कैंडिड v6 टैबलेट -Candid v6 tablet uses in Hindi

कैंडिड v6 टैबलेट -Candid v6 tablet uses in Hindi

आज कल बदलती जीवनशैली मे अनेको प्रॉब्लम बढ़ रही है । जिनमे से प्राइवेट पार्ट की हो या अन्य अंगों की । हर तरफ से परेशानी खड़ी कर देते हैं । जिनसे बचने के लिए हमे किसी टेबलेट या मेडिसिन का सहारा लेना ही पड़ता हैं । इसी कड़ी मे वेंजाइना मे खुजली के लिए कैंडिड वी6 टैबलेट एक जानी-मानी दवा है जो वेंजाइनल इन्फेक्शन के इलाज में सहायक होती है। यह टैबलेट मुख्य रूप से महिलाओं के इस विशेष समस्या के इलाज के लिए प्रयोग की जाती है ।

यह टेबलेट फंगल इन्फेक्शन के साथ साथ दाद, खाज, खुजली, पैरो मे दरारे, मौखिक छालो आदि के लिए भी कारगर मानी जाती है । इस टेबलेट का मुख्य घटक  Clotrimazole  है । जो ऐसे रोगो के रोकथाम के लिए उपयोगी है । तो चलिए जानते हैं इस टेबलेट के बारे में –

कैंडिड वी6 टेबलेट का उपयोग –

Candid V6 एक ऐसी दवा है जिसकी खुराक को डॉक्टर की सलाह के अनुसार दिया जाता है यह दवा आपको मेडिकल स्टोर पर मिल जाएगी इस दवा को इस्तेमाल करने का सबसे बड़ा कारण है फंगल इन्फेक्शन, इस दवा को मरीज की उम्र और जेंडर आदि के आधार पर देख कर दिया जाता है, इसके आधार पर ही यह तय किया जाता है की दवा की खुराक कितनी होगी और मरीज की मूल समस्या आखिर है क्या ? और दवा को आखिर कैसे देना चाहिए।

यह एक ऐसी दवा है जिसका उपयोग तब किया जाता है जब योनि संक्रमित हो जाती है अगर आपको जलन खुजली त्वचा में दरार आदि से परेशानी होती है तो आप दवा का इस्तेमाल कर सकते हैं। इस दवा के इस्तेमाल से आपके अंदर के बैक्टीरिया खत्म हो जाते हैं, इस दवा का इस्तेमाल गर्भवती महिलाएं कर सकती हैं यह उनके लिए सुरक्षित है और जिन महिलाओं को हाल ही में बच्चा हुआ है वह भी इसका इस्तेमाल कर सकती है

इस दवा के कई सारे फायदे हैं तो कुछ नुकसान भी हैं जिनके बारे में हम आगे बात करेंगे तो चलिए दवा के बारे में और डिटेल में जानकारी लेते हैं।

पढ़े – लिंग बढ़ाने की आयुर्वेदिक oil, tablet एव 5 देशी दवा

Candid v6 tablet के फायदे : 

यह टेबलेट कई रोगो के रोकथाम के लिए लाभकारी है खास तौर पर इन्फेक्शन की प्रॉब्लम हैं । चाहे तो प्राइवेट पार्ट मे या शरीर के अन्य अंगों पर । तो चलिए जानते हैं कैंडिड वी6 टेबलेट के फायदे के बारे में –

इस दवा को आप फंगल इन्फेक्शन में इस्तेमाल कर सकते हैं।

इस दवा को आप दाद पर इस्तेमाल कर सकते हैं खुजली पर इस्तेमाल कर सकते हैं।

अगर आपको स्किन इन्फेक्शन की प्रॉब्लम है तो आप उसके लिए इस दवा का इस्तेमाल कर सकते हैं।

अगर आपको आपकी नाभि में इंफेक्शन है तो आप इस दवा का इस्तेमाल कर सकते हैं।

अगर आपकी योनि में सूजन आ गई है तो अभी तब आपका इस्तेमाल कर सकते हैं।

अगर आपकी पेनिस में इंफेक्शन है तो आप इस दवा का इस्तेमाल कर सकते हैं।

आप इस दवा का इस्तेमाल अपने कान के इंफेक्शन के लिए भी कर सकते हैं।

पढ़े – हार्ट के लिए पतंजलि की दवा – 7 सबसे अच्छी दिल की दवा

Candid v6 tablet के नुक्सान –

जहा ये टेबलेट उपयोगी एव फायदेमंद है वही कुछ नुकसान भी दे सकती हैं । इसलिए इनका उपयोग करने से पहले योग्य डॉक्टर की सलाह लेना आवश्यक है । 

आपको इस दवा को लेने से उल्टी आ सकती है।

अगर आपकी योनि में इंफेक्शन है और अपने इस दवा का इस्तेमाल किया है तो हो सकता है आपकी योनि में खून आने लगे।

इस दवा को लेने से आपको स्किन रैशेज हो सकती है।

इस दवा के इस्तेमाल से आपकी त्वचा लाल हो सकती है।

आपने इस दवा को जहां इस्तेमाल किया है वहां पर जलन या चुभन भी महसूस हो।

पढ़े – लिबिडेक्स कैप्सूल के फायदे, नुकसान एव उपयोग कैसे करें

किन बीमारियों में Candid v6 का इस्तेमाल ना करे : 

अब हम उन रोगों के बारे में बात करेंगे जिन रोगों के होने पर आपको इस टैबलेट का इस्तेमाल नहीं करना, अगर आप ऐसा करते हैं तो इससे आपकी तबीयत बिगड़ सकती है और अगर करना जरूरी है तो आप डॉक्टर से सलाह लेकर ही इस्तेमाल करें।

अगर आपके पेट में दर्द है तो उसे दवा का इस्तेमाल न करें।

अगर आपको शुगर की बीमारी है तो इस दवा का इस्तेमाल न करें।

अगर आपको AIDS है तो इस दवा का इस्तेमालना करें।

पढ़े – सुप्राडिन टेबलेट के फायदे, नुकसान एव उपयोग विधि

Candid v6 tablet इस्तेमाल कैसे करे ? :

अब हम आपको कैंडिड v6 टेबलेट का इस्तेमाल बताएंगे यहां पर हम आपको मुंह में फंगस हो जाने पर इस दवा का इस्तेमाल कैसे करें ? इससे हम आपको समझाएंगे कि आप इस दवा को कैसे ले सकते हैं

अगर आपको बुजुर्ग व्यक्ति हैं जिसके मुंह में फंगस इंफेक्शन हो गया है तो आपको इसे डॉक्टर को दिखाना है और डॉक्टर की सलाह के अनुसार इस दवा को लेना है, आप इस दवा की अधिकतम मात्रा 10 mg ले सकते हैं इस दवा को आपको 5 बार लेना है 2 हफ्तों तक और डॉक्टर के निर्देशों का पालन करना है

कैंडिड वी6 टेबलेट की खुराक –

इस गोली की नॉर्मल डोज को 7 दिन तक 100 एमजी लेना होता है और अगर आप इसकी डोज एक बार में लेना चाहते हैं तो आप 500 एमजी ले सकते हैं। जब मरीज इसका उपयोग करने जाता है तब इसके उपयोग से पहले उसको अपने हाथ धो लेना चाहिए। 

अगर आप एक वयस्क इंसान हैं जिसको फंगल इन्फेक्शन की बीमारी हो गई है आप इस दवा की 10 mg मात्रा ले सकते हैं आपको इस दवा को 5 बार लेना है 2 हफ्तों तक।

अगर आप की उम्र 20 साल से कम है और आपको इंफेक्शन हुआ है तब भी आपको इसकी मात्रा 10 mg ही लेनी है आप इसका इस्तेमाल 2 हफ्तों तक कर सकते हैं 5 बार।

यदि किसी बच्चे को मुंह में इंफेक्शन हुआ है जिसकी मृत्यु से 12 साल तक की है तो उसको डॉक्टर को दिखाएं और उसकी दवा 10 mg देनी है मुंह के द्वारा 2 हफ्तों तक देनी है इस दवा को आप 5 बार दे सकते हैं।

Note : हमने आपको दवा लेने का तरीका और अवधि बताई है लेकिन हम आपसे यही कहेंगे कि अगर आपको किसी प्रकार की बीमारी है जिसमें Candid v6 tablet इस्तेमाल में ली जा सकती है आप इसका इस्तेमाल डॉक्टर की सलाह से ही करें इससे आपको अधिक फायदा मिलेगा।

( नोट – इस लेख मे दी गई जानकारी एक सामान्य इन्फॉर्मेंशन है । और न ही वेबसाइट कोई स्वामित्व रखती हैं । इस टेबलेट का उपयोग करने से पहले योग्य डॉक्टर से सलाह अवश्य ले । )

पढ़े – धातु गाढ़ा करने की आयुर्वेदिक दवा पतंजलि – वीर्य पतलेपन की दवा

FAQs : 

Q क्या गर्भवती महिलाएं इस दवा का इस्तेमाल कर सकतीहैं ? 

A जी हम गर्भवती महिलाओं के लिए दवा बिलकुल सेफ है।

Q इस दवा का इस्तेमाल कब किया जाता है ? 

A यह दवा का इस्तेमाल आप फंगल इन्फेक्शन होने पर कर सकते हैं।

Q क्या कैंडिड v6 टेबलेट से साइड इफेक्ट हो सकते हैं ? 

A हो सकता है इस दवा को इस्तेमाल करते समय आपकी त्वचा लाल पड़ जाए या आपकी योनि से खून आने लगे।

Q candid V6 tablet का इस्तेमाल खाने से पहले करें या बाद ? 

A इस दवा का इस्तेमाल खाने के बाद करना सही रहता है और इसी चीज का सुझाव दिया जाता है।

Q क्या पीरियड्स के समय इस टैबलेट का इस्तेमाल किया जा सकता है ? 

A नही, आपको ऐसा नहीं कारण है अगर आप ऐसा करती है तो दावा का कोई असर नहीं दिखेगा वे भी रक्त के साथ बाहर आ जायेगी।

अंतिम शब्द : आज किस आर्टिकल में हमने आपको candid v6 tablet uses in Hindi के बारे में जानकारी दी है हमने आपको इस टैबलेट से होने वाले फायदे और नुकसान के बारे में बताया है । और साथ ही हमने यह भी बताया है कि आपको किन बीमारियों में इस टैबलेट का इस्तेमाल नहीं करना चाहिए। जिससे आपको नुकसान न पहुंचे अगर आपको हमारी दी हुई जानकारी पसंद आई है तो हमें नीचे कमेंट सेक्शन में जरूर बताएं और ऐसे ही स्वास्थ्य से जुड़ी जानकारी के लिए हमारे साथ बने रहे।

Share