एक्सफोलिएशन क्या है । How to Exfoliate skin in hindi.

How to Exfoliate skin.

How to Exfoliate skin. जब चेहरे पर डेड स्किन, एक्ने या दाग धब्बे होते हैं । कम उम्र में झुरिया दिखाई देती है। चेहरा फ्रेश दिखाई नहीं देता। ऐसे चेहरे पर एक्सफोलिएशन करना जरूरी है ।  एक्सफोलिएशन करने से हम अपने चेहरे पर आने वाले दाग धब्बे, पिंपल्स, डेड स्किन को निकालकर चेहरा कोमल, नर्म, मुलायम रख सकते हैं।

Exspoliation डेड स्किन निकालकर, निखार लाना ड्राइनेस हटाना, पिंपल्स, दाग धब्बे निकालना, त्वचा पर ग्लो लाना आदि काम करता है। कुल मिलाकर देखा जाए तो एक्सफोलिएशन एक ऐसी तकनीक है जो आपकी स्किन में निखार देने के साथ आपको सुंदर बनाए रखता है तो चलिए जानते है – How to Exfoliate skin

Table of Contents

एक्सफोलिएशन तकनीक क्या है ? What is Exspoliation technique.


एक्सफोलिएशन में त्वचा पर जमा डेड सेल हटाने का काम किया जाता है । डेड सेल हटाने से अंदर की हेल्दी स्किन बाहर आती है । स्किन में भरपूर ऑक्सीजन की मात्रा जमा होती है जिससे त्वचा में अधिक निखार आता है। हमारे शरीर में स्क्रीन सेल्स बनते और स्किन डेड होने की प्रक्रिया लगातार चलती रहती हैं । जिसमे डेड सेल निकालने का काम एक्सफोलिएशन में किया जाता है । तथा एक्सफोलिएशन में त्वचा को स्वस्थ और सुंदर बनाने का काम किया जाता है। यह प्रक्रिया हम पार्लर में यह घर पर भी बड़ी आसानी से कर सकते हैं।


Exfoliate meaning in hindi –


एक्सफोलिएशन का मतलब है, स्क्रबिंग करना त्वचा को हल्के से मसाज कर, चेहरे के ऊपर की मृत कोशिकाओं को हटाना । जिसे आपके चेहरे का निखार आता है । असमय में चेहरे पर आई झुर्रियो को Exfoliate किया जाता है । यानी उसे रिमूव कर दिया जाता है ।

एक्सफोलिएशन तकनीक के प्रकार – Type of exfoliation.


Exfoliation बड़ा आसान तरीका है स्किन केयर करने का । त्वचा के ऊपर के दाग धब्बे हटाकर त्वचा की चमक बढ़ाने का। एक्सफोलिएशन तकनीक दो प्रकार की होती है एक फिजिकल दूसरी केमिकल एक्सफोलिएशन। त्वचा का प्रकार तथा उसकी आवश्यकता के आधार पर दोनों तकनीक का इस्तेमाल हम कर सकते हैं। दोनों तकनीके त्वचा से मृत पेशी निकालकर चेहरे पर निखार लाने का काम करता है। तो देखते हैं कौन सी तकनीक बेहतर है।


Physical exfoliation ( फिजिकल एक्सफोलिएशन)


फिजिकल एक्सफोलिएशन में चीनी या नमक का, स्क्रब के रूप में इस्तेमाल किया जाता है । जो तत्काल परिणाम दिखाते हैं । लेकिन एक महत्वपूर्ण बात यह है, कि यह चीनी या नमक से स्क्रब करने पर आपकी त्वचा फट सकती है या त्वचा को नुकसान भी पहुंच सकता है। इसके लिए धीरे धीरे मुलायम हाथों से मसाज करना पड़ता है । अगर आप जोर जोर से रगड़ कर स्क्रब करोगे तो चेहरे पर सूजन भी आ सकती है। इसे सप्ताह में एक बार करना चाहिए । यह चेहरे का रक्त प्रवाह बढ़ाता है। जिससे चेहरे पर निखार आता है।


Chemical exfoliation ( केमिकल एक्सफोलिएशन )


केमिकल एक्सफोलिएशन में बीटा हाइड्रोक्सी एसिड और अल्फा हाइड्रोक्सी एसिड होता है । यह संवेदनशील त्वचा पर अधिक उपयुक्त होता है । यह भी डेड स्किन को हटाकर त्वचा में निखार लाने का काम करता है और त्वचा को हाइड्रेट करने में भी मदद करता है । इससे त्वचा पर कोई नुकसान नहीं होता ।

Also read –

स्वस्थ रहने के आसन टिप्स । Healthy living tips in hindi.

एलोवेरा के फायदे नुकसान । Benefits of aloevera in hindi.


कौन सा एक्सफोलिएशन सही है – best exfoliation for skin.


कौन सा एक्सफोलिएशन सही है। यह हमारे त्वचा पर निर्भर करता है। वैसे हम दोनों भी तकनीक इस्तेमाल कर सकते हैं । पर संवेदनशील त्वचा पर केमिकल एक्सफोलिएशन का अच्छा प्रभाव पड़ता है क्योंकि फिजिकल में स्क्रब किया जाता है जो संवेदनशील त्वचा के लिए यह उपयुक्त नहीं ।

केमिकल एक्सफोलेशन असर धीरे धीरे दिखाई देता है । इससे चेहरे पर निखार दिखने में समय लगता है। परंतु फिजिकल में निखार तुरंत मिलता है । दोनों का काम डेड स्किन को हटाकर त्वचा के रोम छिद्रों को खुलवाकर, त्वचा को चमकदार बनाना है । दोनों एक दूसरे को पूरक लागू होते हैं । केमिकल में एसिड या एंजाइम का उपयोग किया जाता है तो फिजिकल में स्क्रब का इस्तेमाल किया जाता है। आपके चेहरे के अनुसार आप एक्सफोलिएशन कर सकते हैं।

एक्सफोलिएशन के फायदे – benefits of exfoliation.


एक्सफोलिएशन करने से त्वचा में निखार आता है । त्वचा साफ और स्वस्थ रहती हैं। त्वचा संबंधी कुछ अन्य परेशानियां है , तो वह भी निकल जाती है । नियमित रूप से एक्सफोलिएशन करने पर हमारी त्वचा पर आए दाग धब्बे दूर हो जाते हैं । ऑयली त्वचा हो या ड्राई स्किन होया संवेदनशील त्वचा हो । इन पर पर यह गुणकारी है । जिनकी त्वचा ऑइली होती है, उनकी त्वचा से अतिरिक्त तेल साफ हो जाता है ।

चेहरे पर अगर पिंपल्स हो तो एक्सफोलिएशन प्रक्रिया ना करें ही बेहतर है । एक्सफोलिएशन करने के बाद त्वचा नर्म मुलायम बन जाती है । डेड स्किन और रफनेस कम होता है । एक्सफोलिएशन के बाद मॉइस्चराइजर लगाने से वह त्वचा के अंदर तक समा जाता है । जिससे त्वचा सॉफ्ट बनती है । एक्सफोलिएशन के बाद त्वचा में जो निखार आता है उससे उम्र का पता यानी अंदाजा लगाना कठिन होता है । अधिक उम्र वाले लोग भी जवान लगते हैं, उनकी उम्र का पता नहीं लगता।


घर पर कैसे करे एक्सफोलिएशन : How to Exfoliate skin at home.


घर पर एक्सफोलिएशन करना आसान है। पहले चेहरे को फेस वॉश या किसी साबुन से धो लो । फिर गुनगुने पानी में टॉवल या नैपकिन को भिगोकर चेहरा साफ करें । गरम टॉवल की वजह से स्क्रीन के रोम छिद्र खुल जाते हैं। ब्लड सरकुलेशन त्वचा में होता है । How to Exfoliate skin.


इसके बाद चेहरे को स्क्रब करें अच्छे स्क्रबर की मदद से 2 से 3 मिनट तक चेहरे को धीरे धीरे गर्दन तक हल्के मसाज करना है, जिससे चेहरे की डेड स्किन निकलने में मदद मिलती है । चेहरे को गुनगुने पानी से धो ले । चेहरा साफ कर, चेहरे पर हल्के हाथों से कोई भी मॉइश्चराइजर लगा ले। जिससे आपको प्रसन्नता मिलेगी ।


एक्सफोलिएशन सिर्फ चेहरे का ही नहीं पूरे शरीर का भी हम कर सकते हैं। अन्यथा आप चेहरे का, हाथ पैर का भी एक्सफोलिएशन कर सकते हैं। एक्सफोलिएशन करते समय हमें अपनी त्वचा किस प्रकार में आती है इसका खास ध्यान रखना है। Exfoliation करने से करने से डेड स्किन निकल जाती है ।


त्वचा पर जमा अत्यधिक तेल साफ हो जाता है । त्वचा के रोम छिद्र खुल जाते हैं। जिससे कोई भी मॉइश्चराइजर क्रीम आसानी से त्वचा के अंदर समा जाती है। त्वचा नरम मुलायम बनती है। त्वचा पर जल्दी से झुरिया नहीं आती । हाइपरपिगमेंटेशन में सुधार आता है ।


एक्सफोलिएशन रोजाना करने से त्वचा साफ सुथरी और तरोताजा हो जाती है। इसके लिए घर पर एक्सफोलिएशन मास्क कैसे बनाते हैं । यह आज हम जानेंगे । कुछ मास्क बनाने के आसान तरीके । How to Exfoliate skin.


पपीते से बना एक्सफोलिएशन मास्क : How to Exfoliate skin with papaya mask.


सामग्री : पपीते के 5/6 टुकड़े, एक चम्मच शहद , एक चम्मच नींबू का रस ।
विधि : पपीते के 5/6 टुकड़े को मिक्सर में डाल दे। उसमें एक चम्मच नींबू का रस और एक चम्मच शहद डालकर मुलायम पेस्ट बना लो। मास्क चेहरे पर लगाने के लिए तैयार । मास्क लगाने से पहले चेहरे को अच्छे से धो लें।फिर मास्क लगाकर 15/20मिनट सूखने दें। जब मास्क सूख जाएगा तब गुन गुने पानी से चेहरा धो लें। और चेहरे पर कोई भी मॉइश्चराइज लगा ले। आप तरोताजा महसूस करोगे।


काफी से बना मास्क : How to Exfoliate skin with a mask made coffee


सामग्री : 3 चम्मच काफी, आधी चम्मच शहद, ओर एक चम्मच पानी ।
विधि : एक कटोरी में कॉफी, शहद और पानी को एक साथ मिलाकर मिक्स करें। जब काढ़ा पेस्ट तैयार हो जाए, तो चेहरे को अच्छे से धो कर, पेस्ट को 15 से 20 मिनट तक चेहरे पर लगाकर रखें । मास्क के सूखने पर चेहरा गुनगुने पानी से धो ले और कोई भी मॉइश्चराइजर चेहरे पर लगाइए।


दही और शहद से बना मास्क – How to exfoliate skin with a mask made of curd and honey.


सामग्री : दो बड़ी चम्मच दही और दो बड़ी चम्मच शहद।
विधि : एक कटोरे में दही और शहद को मिक्स कर लें । अच्छे से मिक्स होने पर चेहरे को साफ धोकर लगाइए । 15 से में 20 मिनट तक चेहरे पर रखिए । गर्म पानी से चेहरा धो लें और चेहरे पर कोई भी मॉइश्चराइजर लगा ले। आप अपने आप को तरोताजा महसूस करेंगे । बड़े आसान तरीके हैं, जो हम घर पर मिलने वाली सामग्री को इस्तेमाल कर अपने चेहरे को एक्सफोलिएशन कर सकते हैं ।


बेकिंग सोडा और शहद से बना मास्क / How to Exfoliate skin with a mask made of baking soda and honey –


सामग्री : 3 चम्मच बेकिंग सोडा, 1 चम्मच शहद , 1 विटामिन ई की कैप्सूल।
कांच की कटोरी में एक चम्मच शहद , तीन चम्मच बेकिंग सोडा, विटामिन ई की कैप्सूल डाल कर अच्छे से मिलाइए । और गाढ़ी पेस्ट तैयार कीजिए । मास्क लगाने से पहले चेहरा फेस वाश या साबुन से अच्छी तरह से धो दें। इसके बाद चेहरे और गर्दन पर मास्क लगाकर 20 मिनट तक सूखने दें।


फिर उंगलियों को पानी में भिगोकर धीरे-धीरे चेहरे का मसाज करें। बाद में गर्म पानी से चेहरा धो लें । चेहरे पर कपड़े में बर्फ लपेटकर चेहरे पर घुमाइए । अंत में कोई भी मॉइश्चराइजर लगा लिजिए, जिससे आपका चेहरा निखार जाएगा ।


बेसन और ओट्स का स्क्रब – How to Exfoliate skin with gram flour and oats scrub.


विधि : बेसन और उसका स्क्रब बनाने के लिए एक कांच की कटोरी में दो चम्मच बेसन , दो चम्मच ओट्स पाउडर , एक चम्मच नींबू का रस, एक चम्मच शहद मिला दीजिए । और मिक्स करके अपने चेहरे और गर्दन पर लगा दीजिए । 10 से 15 मिनट के बाद सूखने पर अपने हाथों को थोड़ा गिला कर चेहरे को धीरे धीरे मसाज करें । अंत में कोई भी अच्छा मॉइश्चराइजर अपने चेहरे पर लगा दीजिए । आपकी त्वचा निखर जाएगी।

Benefits of Exfoliation.


बेसन और दूध – How to Exfoliate skin with gram flour and milk.


चेहरे से धूल मिट्टी मिट्टी को निकालने का काम दूध और बेसन करता है । दो चम्मच बेसन, एक चम्मच दूध, एक चम्मच ओट्स को मिलाकर अच्छे से पेस्ट बना लें। पेस्ट बनाने बाद ऊपर दिए निर्देशानुसार स्क्रब करें । बेसन का इस्तेमाल हम अपने शरीर को स्क्रब करने के लिए भी कर सकते हैं । बेसन के स्क्रब से त्वचा की टैनिंग कम होगी । चेहरे पर ग्लो आएगा। बेसन त्वचा की तेल मात्रा को नियंत्रित करेगा। चेहरे के मुहासे कम हो जाएंगे । चेहरे पर आने वाले अनचाहे बाल भी हट जाएंगे ।

एक्सफोलिएशन की जरूरत क्यों पड़ती है ? Why need exfoliation ?


अगर आप छोटे छोटे बालों को को देखेंगे तो उनकी त्वचा निखरी तरल स्वच्छ दिखाई देती है। क्योंकि उनकी त्वचा की कोशिकाओं का पुनर्निर्माण अवधि जल्दी जल्दी आता है। जैसे 3 साल के बालक की त्वचा का पुनर्निर्माण 3 से 4 दिन में होता है । जिससे उनकी त्वचा हमेशा निखरी निखरी रहती है । परंतु जैसे जैसे हमारी उम्र बढ़ने लगती है , त्वचा की कोशिकाओं की पुनर्निर्माण की अवस्था ज्यादा दिन यानी ज्यादा अवधि लेना शुरु करती है।


उदाहरण अगर आप 30 साल के हो जाते हो तो त्वचा का पुनर्निर्माण समय 30 से 50 दिनों का होता है । यही आप 60 साल के हो जाते हो, तो त्वचा के पुनर्निर्माण होने का समय 80 से ज्यादा दिनों तक पहुंच जाता है। जिससे हमारी त्वचा में रूखापन, डेड स्कीम, दाग धब्बे बढ़ने लगते हैं ।


त्वचा का निखार चला जाता है वह अपनी चमक खो देती है । इसलिए एक्सफोलिएशन करना जरूरी होता है। जिससे हमारी त्वचा की स्किन टोन तो बेहतर होता है, हाइपरपिगमेंटेशन भी दूर होता जाता है । डेड स्किन निकल जाती हैं। डीप क्लींजिंग होने से त्वचा में वापस मॉस्चर आ जाता है। How to exfoliate skin.

Skin exfoliate की आवश्यकता क्यों ?

स्किन टोनर की जरुरत :
हम जहां रहते हैं, वहां से बाहर कामकाज के लिए जाते हैं । तब हमारी त्वचा पर धूल, मिट्टी, प्रदूषण, सूरज की किरणों की वजह से त्वचा रंग में बदलाव आ जाता है । यह बदलाव दूर करने के लिए नियमित रूप से एक्सफोलिएशन करना जरूरी है । जिससे चेहरे पर ग्लो आ जाएगा और इवन भी दिखाई देगी ।


हाइपरपिगमेंटेशन से बचने के लिए –
अगर आपके चेहरे पर हाइपरपिगमेंटेशन या दाग धब्बे है । तो एक्सफोलिएशन करने से वह धीरे धीरे पीके पढ़ने लगेंगे और पिगमेंटेशन से या दाग धब्बे से छुटकारा भी मिल जाएगा ।


डेड स्किन को हटाने के लिए –
उम्र के बढ़ने से हमारी त्वचा पर डेड सेल की परत बढ़ने लगती है । अगर हमने कुछ नहीं किया तो त्वचा की चमक को मिटा देता है और भी स्क्रीन की परेशानियों का सामना करना पड़ता है । इसलिए हमें नियमित रूप से त्वचा पर कुदरती चमक लाने के लिए डेड सेल्स निकालने के लिए एक्सफोलिएशन करना जरूरी है ।


डीप क्लींजिंग की जरूरत क्यों है ? Why need deep cleaning.


वैसे तो हम दिन में दो बार अपना चेहरा फेसवास या साबुन से धोते हैं । लेकिन इतना करने से हमारी त्वचा की परत सुधरती नहीं । हम कभी मेकअप करते हैं । कोई ऑयल या केमिकल का इस्तेमाल करते हैं । जो चेहरे के अंदर तक जमा रहता है । उसे साफ करने के लिए जब हम स्क्रबिंग करते हैं, तो वह डीप क्लींजिंग हो जाता है। जिससे त्वचा को हानि पहुंचाने वाले सारे अवशेष साफ होते हैं । और त्वचा साफ सुथरी हेल्थी कोमल तथा तरोताजा दिखाई देना शुरू होती है । त्वचा में निखार यानी ग्लो आना शुरू होता है। 


जैसे अभी हमने देखा कि एक्सफोलिएशन की जरूरत है जो त्वचा को हेल्थी कोमल तथा अनइवन स्किन टोन से छुटकारा दिलाता है । और हमारी त्वचा को लंबे समय तक यंग बनाए रखता है । वैसे ही स्किन एक्सफोलिएशन करने से अन्य लाभ भी हमें मिलते हैं । लेकिन यह लाभ हमें तभी मिलते हैं, जब हम सही तरीके से एक्सफोलिएशन करें ।


अगर हमने स्क्रबिंग सही तरीके से नहीं की, कुछ गड़बड़ हुई, तो स्किन में जलन होना, सूजन होना, रेडनेस जैसी समस्याओं का सामना करना पड़ता है । इसलिए स्क्रीन एक्सफोलिएशन के कुछ नियम है । हमें नियमों के अनुसार स्क्रबिंग करना चाहिए । तो जानते हैं ( How to Exfoliate skin ) कुछ नियमों के बारे में।


Exfoliation करने के कुछ नियम है – Exfoliation rules –


पहला नियम : चुने सही एक्सफोलिएशन
हर इंसान के चेहरे का अलग-अलग प्रकार होता है । एक स्क्रब अगर किसी इंसान को सूट हो गया तो वही स्क्रब किसी दूसरे इंसान को सूट हो जाएगा ऐसा नहीं है । क्योंकि त्वचा के अलग – अलग प्रकार होते हैं अपने स्क्रीन के टाइप को देखकर ही स्क्रब का इस्तेमाल करना है । अगर आपकी त्वचा ऑयली है, तो आप जेल स्क्रब का इस्तेमाल कर सकते हैं । त्वचा रूखी है तो क्रीम स्क्रब का इस्तेमाल कर सकते हैं । और त्वचा संवेदनशील है तो बिना किसी भी माइक्रोबीड्स वाले यानी ( दाना रहित ) जेंटल स्क्रब का इस्तेमाल पर त्वचा को सुंदर बना सकते हैं। 


दूसरा नियम : रात में करें एक्सफोलिएशन –
दिन की भागा दौड़ी के बाद रात में हम घर पर शांत होते हैं । और अपने आप पर अधिक ध्यान देते हैं । वैसे ही त्वचा भी रात में अधिक सक्रिय होती हैं । वह खुद को रिपेयर और रीजेनरेट करती रहती है ।


तीसरा नियम : सही एक्सफोलिएशन का हो तरीका –
जब हम अपने चेहरे को एक्सफोलिएशन करते हैं या करने जाएंगे । तो जो स्क्रब हम करने वाले हैं , उसकी मात्रा सही होना जरूरी है । अगर हम घर के प्रोडक्ट इस्तेमाल कर होम रेमेडीज से स्क्रब करने वाले हैं । तो हर रेमेडीज की मात्रा सही होनी चाहिए ।

या अगर आप दुकान से खरीद कर बाहर का स्क्रब या केमिकल स्क्रब इस्तेमाल करने वाले हैं तो मटर के दाने इतना स्क्रब लेकर उसे हल्के हाथों से धीरे-धीरे मजाक अपने चेहरे पर करना चाहिए । जोर जोर से रगड़ने पर चेहरे को हानि पहुंच जाती है । इसलिए धीरे-धीरे स्क्रब करने के बाद गर्म पानी से अपना चेहरा धो लें । और बाद में कोई भी मॉइश्चराइजर लगा लीजिए ।


एक्सफोलिएशन से त्वचा पर नुकसान – Disadvantage of skin exfoliation.


एक्सफोलिएशन से त्वचा चमकदार तो बनती है। लेकिन अधिक रूप में अगर , हम एक्सफोलिएशन करें तो त्वचा को ज्यादा नुकसान पहुंचता है । आप चाहे फिजिकल एक्सफोलिएशन करें या केमिकल एक्सफोलिएशन करें । आपकी त्वचा को ज्यादा नुकसान पहुंचाता है । अगर आप इसकाअधिक इस्तेमाल करें । तो जिससे करे तो त्वचा ठीक होने में थोड़ा समय लग सकता है ।


ज्यादा एक्सफोलिएशन से त्वचा का हाल –
एक्सफोलिशन करने से त्वचा की कोशिकाओं की पुनर्निर्माण होने की संख्या बढ़ जाती है । नई कोशिकाएं की परत चेहरे पर आती है। जिससे रंग निखरता है । लेकीन अधिक इस्तेमाल करने से त्वचा में लाल धब्बे दिखते है। साथ में खुजली या जलन होने लगती है । ज्यादा स्क्रबिंग से त्वचा छिली हुई दिखती है ।


फिर जहां हम एक्सफोलिएशन करते हैं, वहां सूजन या पफीनेस आता है । त्वचा संवेदनशील बन जाती है। ज्यादा एक्सफोलिएशन से त्वचा में जो नमी होती है, वह निकल जाती है । त्वचा का प्राकृतिक निखार चला जाता है । अगर आपको पिंपल्स है और आप एक्सफोलिएशन करते हैं । स्क्रीन की वजह से पिंपल बढ़ने का खतरा बढ़ जाता है । त्वचा अपनी रोम छिद्रों को ठीक करने के लिए ऑल छोड़ती है । जिससे आपके रोम छिद्र त्वचा के बंद हो जाते हैं और पिंपल के दाग धब्बे बढ़ने लगते हैं ।

ज्यादा एक्सफोलिएशन करने से आपकी त्वचा अनहेल्दी ओर डीहाइड्रेट दिखाई देगी ।
त्वचा में पानी की कमी बढ़ जाती है । आपकी त्वचा पतली और रुखी दिखने लगेगी । त्वचा की जलन को शांत करने के लिए बर्फ लगाना चाहिए या एलोवेरा जेल चेहरे पर लगा सकते हैं । मॉइश्चराइजर का इस्तेमाल कर सकते हैं । इससे भी अगर आपकी त्वचा में सूजन या इंफ्लेमेशन, दर्द, लाल दाग बने रहे है तो डॉक्टर के पास जाकर इलाज करना जरूरी है।
अगर आप इन सावधानियों को तथा नियमों को ध्यान में रखते हुए नियमित रूप से स्किन एक्सफोलिएशन करें तो आपकी त्वचा अधिक समय तक कोमल, सुंदर, यंग दिखाई देगी ।

तो आशा करते हैं आज का टॉपिक How exfoliate skin जरूर पसंद आया होगा । अल्पिता बासा ।

Share

Leave a Comment