है तो चलिए जानते हैं – बालतोड़ का घरेलु उपाय –

  • नीम के पत्ते: एंटीबैक्टीरियल गुणों के कारण, नीम के पत्ते फोड़े फुंसी को ठीक करने में मदद कर सकते हैं। रात में नीम के पत्ते को थोड़े से पानी के साथ पीस लें और फोड़े फुंसी पर लगाएं। सुबह इसे धो लें।
  • तुलसी की पत्ती: तुलसी में गंदगी और बैक्टीरिया को मारने वाले गुण पाए जाते हैं। ताजी तुलसी की पत्ती को पीसकर इसका रस बनाएं और इसे फोड़े फुंसी पर लगाएं।
  • हल्दी: हल्दी में एंटीबैक्टीरियल गुण पाए जाते हैं जो फोड़े फुंसी के बढ़ने को रोकते हैं। हल्दी को पानी में मिलाकर एक घोल बनाएं और फोड़े फुंसी पर लगाएं। सुबह इसे धो लें।
  • नमक: नमक में एंटीसेप्टिक गुण होते हैं जो फोड़े फुंसी को ठीक करने में मदद करते हैं । बर्तन में नमक का एक छोटा चम्मच ले और उसे गुलाबी पानी में डालकर अच्छी तरह से घोलें। इस गोलियों को फोड़े फुंसी पर लगाएं और 10-15 मिनट रखें। फिर पानी से धो लें।

अंतिम शब्द – यदि फोड़े फुंसी बढ़ रही है या अगर आपको किसी औषधि की जरूरत महसूस होती है, तो आपको चिकित्सक से परामर्श करना चाहिए। चिकित्सक आपके लिए सबसे अच्छा उपाय सुझा सकते हैं जो आपके लिए सुरक्षित और प्रभावी हो सकता है।

Share

Leave a Comment