डिलीवरी के बाद वजन कम कैसे करें । Pregnancy ke baad weight loss.

Pregnancy ke baad weight loss tips in hindi.


Pregnancy ke baad weight loss. माँ बनना एक नारी के लिए सबसे बड़ा सुख होता है । मगर प्रसव के बाद कुछ परेशानियां भी खड़ी हो जाती है । जैसे वजन या मोटापे का बढ़ना, पेट का बढ़ना आदि । डिलीवरी के बाद वजन बढ़ने के कई कारण हो सकते है जैसे नवजात शिशु के देखभाल में खुद को भूल जाना, खानपान, व्यायाम न करना, तनाव आदि । आप Pregnancy ke baad weight loss tips अपनाकर कम कर सकते है ।


सिजेरियन डिलीवरी के बाद मोटापा या पेट बढ़ने के चांसेस ज्यादा होते है । मगर कभी कभी नार्मल डिलीवरी के बाद भी वेट या पेट बढ़ने के आसार बन जाते है । एक आम धारणा है कि प्रसव के बाद शरीर कोरे मटके की तरह हो जाता है । यानी गर्भावस्था के बाद शरीर पर विशेष ध्यान देना चाहिए ।


किसी जमाने में संयुक्त परिवारो की महिलाएं बच्चा व जच्चा की अच्छे से देखभाल करती थी मगर आजकल बदलती जीवनशैली में प्रसव के बाद महिलाएं खुद की केअर करना भूल जाती है केवल नवजात के आवागमन की खुशी में मशगूल रहती है । उनके हार्मोन्स में तेजी से बदलाव होता है फलस्वरूप डिलीवरी के बाद मोटापा बढ़ जाता है तो चलिए जानते है Pregnancy ke baad weight loss tips in hindi.

Also read

एक यूनिट में कितना खून होता हैं । 1 unit blood in ml.

फलोपियन ट्यूब ब्लॉकेज के कारण व उपचार । Fallopian tube blockage in hindi.


डिलीवरी के बाद वजन बढ़ने के कारण |


डिलीवरी के बाद महिलाओं में अक्सर मोटापा बढ़ जाता है । या उनका पेट बढ़ जाता है । वजन बढ़ जाता है । इनके कई कारण हो सकते है जैसे –
● सिजेरियन डिलीवरी
● व्यायाम न करना ।
● हार्मोन्स में बदलाव होना ।
● ठीक से शिशु को स्तनपान न कराना ।


● कई बार असंतुलित थायराइड के कारण भी वजन बढ़ने का मुख्य कारण बनता है। इसलिए हमें समय-समय पर थायराइड चेक कराते रहना चाहिए । और दवाओं को नजरअंदाज नहीं करना चाहिए।
● अधिक तनाव के कारण भी मोटापा बढ़ जाता है ।


● प्रेगनेंसी के बाद महिलाओं को अधिक मात्रा में घी ड्राई फ्रूट वगैरह दिया जाता है जो भी वजन बढ़ने का कारण बन सकता है इसलिए हमें सीमित मात्रा में सभी चीजों का प्रयोग करना चाहिए।
● प्रेगनेंसी के बाद हमें कई बार यह समस्या हो जाती है खुद परेशान हो जाते हैं बच्चों की तरफ ध्यान देते हुए हम खुद पर ध्यान नहीं दे पाते हैं।
● प्रेगनेंसी के बाद आराम जरूरी है लेकिन हर वक्त आराम करने से भी शारीरिक गतिविधियों पर प्रभाव पड़ता है और वजन बढ़ने का कारण बनता है ।


Pregnancy ke baad weight loss क्यो आवश्यक है ?


प्रसव के बाद जब वजन बढ़ जाता है तो कुछ जोखिम बढ़ सकते है । यानी बढ़ा हुआ वजन आपके लिए जोखिमकारक हो सकता है । यानी आपका ओवरवेट अगली डिलीवरी में प्रॉब्लम खड़ी कर सकता है । ज़्यादा वजन या मोटापा होने पर सिजेरियन डिलीवरी की ओर संकेत देता है ।


ओवर वेट आपको शारिरिक रूप से भी परेशान कर सकता है जैसे डाइबिटीज टाइप 2, हार्ट प्रॉब्लम, हाई ब्लड प्रेशर आदि । अगली प्रेग्नेंसी भी सुरक्षित हो इसलिए मोटापे पर नियंत्रण आवश्यक है ।


Pregnancy ke baad weight loss कब करें ?


जैसा कि आप सभी जानते है कि प्रसव के बाद शरीर रिकवर होने में समय लेता है । ऐसे में मोटापे की बात करना गलत है । डॉक्टर्स के अनुसार प्रेग्नेंसी के बाद हमारा शरीर रिकवर होने में करीब 6 से 8 सप्ताह लेता है । यानी लगभग 2 महीने का समय लगता है ।


इन अवधि में केवल नियमित रूप से स्तनपान एवं नार्मल आवश्यक शारीरिक खानपान पर ध्यान दे । प्रसव के 2 महीने बाद योग एवं अन्य शारीरिक गतिविधि कर सकते है ।


डिलीवरी के बाद वजन कम कैसे करें । pregnancy ke baad weight loss tips in hindi.


डिलीवरी के बाद कई महिलाओं का वजन बढ़ जाता है जो परेशानी का कारण बन जाता है । ऐसे में आपको कुछ दादी माँ के टिप्स बताने जा रहे हैं जिसे आप बढ़ा वजन कम कर सकती है । इन उपायों से बढ़ते वजन पर कंट्रोल कर सकती है । तो चलिए जानते है Pregnancy ke baad weight loss in hindi.


● बच्चे होने के बाद हमें अजवाइन (Ajawin water ) का पानी पीना चाहिए
● यदि डिलीवरी के बाद ब्लेडिंग नहीं हो रहा है तो भी हमें एक माह तक पेड़ लेना चाहिए। जिससे हमारे शरीर में हवा नहीं भरेगी और मोटापा नहीं बढ़ेगा।


● गर्भावस्था के बाद हमें ग्रीन टी का भी प्रयोग करना चाहिए। ग्रीन टी हमें वजन कम करने में सहायता प्रदान करती है ।
● खाना खाने के बाद हमे वॉक करना चाहिए, सोए नहीं, वजन बढ़ने का ये भी एक कारण है।
● बच्चे होने के बाद हमें कम से कम एक से डेढ़ माह बाद व्यायाम करना है जिससे कि बच्चों को स्तनपान से जो कैलरी मिल सकती है वह पूर्ण मात्रा में मिले।


● बच्चे होने के बाद हम दालचीनी के टुकड़ों को पानी में डालकर उबालकर उस पानी को पीने से भी वजन कम होता है।
● कई बार महिलाएं अपने बढ़ते वजन को देखकर के खाने में कटौती करती है । तो हमें खाने में कटौती नहीं करना है, बल्कि हमें संतुलित आहार का प्रयोग करना है । खाने में कटौती ही हमारे वजन के बढ़ने का एक मुख्य कारण है।
● हमें खाना थोड़ा-थोड़ा करके दिन में चार-पांच बार खाना खाना है। लेकिन एक साथ पेट भर कर यह भी डाइट नहीं लेनी है यह भी हमारे वजन का कारण है।

Pregnancy ke baad vajan kam kaise karen.

● प्रेगनेंसी के बाद बढ़ते हुए वजन की टेंशन में आप किसी प्रकार की दवा या ना ले । इससे बच्चों की सेहत पर गलत असर पड़ता है । आप घरेलू नुक्से को अपनाये जो काफी फायदेमंद होते हैं।
● एक चम्मच मेथी दाना एक गिलास पानी में भिगोकर रखें रात भर भीगने के बाद सुबह उसे गुनगुना गर्म कर ले । यह जैसा पी सकते हैं उतना गर्म करके और धीरे-धीरे चाय की तरह पी ले जिससे पेट जल्दी से कम होता है।


● कई महिलाएं अपने फिगर चेंज होने के डर से बच्चों को स्तनपान नहीं करातीं है । उससे भी वजन बढ़ता है क्योंकि स्तनपान कराने से शरीर में मौजूद फैट सेल्स और कैलोरी दोनों मिलकर दूध बनाने का काम करते हैं। जिससे बिना कुछ करे ही वजन अपने आप घट जाता है।
● नींद समय पर पूरी ले नींद पूरी लेने से हमारे शरीर को शारीरिक आराम मिलता है जिससे वजन कम बढ़ता है।
● बाहर का फास्ट फूड नाश्ता सोच समझ कर करें जिससे आप अपने शरीर को संयमित रख सकेंगे।


● गर्भावस्था के बाद 40 दिन तक आराम करना चाहिए है उसमें भी शरीर को थोड़ा बहुत काम करने में लगाएं । मगर 24 घंटे लेटे हुए ही नहीं रहना भारी पड़ सकता है । कारण हमारा खाना नहीं पचेगा और पेट भर जाएगा ।
● प्रतिदिन एक सेब खाने से भी आप अपने आप को मोटापे से बचा सकते हैं क्योंकि सेव में पैक्टिंग होता है। जो पेट के साथ-साथ शरीर की चर्बी कम करता है।
● सुबह सुबह खाली पेट गुनगुने पानी में आधा नींबू और आधा चम्मच शहद डालकर पीने से भी वजन कम होता है।
● कैलोरी कम करें एवं प्रतिदिन सैर करें । यदि आप बाहर नहीं जा सकती तो घर पर ही जितना सम्भव हो उतना चले ।

caesarean delivery ke baad weight loss tips in hindi.


सिजेरियन डिलीवरी के बाद वजन कम कैसे करें । caesarean delivery ke baad weight loss tips.


सिजेरियन डिलीवरी के बाद वजन बढ़ने की सम्भावना रहती है । ऐसे में वजन कम करना काफी मुश्किल है । इनके लिए आप अपने डॉक्टर से परामर्श लेना उचित समझे । आज हम कुछ टिप्स बता रहे हैं तो अपने घर पर रहकर आसानी से कर सकती हैं जैसे –
● शिशु को स्तनपान कराए ।
● तनाव बिल्कुल कम करें ।
● अच्छी नींद ले ।
● हेल्थी फ़ूड ले जैसे फल व सब्जी ।
● पानी पीएं ।
● ज्यादा आराम करने के बजाय थोड़ा सैर करें ।
● डॉक्टरी सलाह से योग व्यायाम भी कर सकती हैं ।


डिलीवरी के बाद पेट कम करने के उपाय । Pregnancy ke baad weight loss tips.


डिलिवरी के बाद पेट का बढ़ना आम होता है क्योंकि गर्भाशय बढ़ने के कारण ऊपरी त्वचा भी फैलती है । बच्चा होने के यही त्वचा वापस सिकुड़ने में समय लेती है । कभी कभी सही तरीके से खानपान न करने पर पेट कम नहीं हो पाता है । तो चलिए जानते है pregnancy ke baad weight loss tips –


● पानी को धीरे-धीरे मुँह लगा कर पीना चाहिए, ऊपर मुहँ करके पानी पीने से वजन बढ़ता है। पेट फुलता है। खाने को हमें धीरे-धीरे चबाकर खाना चाहिए जिससे वजन भी नहीं बढेगा और खाना आसानी से पचेगा।
● बच्चों को स्तनपान कराने में आसानी होगी।
● प्रेगनेंसी के बाद हमें कम से कम एक महीने तक एक टाइम शाम का खाने में थोड़ा खींचडी जरूर लेना चाहिए । दोनों टाइम हैवी खाने से वजन बढ़ने लगता है।


● पेट पर एक साधारण कपड़ा बेल्ट की तरह बांधकर रखें या बेल्ट का प्रयोग करें । जिससे कि यह हमारे पेट के आकार को सामान्य रूप देता है और गर्भावस्था के बाद में या हमारे पीठ के दर्द में भी सहायक होता है।
● दालचीनी और लॉन्ग तीन चार लोग थोड़ा सा दालचीनी पाउडर को पानी में, उबालकर फिर उसे ठंडा करके पीने से जल्दी ही आपके पेट का आकार कम होता नजर आएगा।


● मोटापा कम करने के लिए आप पेट पे बांधने वाले बैल्ट का उपयोग कर सकते हैं । यदि आपकी नॉर्मल डिलीवरी है तो पेट कम करने के लिए सूती का कपड़ा भी लपेट सकती ।


डिलीवरी के बाद कितना पानी पीना चाहिये ?


कई महिलाएं कंफ्यूज में हो जाती है कि हमें गर्भावस्था के बाद पानी ठंडा पीना चाहिए या गर्म । तो दोस्तों आप एक जैसा पानी पीजिए कभी गर्म कभी ठंडा नहीं, अभी गुनगुना पीना है तो आप गुनगुना ही जितनी बार पीए उतनी बार, गुनगुना ही पीना है । Delivery ke baad नॉर्मल पानी पीए । जैसे घड़ा भर के रख लिया घड़े का पानी पीजिए । मटकी का पानी एकदम चिल्ड मत पीजिए ।

आप चाहे तो चाय दूध थोड़ा गर्म पी सकते हैं। कभी-कभी दाल का पानी भी आप, गरम पी सकते हैं इससे आपका वजन कम होगा और बच्चों को स्तनपान कराने में भी सहायता होगी। खुद की सेहत का ख्याल रखते हुए दिन में 8 से 10 गिलास पानी जरूर पीना चाहिए जिससे यह हमारे शरीर में मोटापे को बढ़ने नहीं देता है।


प्रेंग्नेंसी के बाद क्या खाएं । After pregnancy care tips.


प्रेग्नेंसी के बाद बाद संतुलित आहार का सेवन करना फायदेमंद होता है । अगर हम बात करे कि प्रेग्नेंसी के तुरंत बाद क्या खाएं तो प्रेग्नेंसी के दौरान जो कैलोरी बर्न हुई है उसे रिकवर करने के हल्दी का दूध व घी, फलों के साथ ओटमील, अंडा, फल – सब्जी का सेवन करना सेहत के लिए हितकर है । हालांकि पुरानी परंपरा के अनुसार अजवाइन, घी, सोंठ व गोंद के लड्डू आपकी बॉडी को जल्दी रिकवर करने में मदद करते हैं । Delivery ke baad बढ़े वजन को नियंत्रित करने के निम्न आहार उपयोगी हो सकता है – pregnancy ke baad weight loss tips.


टमाटर से हमारे शरीर के लिए फायदेमंद है इसमें प्रकृतिक शुगर मिली होती है इसीलिए ब्लड प्रेशर को सामान्य बनाए रखता है सभी महिलाओं को मीठा खाने की इच्छा बार-बार नहीं होती है। टमाटर में दोस्तों लाइकोपिन और बीटा कैरोटीन होता है जो कोलेस्ट्रोल को कम करता है और चपायपच को बढ़ाते हुए वजन को कम करता है।


लहसुन की भी मात्रा हमारे वजन को कम करने में सार्थक होती है । हमें प्रतिदिन सुबह सुबह 2 से 4 गुली को चबाकर खाना है । और उसके बाद लहसुन की गंध मुंह से ना आए इसलिए हमें नींबू पानी पी लेना है। नींबू एंटीबायोटिक होता है इसलिए किसी प्रकार से नुकसानदाई नहीं होता है। हम सीमित मात्रा में नींबू का प्रयोग करें अधिक खट्टा भी नहीं हो।


● आप ऐसी चीजों का सेवन करें जो आपके पोषण में कैलोरी कम हो साथ ही भोजन में प्रोटीन की मात्रा ज्यादा और कार्बोहाइड्रेट कम होना चाहिए । ओमेगा -3 फैटी एसिड, कैल्शियम, प्रोटीन और फाइबर युक्त चीजें खाएं । जैसे – अंडे चिकन, लीन, मीट, टूना व साल्मन मछली, बिन्स और साबुत अनाज आदि का प्रयोग करें, जिससे भी आपका वजन कम हो सकता है ।


डिलीवरी के बाद गोंद के लड्डू के फ़ायदे । Delivery ke baad Gond ke laddu ke fayde.


प्रेगनेंसी के बाद गोंद के लड्डू खाना फायदेमंद होता है । गोंद के लड्डू में भी ज्यादा मात्रा में घी और ज्यादा ड्राई फ्रूट होने की वजह से भी हमारा वजन बढ़ सकता है । इसीलिए हमें इसमें दोस्तों निमित्त मात्रा में आहार लेना चाहिए सभी चीजों का समावेश एक सीमित मात्रा में होना चाहिए अधिक मात्रा में नहीं।


सामग्री – हमें 2 किलो आटा गेहूं का तो उसमें हमें शक्कर भी 2 किलो लगेगी, घी 3 किलो समथिंग लगेगा, और 350 ग्राम बादाम, 350 ग्राम गोंद, 350 ग्राम खोपरा, 350 ग्राम काजू पिस्ता मिक्स, थोड़ा सा दालचीनी पाउडर, थोड़ा सा यदि हमने अलग से नहीं बनाई है तो हम सूठ का पाउडर भी इसमें डाल सकते हैं।


Pregnancy ke baad गोंद के लड्डू बनाने की विधि –

पहले हम घी को गर्म करके उसमें गोंद को फुला लेगे, फिर भी डाल कर मोदी आज पर आटा सीख लेंगे हल्का मालाणी चॉकलेटी कलर हो जाए तब तक उसे देखते रहेंगे फिर उसमें हम 200 ग्राम खसखस धीरे-धीरे थोड़ी-थोड़ी करके डालते रहेंगे। ढाई सौ ग्राम काली मिर्ची को छोटी छोटी दाल के दाने जैसा बना लेंगे और उसे भी घी मे तल के हम आटे में मिक्स कर देंगे जिससे हमारे आंखों की रोशनी सही रहे, खसखस से हमारा दिमाग अच्छा रहे।


जब आता सीख जाए तब हम इसे एक जोड़े बर्तन में निकाल लेंगे उसके ठंडे होने का इंतजार करेंगे । जब ठंडा हो जाए तो इसमें हम कैसे हुए नारियल का बुरादा लेंगे सारे ड्राई फ्रूट मिलाएंगे । उसके बाद हम इतने बुरा शक्कर बुलाएंगे फिर हम इसके अंदर सब मिक्स करके एक जैसा और लड्डू बनाएंगे । अगर यदि लड्डू सूखे उड़ रहे हैं तो हम उसमें थोड़ा सा घी और डालकर के लड्डू बनाएंगे हम खा सके उस साइज के छोटे-छोटे लड्डू बनाए और प्रतिदिन का एक लड्डू खाए इससे वजन कम बढ़ेगा । गोंद का सेवन करने से सूजन लोधी गुण जिसमें अर्थराइटिस को नियंत्रित करने में सहायक होता है। रीढ की हड्डी, हड्डियों में मजबूती एवं कमर के दर्द में गोंद लाभकारी होता है।


लड्डू को बनाकर हमें एक एयर टाइट डिब्बे में रख देना चाहिए जिससे कि यह खराब ना हो दोस्त तुम जितना हम से हो सके हमने अच्छे से अच्छे टिप्स बताने की कोशिश किए जिससे आपका मोटापा कम हो जाए आप अपनी एक निश्चित राय लेकर और डॉक्टरों की सलाह से इन चीजों का उपयोग करें जिससे आप अपने मोटापे को कम करके अपने आप को खुशनसीब महसूस कर सके ।


प्रसव के बाद अजवायन । Benefits of Ajwain Water.


डिलीवरी के बाद अजवाइन एक रामबाण औषधि के रूप में कार्य करता है । अजवाइन का सेवन आप किसी भी रूप में सकते हैं । इनका पानी पीना न केवल पेट को कम करता है बल्कि वजन नियंत्रित करता है । अजवाइन प्रसव के बाद पीरियड के दौरान होने वाले कमर दर्द एवं बदन दर्द से भी राहत देता है ।


अजवाइन पेट विकार जैसे गैस, अपचन जैसे प्रॉब्लम से राहत देता है । एंटी ऑक्सीडेंट तत्वो से भरपूर अजवाइन प्रसव के बाद पीना सेहतमंद होता है । इसे पानी में उबालकर पिया जा सकता है । एक चम्मच जौ का पाउडर और एक चम्मच अजवाइन का पाउडर कम से कम 7 से 8 गिलास पानी डाल कर उबाल ले फिर उसे ठंडा कर ले। आप इस पानी को पूरे दिन पी सकते हैं।


डिलीवरी के कितने दिन बाद पेट कम होता है ?


डिलीवरी के बाद आपका पेट नरम एवं फुला फुला सा रहता है । दिखने में मोटा लगने के कारण आमतौर पर महिलाएं परेशान हो जाती है । ऐसा लगता है कि उनकी सुंदरता गायब हो गई है । पेट बढ़ने का एक कारण आनुवंशिकता भी होता है ।


​गर्भावस्था के दौरान गर्भाशय के बढ़ने के कारण स्किन भी बढ़ने लगती है जिसे डिलीवरी के बाद सिकुड़ने में समय लगता है । डॉक्टर्स के अनुसार इस त्वचा को सिकुड़ने में करीब 7 से 8 सप्ताह लगते है । ऐसे में आपको धैर्य रखना आवश्यक है ।


नवजात शिशु का जन्म होने के बाद लगभग 6 किलो तक का वजन कम हो जाता है । जब आपकी बॉडी से द्रव बाहर निकलने पर वजन का कम होना जायज है । इस दौरान हार्मोन भी बदलते हैं । खानपान से आपके वजन में बढ़ोतरी होती है ।। शिवा सिंहल आबूरोड ।।

Leave a Comment