अंगूर खाने के फायदे । Angur khane ke fayde in hindi.

 Angur khane ke fayde
Angur khane ke fayde.

Angur khane ke fayde in hindi. अंगूर अत्यंत बलवर्धक और सौंदर्य वर्धक फल है, इसे माँ के दूध के समान पोषक माना जाता है । यह स्वस्थ- अस्वस्थ, निर्बल – सबल सभी व्यक्तियों के लिए समान रूप से उपयोगी होता है । अंगूर बेल ऊपर बड़े- बड़े गुच्छों में उगता है । इसे धोकर सीधे खाया जाता है ।

अंगूर खाने से मनोविकार कम होता है । शोधकर्ताओं का कहना है कि अंगूर का सेवन करने से मनोविकार कम होता है । वही भोजन में इसे शामिल करने पर मानसिक स्वास्थ्य पर सकारात्मक प्रभाव पड़ता है । दूसरी ओर अंगूर रहित आहार का सेवन करने वालों को निराशा और हताशा जैसी बीमारियों के लिए चिकित्सकों के पास जाना पड़ता है ।

मुख्यतः अंगूर की खेती और उत्पादन के दक्षिण में- कर्नाटक, महाराष्ट्र, आन्ध्र प्रदेश और तमिलनाडु मुख्य राज्य हैं । वहीं उत्तर भारत में पंजाब, हरियाणा, पश्चिमी उत्तर प्रदेश, राजस्थान व दिल्ली राज्यों में मुख्य रूप से अंगूर की बागवानी की जा रही है । तो चलिए जानते हैं –  Angur khane ke fayde in hindi.

Also Read

Tarbuj khane ke fayde. तरबूज खाने के फायदे नुकसान

◆  खाली पेट कीवी खाने के फायदे । Kiwi khane ke fayde.

Table of Contents

अंगूर क्या है ? What is Grapes.

अंगूर सम्पूर्ण भारत में आसानी से उपलब्ध फल है । इसमें विटामिन-सी तथा ग्लूकोज पर्याप्त मात्रा में पाया जाता है । यह शरीर में खून की वृद्धि करता है और कमजोरी दूर करता है ।

यही कारण है कि डॉक्टर लोग मरीजों को फलों में अंगूर भी खाने की सलाह देते हैं । अंगूर शब्द फ़ारसी है जबक संस्कृत में द्राक्षा, अंग्रेजी में ग्रेप्स ( Grapes ) तथा लैटिन में विटिस्‌ विनिफेरा कहते हैं ।

अंगूर की तासीर । Angur ki tasir thandi ya gram.

अंगूर की तासीर ठंडी होती है इसलिए अंगूर फल को गर्मियों के मौसम में खाया जाता है । इसका सेवन करने से शरीर में शीतलता रहती है।

अंगूर में क्षारीय तत्व बढ़ाने के कारण शरीर में हाई यूरिक एसिड, मोटापा, जोड़ों का दर्द, दमा, खून का थक्का जमना, नाड़ी की प्रॉब्लम व त्वचा पर लाल चकत्ते उभरने आदि में सेवन फायदेमंद होता है ।

अंगूर खाने का सही तरीका | Grapes uses in hindi.

अंगूर का रस निकालकर पिया जा सकता है । अंगूर को एक रात के लिए फ्रीजर (freezer) में रख दें और अगले दिन उसका सेवन करें । गर्मियों में यह शरीर में ठंडक पहुँचाता है ।

फ्रूट चाट (fruit chaat) – बनाने में अंगूर का प्रयोग किया जाता है । केक बनाने की सामग्री में अंगूर को मिलाने से केक में एक स्वादिष्ट फ्लेवर आएगा अंगूर की आइस क्रीम बनाकर भी सेवन की जा सकती है जो कि बहुत ही स्वादिष्ट होती है ।

अंगूर की बेल – अंगूर की बेल काटने से जो रस निकलता है, वह त्वचा रोगों में लाभकारी होता है ।
अंगूर के पत्ते – अंगूर के पत्तों का अर्क एक से तीन चम्मच तक लेने पर व बावासीर के मस्सों पर लगाने पर काफी लाभ मिलता है ।

अंगूर का सेवन कब करना चाहिए | Angur kab khana chahiye.

सुबह खाली पेट फलों का सेवन करना सर्वोत्तम माना जाता है । लेकिन नाश्ते या भोजन के बीच या फिर वर्कआउट के बाद अपने शरीर को ऊर्जा देना चाहते हैं, तो फलों का सेवन करना चाहिए ।

अंगूर के सेवन को लेकर विशेषज्ञों का मानना है कि – सुबह खाली पेट अंगूर खाना शरीर को सबसे ज्यादा लाभ पहुँचाता है । अंगूर शरीर में पानी के लेवल को बनाये रखने में कारगर होता है । इसके अलावा अंगूर दोपहर के भोजन से पहले सेवन करना सेहतमंद होता है ।
अंगूर कितने खाने चाहिए ?

गर्भवती महिला को एक दिन में केवल एक कटोरी अंगूर का ही सेवन करना चाहिए । इसे स्नैक की तरह खा सकते हैं । अपनी डायट में सुबह, शाम, दोपहर के वक्त भी शामिल कर सकती हैं ।

कौन से अंगूर खाने चाहिए | Black Grapes vs green grapes.

हरे अंगूर ( Green Grapes ) – गर्भावस्था में हरे अंगूर नहीं खाने चाहिए । इसे खाने से आपको एसिडिटी की समस्या हो सकती है । यह खाने में काफी खट्टे होते हैं ।

काले अंगूर ( Black Grapes ) – काले अंगूर की बाहर की स्किन काफी सख्त होने से पचाने में गर्भवती महिलाओं को परेशानी हो सकती है । दरअसल गर्भावस्था के दौरान महिलाओं का पाचन तंत्र कमजोर होने के कारण पचाने में मुश्किलों का सामना करना पड़ता है ।

लाल अंगूर ( Red Grapes ) – गर्भावस्था में लाल अंगूर खाना काफी फायदेमंद होता है । लाल अंगूर में विटामिन-के, कैल्शियम, आयरन, एंटी-ऑक्सीडेंट गुण होते है । इसके सेवन से खून की कमी पूरी होने के साथ मांसपेशियों, हड्डियों में मजबूती आती है ।

अंगूर के औषधीय गुण | Angur ke gun.

प्रत्येक 100 ग्राम अंगूर में लगभग 85.5 ग्राम पानी, 10.2 ग्राम कार्बोहाइड्रेट्स, 0.8 ग्राम प्रोटीन, 0.1 ग्राम वसा, 0.03 ग्राम कैल्शियम, 0.02 ग्राम फास्फोरस, 0.4 मिलीग्राम आयरन, 50 मिलीग्राम विटामिन-बी, 10 मिलीग्राम विटामिन-सी, 8.4 मिलीग्राम विटामिन-पी, 15 यूनिट विटामिन-ए, 100 से 600 मिलीग्राम टैनिन, 0.41-0.72 ग्राम टार्टरिक अम्ल पाया जाता है ।

इसके अतिरिक्त सोडियम क्लोरॉइड, पोटेशियम क्लोरॉइड, पोटेशियम सल्फेट, मैग्निशियम तथा एल्युमिन जैसे महत्वपूर्ण तत्व भी इसमें भरपूर मात्रा में मौजूद होते हैं ।

अंगूर में पाई जाने वाली शर्करा पूरी तरह से ग्लूकोज युक्त होती है, जो कुछ किस्मों 50 तक जबकि कुछ में 11 से 12 प्रतिशत तक होती है । यह शर्करा शरीर में पहुँचकर एनर्जी प्रदान करती है । इसलिए इसे हम एक आदर्श टॉनिक की तरह प्रयोग में लाते हैं । अंगूर का सेवन थकान को दूर कर शरीर को चुस्त- स्फूर्त और स्वस्थ बनाता है ।

अंगूर खाने के फायदे | Angur khane ke fayde in hindi.

बाजार में दो तरह के अंगूर मिलते हैं । एक हल्के हरे रंग के और दूसरे काले रंग के । अंगूर का सेवन काफी लोग पसंद करते हैं । आयुर्वेद में तो अंगूर को स्वास्थ्य का खजाना बताया गया है । हाल ही में हुई एक शोध से यह पता चला है कि यदि आप अवसाद से बचना चाहते हैं तो अंगूर का सेवन जरूर करें ।

अनेक शोधकर्ताओं ने बताया कि अंगूर से तैयार बायोएक्टिव डायटरी पोलीफिनॉल तनाव प्रेरित निराशा की स्थिति से बाहर निकलने में अत्यंत सहायक व इस रोग के इलाज में प्रभावी हो सकता है । शोध में चूहों पर इनका प्रयोग किया गया और परिणाम सकारात्मक आया । स्पष्ट है कि भोजन से जो पोषक तत्व हमारे शरीर को मिलता है, वह रोगों की रोकथाम के लिए अत्यंत लाभकारी होता है ।

अवसाद से बचने के अलावा भी अंगूर खाने के अनेक लाभ हैं । अंगूर के सेवन से होने वाले लाभों के विषय में चौंकाने वाले अनेक तथ्य सामने आए हैं । तो चलिए जानते है  Angur khane ke fayde के बारे में –

अंगूर खाने से माइग्रेन में लाभ | Migraine me Angur khane ke fayde.

वर्तमान भागदौड़ भरी तनावपूर्ण और अव्यवस्थित जीवनशैली के बीच माइग्रेन आम समस्या है । ऐसे में अंगूर का रस पीना हमारे लिए बहुत फायदेमंद रहता है । कुछ समय तक अंगूर के रस या जूस का नियमित सेवन करने पर Migraine की समस्या से काफी राहत मिल सकती है ।

ऑनलाइन ‘नेचर कम्यूनिकेशंस’ में प्रकाशित शोध से यह पता चलता है कि – भोजन में अंगूर से मिलने वाले नैसर्गिक तत्वों से निराशा जैसे मनोविकार कम हो सकते हैं । मुख्य शोधकर्ता व न्यूयार्क के इकाह्न स्कूल ऑफ मेडिसिन में प्रोफेसर गियूलियो मारिया पसिनेत्ती का कथन है कि – ‘अंगूर रहित पोलीफिनॉल कम्पाउंड उत्तेजना से जुड़े कोशिकीय व आणविक मार्ग को निशाना बनाता है । अतः इस संबंध में की गई नई खोज से निराशा और चिंताग्रस्त लोगों का इलाज संभव हो पाएगा ।

रक्तचाप नियंत्रित करें –
यदि हाई ब्लड प्रेशर से ग्रस्त व्यक्ति के लिए अंगूर का सेवन रामबाण साबित होगा । अंगूर खाने से रक्त चाप नियंत्रण में रहता है । अधिक रक्त चाप के रोगी हफ्ते में तीन से चार दिन अंगूर का सेवन करें तो उन्हें , इससे लाभ मिलेगा ।

कैंसर से बचाव –
अंगूर में ग्लूकोज, मैग्नीशियम और साइट्रिक एसिड जैसे कई पोषक तत्व पाए जाते हैं । अनेक रोगों से राहत देने के लिए अंगूर का सेवन करना लाभदायक रहता है । टीबी, कैंसर और ब्लड-इंफेक्शन जैसी बीमारियों में भी ये अत्यंत लाभदायक होता है ।

दिल की बीमारियों से बचाव –
विश्व में सर्वाधिक मृत्यु दिल ( Heart attack ) से जुड़ी बीमारियों के कारण होती हैं. दिल से जुड़ी बीमारियों के लिए भी अंगूर का सेवन विशेष रूप से लाभदायक रहता है । एक शोध से यह भी पता चला है कि स्तन कैंसर की रोकथाम में अंगूर का सेवन करना अत्यंत लाभदायक होता है ।

मधुमेह में अंगूर खाने से लाभ । Daibities me angur khane ke fayde.

मधुमेह से ग्रस्त रोगी के लिए अंगूर का सेवन अत्यंत लाभदायक रहेगा. अंगूर का सेवन ब्लड में शुगर के लेवल को कम करने अतिरिक्त ये आयरन का भी एक बेहतरीन माध्यम है ।

वास्तव में काले अंगूर में फाइबर की अच्छी मात्रा होती है, जो शुगर लेवल घटाने में मदद करता है । इसके अतिरिक्त इसमें उपलब्ध फाइबर पाचन भी दुरुस्त करते है और इंसुलिन के प्रोडक्शन को बेहतर बनाते हैं, जिससे शरीर शूगर पचाने लगता है और शुगर कंट्रोल रहता है ।

कब्ज में आराम दे –
यदि भूख नहीं लगती और इस कारण आपका वजन नहीं बढ़ पा रहा तो आपको अंगूर के रस का सेवन करना चाहिए । इससे कब्ज की समस्या तो दूर होती ही है, साथ ही भूख भी लगने लग जाती है । कब्ज की समस्या बढ़ने पर शरीर में अनेक प्रकार की व्याधियाँ घर कर जाती हैं ।

खून की कमी दूर करे –
अगर शरीर में खून की कमी है या फिर हीमोग्लोबिन कम है तो खून की कमी को दूर करने के लिए एक गिलास अंगूर के जूस में 2 चम्मच शहद मिलकार पीने से खून की कमी दूर हो जाती है । साथ ही यह हीमोग्लोबिन को भी बढ़ाता है । हीमोग्लोबिन कम होने से शरीर में कमजोरी बनी रहती है । अंगूर अनेक लोगों को बेहद पसंद होता है । यह एक बलवर्धक और सौंदर्यवर्धक फल है । यदि आप भी इसके शौकीन हैं, तो गर्मी में खूब सेवन कीजिए । इसे खाने से मिलेंगे अनेक बेशकीमती लाभ ।

रात को अंगूर खाने के फायदे । Raat ko angur khane ke fayde.

वैसे तो अंगूर का सेवन सुबह के समय खाली पेट करने से बहुत लाभ प्राप्त होता है, किन्तु डॉक्टर या वैद्य की सलाह पर इसे रात के समय भी लिया जा सकता है । एक गिलास अंगूर के जूस में दो चम्मच शहद घोलकर पिलाने पर रक्त की कमी को पूरा किया जा सकता है जिसकी रक्तस्राव के समय क्षति हुई है ।

अंगूर का पल्प ग्लूकोज व शर्करा युक्त होता है । विटामिन ए पर्याप्त मात्रा में होने से अंगूर का सेवन भूख बढाता है, पाचन शक्ति ठीक रखता है । वही स्किन, बालो व आँखों के लिए फायदेमंद है ।

Grapes benefits in pregnancy in hindi.

गर्भावस्था में अंगूर खाने के फायदे | Grapes benefits in pregnancy in hindi.

अंगूर एक ऐसा फल है जिसमें फोलिक एसिड, फाइबर, विटामिन, एंटीऑक्सीडेंट, ऑर्गेनिक एसिड, पेक्टिन आदि जैसे पोषक तत्व पाये जाते हैं । इनके अलावा अंगूर में मैग्नीशियम भी प्रुचरता में पाया जाता है जो प्रेग्नेंसी के दौरान होने वाली ऐंठन से राहत दिलाने में मददगार होता है ।

अंगूर का जूस पीने के फायदे | Grapes juice benefits in hindi.

अंगूर का जूस भी स्वाद के साथ- साथ सेहत के लिए भी यह काफी अच्छा माना जाता है । इसके सेवन से आप अपनी प्यास बुझाने के साथ ही शरीर को ठंडक प्रदान होता है । अंगूर का जूस कई गुणों से भरपूर होता है । इसमें मौजूद विटामिन ए, विटामिन सी, विटामिन बी 6, कार्बोहाइड्रेट्स, कैल्शियम, फास्फोरस और मैग्नीशियम जैसे पोषक तत्व शरीर को कई बीमारियों से बचाते हैं । अंगूर में मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट और फ्लैवोनॉयड्स कई बीमारियों से बचाव करता है । angur juice pine ke fayde –

1. हड्डियों के लिए है लाभदायक – अंगूर के जूस में मैग्नीज और आयरन जैसे तत्व पाए जाते हैं, जो हड्डियों के निर्माण में हमारी मदद करता है। इन तत्वों के सेवन से हड्डियां मजबूत होती हैं । अंगूर के जूस का नियमित रूप से सेवन करने से ऑस्टियोपोरोसिस जैसी गंभीर बीमारी से बचाव किया जा सकता है ।

2. इम्यूनिटी बढ़ाता है – अंगूर में मौजूद विटामिन सी इम्यूनिटी बूस्ट करने में असरदार होता है । नियमित रूप से अंगूर के जूस का सेवन करने से सक्रिय रूप से इम्यूनिटी बूस्ट होगी ।

3. माइग्रेन से करे बचाव – माइग्रेन के दर्द से मुक्ति दिलाने में अंगूर असरदार हो सकता है । अच्छे से पके हुए अंगूर का जूस पीते हैं, तो इससे माइग्रेन जैसी समस्याओं से आराम मिल सकता है । माइग्रेज से आराम पाने के लिए सुबह-सुबह एक गिलास फ्रेश अंगूर जूस का सेवन करें ।

4 . अस्थमा रोगियों के लिए असरदार – अस्थमा से पीड़ित लोगों के लिए अंगूर का जूस काफी फायदेमंद हो सकता है। क्योंकि इस से फेफड़ों में पानी की कमी दूर होती है ।

5. मुंहासों से दिलाए राहत – नियमित रूप से अंगूर के जूस का सेवन करते हैं, तो इससे मुंहासों की परेशानी को दूर किया जा सकता है। साथ ही स्किन पर होने वाली झुर्रियों और फाइन-लाइंस को कम करने में लाभदायक होता है ।

6. ह्रदय रोग से करे बचाव – ब्लड में नाइट्रिक ऑक्साइड के लेवल को कंट्रोल करने में अंगूर का जूस काफी असरदार हो सकता है। इससे ब्लड क्लॉटिंग की संभावना कम हो जाती है। साथ ही हार्ट अटैक का खतरा भी कम होता है। अंगूर में मौजूद एंटी-ऑक्सीडेंट खराब कोलेस्ट्रॉल स्तर को कम करने में असरदार होता है ।

हरे अंगूर खाने के फायदे | Hare angur khane ke fayde.

1. अंगूर के नन्हे-नन्हे दानों में पॉली-फेनोलिक फाइटोकेमिकल कंपाउंड पाए जाते हैं । ये एंटीऑक्सीडेंट्स शरीर को न केवल कैंसर से, बल्कि फंगल इंफेक्शन, कोरोनरी हार्ट डिजीज, नर्व डिजीज और अल्जाइमर से लड़ने की क्षमता प्रदान करते हैं ।

2. चोट लगने या अन्य कारणों से अधिक रक्त स्राव होने पर एक गिलास अंगूर ज्यूस में 2 चम्मच शहद घोलकर पीने से रक्त स्राव के दौरान हुई खून की क्षतिपूर्ति की जा सकती हैं ।

3. हार्ट अटैक से बचने के लिए – अंगूर हार्ट अटैक से जुड़ी प्रॉब्लम के लिए फायदेमंद होता है । इनके रस में फ्लेवोनाइडस नामक तत्व होता है और यह भी यही कार्य करता है ।

4. अंगूर फोडे-फुंसियों और मुंहासों को सुखाने में सहायता करता है । अंगूर के रस के गरारे करने से मुँह के घावों एवं छालों में राहत मिलती है।

काले अंगूर के फायदे | Black grapes benefits in hindi.

1. काले अंगूर में पोटैशियम होता है, इसलिए यह दिल के लिए बहुत फायदेमंद होता है । काले अंगूर में मौजूद साइटोकेमिकल्स दिल को स्वस्थ रखने में मदद कर सकता है ।

2. इम्यूनिटी – इम्यूनिटी को मजबूत बनाने के लिए रोज खाएँ काले अंगूर । काले अंगूर में विटामिन सी होता है, जो शरीर की इम्यूनिटी को मजबूत बनाने और संक्रमण से बचाने में भी उपयोगी है ।

3. डायबिटीज – डायबिटीज के रोगियों के लिए Black Grapes फायदेमंद होते है ।

4. मोटापा – बढ़े हुए फैट को कम करने के लिए काले अंगूर बड़े काम आ सकते हैं । काले अंगूर में कई ऐसे तत्व पाए जाते हैं, जो तेजी से वजन कम करने में काफी हद तक मददगार होता है ।

अंगूर के स्वास्थ्यवर्धक गुण । Grapes health benefits in hindi.

अंगूर का सेवन, आंत, लीवर व पचान संबंधी अन्य रोगों, मुँह में कड़वापन रहना, खून की उल्टी होना, गुर्दे की कार्यक्षमता में कमी, कब्जियत, मूत्र की बामारी, अतिसार कृमि रोग ( पेट के कीड़े ), टीबी (क्षय रोग), अम्ल-पित्त, गुल्म रोग ( गांठ ) और ग्रहणी आदि रोगों में  Angur khane ke fayde होते है ।

यदि किसी ने धतूरा खा लिया हो, तो उसे दूध में अंगूर का सिरका मिलाकर पिलाने से बहुत लाभ होता है । अंगूर मियादी बुखार, मानसिक परेशानी, पाचन की गड़बड़ी आदि भी काफी लाभकारी है ।

अंगूर का एक विशेष गुण यह भी है कि – यह शरीर में मौजूद विषैले तत्वों को आसानी से शरीर से बाहर निकाल देता है । यह एक खून के विकारों को दूर करने एवं रक्त शोधक के रूप में जाने जाना वाला फल है ।
अंगूर रक्त की क्षारीयता सन्तुलित करता है, क्योंकि रक्त में अम्ल व क्षार का अनुपात 20:80 होना चाहिए । यदि किसी कारणवश शरीर में अम्लता बढ़ जाए, तो वह हानिकारक साबित होता है । अंगूर बढ़ती अम्लता को आसानी से कन्ट्रोल करता है ।

अंगूर के रस को कलई के बर्तन में पकाकर गाढ़ा करके सोते समय आँखों में लगाने से जाला, फूला आदि नेत्र रोगों दूर हो जाते हैं । स्तनपान कराने वाली माताओं के लिए फायदेमंद है ।

अंगूर खाने से नुकसान | side effects of grapes in hindi.

अंगूर का अधिक मात्रा में सेवन करना स्वास्थ्य को नुकसान पहुँचा सकता है । ज्यादा अंगूर खाने से वजन बढ़ता है और किडनी को भी नुकसान हो सकता है । अंगूर का खट्टा मीठा स्वाद खाने में बहुत अच्छा लगता है । कुछ लोगों को अंगूर बहुत पसंद होते हैं ।

अगूर खाने से शरीर को कई विटामिन, मिनरल्स और एंटीऑक्सीडेंट्स मिलते हैं । स्वास्थ्य के लिए अंगूर बहुत लाभदायक है, लेकिन अधिक अंगूर खाने से अनेक प्रकार के नुकसान भी हो सकते हैं ।

अधिक मात्रा में अंगूर का सेवन करने से वजन बढ़ (Weight Gain) जाता है । अंगूर काफी मीठे होते हैं । ज्यादा खाने से किडनी (Kidney) से जुड़ी समस्याएँ होने का खतरा रहता है । इसलिएअंगूर का सेवन सीमित मात्रा में ही करना चाहिए । अधिक अंगूर खाने से सेहत को नुकसान –

1. वजन बढ़ता है – अधिक अंगूर खाने से मोटापा बढ़ सकता है । अंगूर काफी मीठे होने के साथ इसमें कैलोरी की मात्रा बहुत अधिक होती है । अधिक कैलरी इंटेक से वजन बढ़ने लगता है ।

2. डायरिया – आवश्यकता से अधिक अंगूर खाने से डायरिया होने का सम्भावना बढ़ जाती है । अंगूर मीठे होने की वजह से पेट से जुड़ी समस्याएं पैदा हो सकती हैं । कहा जाता है कि पेट खराब होने पर ज्यादा मात्रा में अंगूर का सेवन नहीं करना चाहिए.

3. किडनी से जुड़ी समस्या – डायबिटीज और किडनी से जुड़ी समस्या वाले लोगों को अधिक अंगूर नहीं खाने चाहिए । इससे क्रोनिक किडनी की समस्या होने का खतरा बढ़ जाता है । मधुमेह के मरीज का ब्लड शुगर लेवल बढ़ने लगता है । अधिक मात्रा में अंगूर खाने से किडनी और मधुमेह की समस्या उत्पन्न हो सकती है ।

4. एलर्जी की समस्या – अधिक अंगूर खाने से हाथ-पैरों में एलर्जी की समस्या भी हो सकती है । अंगूर में लिक्विड प्रोटीन ट्रांसफर होता है, जिससे एलर्जी की समस्या हो सकती है । इससे खुजली, रैशेज, फेस पर सूजन हो सकती है । ज्यादा अंगूर खाने से एनाफिलेक्सिस की बीमारी भी हो सकती है ।

5. प्रेग्नेंसी में नुकसान – अंगूर में पोली फेनोल नाम का तत्व होता है । इससे पेट में पल रहे बच्चे में पैंक्रियाटिक समस्याए उत्पन्न हो सकती है । प्रेगनेंसी में ज्यादा अंगूर खाने से जेस्टेशनल मधुमेह का खतरा भी बढ़ जाता है ।

आधुनिक जीवन शैली में लोग इतना व्यस्त हो गए हैं कि उन्हें अपनी सेहत के विषय में सोचने का समय ही नहीं मिलता । अनेक बार लोग खाने के समय में काम करते रहते हैं, यह आदत हमारी सेहत को गंभीर रूप से नुकसान पहुँचाती है. हमें यह भी ध्यान नहीं रहता कि किस चीज को खाने का कौन सा समय ठीक है । पुरानी कहावत है कि अति हर चीज की बुरी होती है । अतः प्रत्येक चीज को आवश्यकता के अनुसार और सही समय पर लेना चाहिए तभी उसके लाभ प्राप्त होते हैं ।। डॉ. राजेश कुमार जैन, श्रीनगर गढ़वाल, उत्तराखंड ।।

Share via
Copy link