Site icon Global Health Tricks

फिगर बढ़ाने की अंग्रेजी दवा । स्तनों को सुडौल बनाने के 5 बेस्ट तरीक़े

Figure Badhane ki angrezi dawa.

आज कल की चकाचौंध भरी आधुनिक जिंदगी में फिगर आकर्षक का केंद्र बनता रहा है । विशेष रूप से जब बात होती हैं मॉडलिंग की बात होती हैं । इसी प्रकार कुछ लड़कियां / महिलाएं खुद को आकर्षक बनाने के लिए अपने ब्रैस्ट को बड़ा बनाना चाहती है । यही कारण है कि वह फिगर बढ़ाने के लिए अंग्रेजी दवा का इस्तेमाल करती है । यह दवा तुरंत परिणाम देने वाली होती है ।

Figure न बढ़ने के कई कारण होते है जिसमें मुख्य हार्मोन्स होता है । एक्सपर्ट का कहना है कि लेडीज के शरीर में टेस्टोस्टेरोन की अधिकता के कारण ब्रेस्ट का विकास नहीं होता है । वही अनुवांशिकता भी एक बड़ा कारण है जिससे उनके मातृक गुणों का समावेश होता है । जिस पर हम पिछले लेखों में चर्चा कर चुके हैं तो चलिए जानते है – फिगर बढ़ाने की अंग्रेजी दवा –

पढ़े – पतंजलि बवासीर क्रीम एवं 5 बेस्ट आयुर्वेदिक दवा

फिगर बढ़ाने के तरीके ? Breast ko badhane ke tarike.

लड़कियों / महिलाओं की सुंदरता में तभी निखार आता है तब उनके स्तन बड़े हो । लेकिन कुछ शारिरिक एवं आनुवंशिक कारणों से स्तनों की वृद्धि रुक जाती है । जिससे वो छोटे दिखाई देते हैं । हालांकि ये कोई परेशानी की बात नहीं है । लेकिन सुंदर एवं सुडौल स्तन सुंदरता में निखार लाता है ।

ब्रैस्ट का विकास तभी होता है जब उनकी बॉडी में हार्मोन का स्त्रावित होता है । इन हार्मोन के कारण स्तनों में उभार दिखाई देता है । यह उभार लगभग स्थाई होता है । हालांकि मासिक धर्म चक्र के दौरान उभार बढ़ता है । स्तनों को सुंदर एवं सुडौल बनाने के लिए कुछ बदलाव करने की आवश्यकता है जैसे –

ब्रैस्ट पर मालिश करने से स्तनों में निखार आता है । उनके ऊतकों का विकास होता हैं । स्तन की रक्तवाहिनियों में रक्त संचार बढ़ता है । जिससे वह कठोर, आकर्षक, सुंदर एवं सुडौल बनते हैं ।

फिगर बढ़ाने की अंग्रेजी दवा । Figure increasing medicine in hindi.

फिगर बढ़ाने के लिए कई तरह से प्रयास किये जा सकते हैं । जैसे आयुर्वेदिक, होम्योपैथी, पतंजलि दवाओं का सेवन किया जा सकता है । इसी प्रकार अंग्रेजी दवा भी उपयोगी हो सकती है । लेकिन इनके साथ साथ संतुलित आहार एवं रोजाना एक्सकरसाइज भी करना चाहिए ।

पिछले लेखों में ब्रैस्ट बढ़ाने की हिमालय की दवा एवं पतंजलि ब्रैस्ट बढ़ाने की क्रीम के बारे में बता चुके हैं । आज हम अंग्रेजी दवाओं के बारे में चर्चा कर रहे हैं । बेहतर होगा कि आप सेवन करने से पहले डॉक्टर से परामर्श लें । क्योंकि इनका अधिक सेवन करने से साइड इफेक्ट्स भी हो सकते है तो चलिए जानते है –

बीटी -36 कैप्सूल | BT – 36 Capsule.

यह एक फिगर बढ़ाने का कैप्सूल हैं । जो स्तनों को स्ट्रांग करते हैं और एस्ट्रेजन के लेवल को बढ़ाने में सक्षम होती है । यह कैप्सूल मृत कोशिकाओं को दूर करें जीवित कोशिकाओं व रक्त प्रभाव सुधारक काम करती है । BT 36 कैप्सूल महिलाओं में एस्ट्रोजन के स्तर को बढ़ाकर स्तनों ( Breast ) को मोटा बनाकर फिगर को जवान दिखने में मदद करती है ।

यह कैप्सूल स्तन के छोटे आकार को बढ़ाकर बड़ा कर देता है । एवं कसाव को बढ़ाकर सुडौल बनाता है । वही लटकी हुई स्किन की कोशिकाओं को मजबूत बनाकर फिगर को सुंदर बनाने में कारगर है ।

अगर इनकी अधिक खुराक सेवन करने से कुछ दुष्प्रभाव नजर आ सकते हैं जैसे युरिन में बदबू आना, बॉडी पर हल्की सूजन, खुजलाहट होना आदि । इसलिए इनका सेवन चिकित्सा सलाह से करें ।

पढ़े – हिमालय शतावरी टेबलेट के फायदे नुकसान एवं उपयोग

फिगर बढ़ाने की अंग्रेजी दवा – विटामिन ई कैप्सूल । Vitamin E Capsule.

विटामिन ई कैप्सूल विटामिन ई का मुख्य स्रोत होता है । इनका उपयोग कई प्रकार से किया जाता है । चूँकि यह स्किन के लिए बहुत फायदेमंद होता है । पर इनका उपयोग Vitamin E Capsule for Breast Growth के लिए भी किया जाता है । इनका उपयोग सेवन करके भी किया जाता है । साथ ही साथ इनके पाउडर को अंडे के साथ स्तनों पर हल्की मालिश की जाती है ।

Vitamin E capsule का सेवन या इस्तेमाल करने से ब्रैस्ट की स्किन मुलायम होती हैं । यह बॉडी के लिए भी उपयुक्त होती है । यह ब्रैस्ट में ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाकर स्तनों की मांशपेशियों एवं कोशिकाओं को मजबूती प्रदान करते हैं । जिससे ब्रैस्ट धीरे धीरे बढ़ने लगते है । यह फिंगर का विकास करके सुंदर एवं सुडौल बनाते हैं ।

ब्रैस्ट बढ़ाने के लिए विटामिन ई कैप्सूल का उपयोग कैसे करें ?

ब्रैस्ट बढ़ाने के लिए विटामिन ई कैप्सूल का उपयोग सुबह शाम सेवन करके किया जा सकता है । यदि आप सेवन करना नहीं चाहते है तो किसी अन्य पदार्थ के साथ मिलाकर हल्की फुल्की मालिश कर सकते हैं ।

विटामिन ई कैप्सूल का उपयोग दही व अंडे के साथ मिलाकर कर सकते है । इनके सबसे पहले अंडे का पीला हिस्सा लेकर उसमें 2 से 3 कैप्सूल के अंदर का जेल मिलाएं । अब इसमें आधा चम्मच दही मिलाकर अच्छी तरीके से मिक्स करके अपने स्तनों पर लगाएं । करीब आधे घंटे बाद ब्रैस्ट को ठंडे पानी से धो लें ।

इनका उपयोग आप रोजाना कर सकते हैं । जिससे धीरे धीरे आपके फिगर का ब्लड सर्कुलेशन बढ़ेगा । उसमे कोशिकाओं एवं ऊतकों निर्माण होगा । ध्यान रखें कि इस पेस्ट को केवल स्तन पर लगाये । ब्रैस्ट की निपल पर बिल्कुल न लगाएं ।

दूसरा तरीका विटामिन ई कैप्सूल के जेल को निकाल कर उसे रोजाना अपने स्तनों पर हल्के हाथों से लगाये । जिससे आपके फिगर का विकास होगा । स्तन सुंदर एवं सुडौल बनेंगे । ब्रैस्ट का ढीलापन दूर होगा ।

सुडौल बॉडी टोनर कैप्सूल एवं जेल । Sudol Body Toner capsule Gel.

फिगर को बढ़ाने के लिए सुडौल बॉडी टोनर कैप्सूल भी कारगर है । इस कैप्सूल को आयुर्वेदिक दवा की श्रेणी में माना है । कंपनी का मानना है कि इसमें उपस्थित आयुर्वेदिक घटक जैसे जीरा, हल्दी, इलायची, सरसो का तेल, घमभारी, शतावरी, माजूफल, कुंदरू, बबूल आदि जो स्तनों के विकास के लिए कारगर है ।

इनके जेल को स्तनों पर लगाने से ब्रैस्ट में ब्लड फ्लो बढ़ता है । ऊतकों का विकास होता है । हार्मोन का संतुलन होता है जिससे फिगर सुंदर एवं सुडौल होता है । इनका साइड इफेक्ट्स नहीं है फिर कुछ लोगों के रीव्स की बात करे तो इनका अधिक मात्रा में सेवन करने से मोटापा बढ़ सकता है । इसलिए इनका उपयोग चिकित्सा सलाह से करें ।

फिगर बढ़ाने की अंग्रेजी दवा एवं नुकसान –

Figure को बढ़ाने के लिए अनेको दवा उपलब्ध हैं लेकिन अंग्रेजी दवा का उपयोग डॉक्टर की सलाह से करना आवश्यक समझे क्योंकि इन दवाओं के बहुत सारे साइड इफेक्ट्स होते हैं । जिससे फायदे होने के बजाय नुकसान भी हो सकता है ।

फिगर बढ़ाने के लिए घरेलू उपाय, एक्सकरसाइज एवं स्तनों पर हल्की मालिश करना फायदेमंद होता है । इनके अलावा खानपान पर ध्यान देना आवश्यक होता है । जिससे आपकी बॉडी में हार्मोन का असन्तुलन दूर होता है औऱ स्तनों का विकास होता है ।

फिगर बढ़ाने के लिए ऑयल एवं फायदे – नुकसान –

फिगर बढ़ाने के लिए दवाओं का सेवन करने के अलावा एक विकल्प उपलब्ध है । और वो हैं – आयल । यह तेल ब्रैस्ट को बढ़ाने के लिए बहुत ही कारगर है । इन तेलो के नाम इस प्रकार से है –

इनमें से आप कोई भी एक तेल लेकर अपने स्तनो की 3 से 5 मिनट मसाज करें। इन सब तेलो में बादाम या जैतून का तेल अधिक असरदार माना गया है। ब्रेस्ट के चारों ओर तेल लगाकर हल्के हाथ से मसाज करें । यह प्रक्रिया कम से कम 15 दिन से 1 महीने तक चालू रखें तो आप अपने ब्रैस्ट में परिवर्तन पाएंगे ।

लाभ – तेल की मसाज से हम अपने स्तन को सुडौल और बढे हुए महसूस करते हैं । काफी हद तक ये ऑयल सही साबित हुए हैं इसके मसाज से कईयों के स्तन को फायदा भी हुआ है ।

हानि – वैसे तो दोस्तों तेल से हमें कोई साइड इफेक्ट नहीं होता है । लेकिन यदि अत्यधिक मसाज करती हैं तो कुछ साइड इफेक्ट्स देखने को मिल सकते है जैसे स्किन का काली पड़ना, दाग धब्बे आदि । इसलिए अनुशासित समय के लिए इस्तेमाल करें ।

फिगर बढ़ाने के लिए एक्सरसाइज । Yoga For Breast Growth in Hindi.

फिगर बढ़ाने के लिए एक्सकरसाइज / योगा एक कारगर उपाय है । नियमित रूप से योगा करने से न केवल स्तनों बल्कि बॉडी में ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है । ऐसी स्थिति में अविकसित अंगों का पुनः निर्माण होता है । स्तनों को बढ़ाने के लिए कुछ योगासन इस प्रकार है –

इसी प्रकार कुछ एक्सकरसाइज है जिसे आप नियमित रूप से अपने घर पर कर सकते हैं । जिसमें चेस्ट बनाने वाली बेंच प्रेस, दीवार के सहारे खड़े होकर पुश अप करना एवं जमीम पर पुश अप करना आदि मुख्य हैं । इनके अलावा मार्केट में कई बड़े ब्रा उपलब्ध हैं जिनका इस्तेमाल करके अपना आत्मविश्वास बढ़ता सकते हैं ।

अंतिम शब्द – आज के लेख फिगर बढ़ाने की अंग्रेजी दवा ( Figure Badhane ki angrezi dawa. ) में दी गई समस्त जानकारी का उद्देश्य केवल शैक्षणिक हैं । उपरोक्त दवाओं का इस्तेमाल / सेवन करने से पहले डॉक्टर की सलाह लेना आवश्यक समझे ।

Share
Exit mobile version