मोटा होने के लिए आयुर्वेदिक कैप्सूल – टेबलेट एव भूख बढ़ाने की दवा

mota hone ke ayurvedic capsule

मोटा होने के लिए आयुर्वेदिक कैप्सूल । लगातार अव्यवस्थित खानपान के कारण हमारे शरीर में पोषक तत्वों की कमी हो जाती है। जिसकी वजह से शरीर दुबला पतला हो जाता है। इनके लगातार बीमार रहने या गंभीर रोगो के शिकार होने से भी शरीर कमजोर हो जाता हैं । इन शारीरिक दृष्टि से कमजोर होने के कारण अनेको बीमारिया भी घर कर जाती हैं ।

एक्सपर्ट का मानना है कि नियमित समय पर संतुलित आहार न सेवन करने से या पाचन तंत्र कमजोर होने के कारण शारीरिक कमजोरी आती हैं । मोटा होने के लिए आवशक है कि नियमित रूप से संतुलित भोजन करने के अलावा योग व्यायाम भी आवश्यक है । इनके आलावा कुछ आयुर्वेदिक दवाइयां भी सेवन कर सकते हैं । जिससे आवश्यक पोषक तत्वों की पूर्ति होती है। तो चलिए जानते – जल्दी मोटा होने के लिए आयुर्वेदिक दवा के बारे में – mota hone ke ayurvedic capsule –

पढ़े – औजार मोटा करने दवा घरेलू उपाय – लम्बा करने के 7 नुस्खें

मोटा होना क्या हैं ?

जब दुबला पतला हो जाता हैं तो इंसान परेशान हो जाता हैं । वही look दिखने मे खराब लगता हैं । ऐसे मे वह मोटा होने की चाह रखता है । यहां बात मोटा होने की है ना की मोटापा की है । मोटा होने का मतलब आयु एव शरीर की हाइट के अनुसार वजन का बढ़ना । बॉडी के मसल्स, हाइट एव शरीर का फूलना । शरीर फूलने से इंसान मोटा दिखाई देता हैं ।

एक्सपर्ट के अनुसार एक वयस्क इंसान का वजन 50 किलो का होना आवश्यक हैं । इनसे कम होने पर कमजोरी का संकेत होता हैं । या यूँ कहे कि बीमारी का संकेत भी हो सकता हैं । ऐसे मे डॉक्टर ताकत की दवा देते हैं ।

पढ़े – ब्रेस्ट बढ़ाने की दवा हिमालय – स्तन बढ़ाने की 5 टेबलेट व क्रीम

मोटा होने के लिए आयुर्वेदिक कैप्सूल – Patanjali.

मोटा होने के लिए आयुर्वेदिक कैप्सूल एक अच्छा विकल्प हो सकता है। यह एक सुरक्षित तरीका है जो शरीर को विशेष तौर पर महत्वपूर्ण पोषक तत्वों की आवश्यकताओं को पूरा करने में मदद करता है। इसके अलावा, यह शरीर को वजन बढ़ाने में मदद कर सकता है। कुछ लोगों को जल्दी से मोटा होने की जरूरत होती है, जो कुछ आयुर्वेदिक दवाइयों का उपयोग कर सकते हैं जो शरीर को वजन बढ़ाने में मदद करते हैं। यहाँ हम कुछ आयुर्वेदिक कैप्सूल के बारे में बता रहे हैं जो मोटा होने में आपकी मदद कर सकते हैं ।

  • अश्वगंधा कैप्सूल – अश्वगंधा कैप्सूल एक प्रसिद्ध आयुर्वेदिक दवा है जो शरीर के वजन बढ़ाने में मदद करता है। इसके अलावा, यह शरीर को ताकत और ऊर्जा देता है।
  • शतावरी कैप्सूल – शतावरी कैप्सूल भी एक अच्छा उपाय है जो वजन बढ़ाने में मदद करता है। इसके अलावा, यह शरीर को ऊर्जा देता है और अच्छी सेहत बनाए रखता है । कैप्सूल को दिन में दो बार भोजन करने के बाद लिया जा सकता है ।
  • बादाम पाक – यह पतंजलि की सबसे अच्छी आयुर्वेदिक दवा है । जो विभिन्न प्रकार की जड़ी बुटियों से निर्मित होती हैं । यह भूख बढ़ाने के साथ जल्दी मोटा होने के लिए उपयोगी है ।

गुड हैल्थ कैप्सूल – मोटा होने के लिए आयुर्वेदिक दवा –

यह कैप्सूल मोटा होने के लिए जाना जाता हैं । इनका नियमित रूप से सेवन करने पर वेट गैन, मास गैन होता है । साथ ही साथ पाचन तंत्र दुरस्त होता हैं । जिसे भूख भी बढ़ती है । यह कैप्सूल स्टेमिना बढ़ता है । शरीर मे थकान एव कमजोरी दूर करता हैं ।

इसमे उपस्थित विभिन्न प्रकार के घटक जैसे – गोखरू, अश्वगंधा, सतामूली, वीरांगा, ब्रांही, शखपुष्पी व आमलकी आदि अनेको प्राकृतिक जड़ी बुटियों के मिश्रण से तैयार किया जाता हैं । जो शरीर मे विभिन्न प्रकार की कमजोरियों को दूर करके नई ऊर्जा का संचार करता है। इस दवा का कोई दुष्प्रभाव नहीं है लेकिन इनका सेवन अनुशासित मात्रा में करें । अधिक जानकारी के लिए पढ़े – गुड हेल्थ कैप्सूल के फायदे

पुरुष जीवन कैप्सूल – जल्दी मोटा होने के लिए आयुर्वेदिक कैप्सूल

यह कैप्सूल पाचन तंत्र को दुरस्त रखने एव वजन बढ़ाने के लिए रामबाण दवा है । यह दुबले पतले लोगो के लिए बहुत ही लाभकारी है । इनका सेवन करने से न केवल मोटा होते हैं बल्कि शरीर की लम्बाई भी बढ़ती है । यह अनेक प्रकार की आयुर्वेदिक जड़ी बुटियो युक्त होता हैं ।
इनका उपयोग करने शरीर हष्ट पुष्ट एव अटैक्टिव पेर्सनालिटी वाला बनता है । यदि आप इस कैप्सूल के साथ हेल्दी डाइट लेते है तो बहुत कम समय मे आकर्षक परिणाम मिल सकते हैं । इस कैप्सूल का कोई नकारात्मक प्रभाव नहीं है फिर भी इनका सेवन योग्य वैध की सलाह से करे ।

पढ़े – मोटा होने के लिए क्या खाये । Mota hone ke ramban upay.

वेदा मैक्स कैप्सूल – भूख बढ़ाने की दवा आयुर्वेदिक –

यह कैप्सूल में अनेक पोषक तत्व होते हैं, जैसे कि प्रोटीन, कार्बोहाइड्रेट, विटामिन और मिनरल। इसमें एंटीऑक्सिडेंट और फाइबर भी होते हैं जो शरीर के लिए बहुत लाभदायक होते हैं।

इस कैप्सूल के उपयोग से शरीर में प्रोटीन लेवल बढ़ते हैं, जो मांसपेशियों के विकास के लिए बहुत जरूरी होते हैं। इसके अलावा, यह शरीर में ऊर्जा बढ़ाने में भी मदद करता है। इस कैप्सूल में मौजूद विभिन्न प्रकार के आयुर्वेदिक तत्व जैसे सफ़ेद मुसली, शिलाजीत, कौच के बीज़ आदि जो शरीर को बीमारियों से लड़ने की क्षमता देते हैं और इससे आपके शरीर के अंगों को ताक़त मिलती है।

इसके उपयोग से शरीर को भोजन को पचाने में मदद मिलती है और सही तरीके से पाचन करने में मदद करती है। इस कैप्सूल के उपयोग से भूख बढ़ती है जिससे वजन बढ़ता है ।

पतंजलि चवन्प्राश – मोटा होने का आयुर्वेदिक पाउडर –

चवन्प्राश कैप्सूल में विभिन्न पोषक तत्व होते हैं जैसे कि अमला, एश्वगंधा, तुलसी, जायफल, दालचीनी और जीरा। इन तत्वों में मौजूद विटामिन सी, एंटीऑक्सिडेंट और अन्य पोषक तत्व शरीर को स्वस्थ रखने में मदद करते हैं। चवन्प्राश कैप्सूल शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने, शरीर को ताकत देने, एनर्जी को बढ़ाने और शरीर के संरचनात्मक तंत्र को बढ़ाने में मदद करता है।

चवन्प्राश कैप्सूल एक आयुर्वेदिक दवा है जो शरीर को स्वस्थ और सक्रिय रखने में मदद करता है। यह एक प्रकार का चूर्ण होता है जो विभिन्न जड़ी-बूटियों, फलों और मसालों से बनाया जाता है। इसका उपयोग शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने और शरीर की ताकत बढ़ाने में किया जाता है।

चवन्प्राश कैप्सूल मस्तिष्क और शरीर को सक्रिय रखने में मदद करता है और शरीर की ऊर्जा को बढ़ाता है। यह एक उत्तम तरीका है अधिक तनाव, थकान आदि को दूर करने के लिए लाभकारी है ।

बॉडी प्लस कैप्सूल – वजन बढ़ाने की आयुर्वेदिक दवा –

इस कैप्सूल में विभिन्न पोषक तत्व होते हैं जैसे कि स्टीरोइडल सामग्री, अमीनो एसिड, विटामिन सी, आयरन, कैल्शियम और फास्फोरस । इसके पोषक तत्वों के कारण यह शरीर को बढ़ाने, मसल्स बढ़ाने, मांसपेशियों को बढ़ाने, पाचन तंत्र को सुधारने, भुख बढ़ाने मे कारगर है ।

यह कैप्सूल शरीर को अधिक ऊर्जा देने में भी मदद करता है जिससे शरीर के शोषण को कम करता है । इस आयुर्वेदिक दवा का कोई साइड इफ़ेक्ट्स नहीं है फिर भी योग्य डॉक्टर की सलाह से सेवन करें ।

पढ़े – महिलाओ के लिए बेस्ट 9 टॉनिक Patanjali आयुर्वेदिक दवा

हेल्थ टोन टेबलेट – तुरंत मोटा होने की दवा –

यह टेबलेट शरीर को ताक़त देता है और इम्युनिटी को बढ़ाता है । कैप्सूल में संज्ञानात्मक तत्व होते हैं, जो शरीर के लिए बहुत फायदेमंद होते हैं। यह दिल के लिए बहुत लाभदायक होता है।

इसका उपयोग करने से लिवर को हेल्दी में मदद करता है। इसके अलावा, इस में मौजूद एंटीऑक्सिडेंट, विटामिन व मिनर्ल्स शरीर के लिए बहुत लाभदायक होते हैं जो शरीर को कई बीमारियों से बचाते हैं । शरीर के लिए एक्सट्रा ऊर्जा उत्पन्न करता है जो शरीर को स्वस्थ रखने में मदद करता है । इनके साइड इफेक्ट्स की बात करे आप इनका सेवन बंद करने से वजन घट सकता हैं । दूसरी बात यह थोड़ी महंगी हो सकती हैं ।

हिमालय लिव 52 – मोटा होने की दवा –

यह दवा हिमालय है सबसे अच्छी शरीर फुलाने की दवा है । यह लिवर को हेल्दी रखने के साथ साथ पाचन तंत्र को भी दुरस्त रखने के लिए भी उपयोगी है । पाचन शक्ति मजबूत होने शरीर में नई ऊर्जा का संचार होता है।
इनका सेवन करने से बॉडी मे प्रोटीन, विटामिन्स व मिनरल की पूर्ति होती है । इनका सेवन योग्य वैध की सलाह से सेवन करें ।

मोटा होने की आयुर्वेदिक जड़ी बूटी –

  • कैमोमाइल – एक प्राकृतिक औषधि है जो शरीर को ताकत देने में मदद करती है और शरीर के सामान्य स्थितियों को सुधारती है। ये विभिन्न पोषक तत्वों जैसे ये विटामिन्स, मिनरल, प्रोटीन एव कार्बोहाइड्रेट होते हैं जो शरीर के वजन बढ़ाने में मदद करते हैं।
  • इसके सेवन से आपके शरीर के स्तर में पोषक तत्वों की वृद्धि होती है जो आपको स्वस्थ बनाए रखते हैं। यह आपके शरीर की कुछ अन्य समस्याओं में भी मदद करता है, जैसे कि थकान, दुर्बलता, अशक्तता, स्त्री संबंधी समस्याएं आदि।
  • लौह बहुमुल कैप्सूल में लौह के अलावा विभिन्न पोषक तत्वों जैसे कि फोलिक एसिड, विटामिन सी, विटामिन बी 12 और फायबर होते हैं, जो शरीर के स्तर को बढ़ाने में मदद करते हैं। इसके अलावा, यह दवा शरीर के इम्यून सिस्टम को बढ़ाने में भी मदद करती है ।
  • शराफा – शरीर को मजबूत और स्वस्थ बनाने में मदद करता है। यह आपकी मानसिक समता को बढ़ाने, स्मृति शक्ति को बढ़ाने मदद करता है ।
  • मुलेठी – इसमे पोषक तत्व होते हैं । इन तत्वों में मौजूद अस्थायी तत्व जो न्यूरोनो को सक्रिय करते हैं और मानसिक संतुलन को बनाए रखने में मदद करते हैं। आपके मस्तिष्क को शांत रखने में मदद करता है जो अवसाद, तनाव और बेचैनी जैसी समस्याओं को कम करने में मदद करता है।

अंतिम शब्द – आज के लेख में दी गई समस्त जानकारी का उद्देश्य शैक्षणिक मात्र है । इनका उपयोग करने से पहले योग्य वैध या डॉक्टर से परामर्श अवश्य करें । इन आयुर्वेदिक दवाओं के अलावा हेल्दी डाइट, योग व्यायाम आदि पालन अवश्य करे ।