फैटी लीवर क्या है लक्षण कारण व निदान । fatty liver symptoms in hindi.

What is fatty liver in hindi.


Fatty liver symptoms. तन चंगा तो कठौती में गंगा कहावत मनुष्य के शरीर के ऊपर पूरी तरह से लागू होती है । अगर हमारा शरीर स्वस्थ रहेगा तो मान स्वस्थ रहेगा और शरीर के सभी से सुचारू रूप से कार्य करते रहेंगे । हमारे बॉडी पार्ट्स में लिवर एक अहम पार्ट है । यह शरीर की सबसे बड़ी ग्लैंड और दूसरा बड़ा अंग होता है ।


लिवर हमारे शरीर में पित्त का निर्माण करता है । शरीर की वसा को तोड़ने का काम करता है । लिवर में कुछ फैट सामान्य रूप से होता है पर अधिक मात्रा में लीवर में फैट जमा हो जाने के कारण लिवर फैटी हो जाता है । फैटी लीवर की समस्या तेजी से फैल रही है इसका अंदाजा इस बात से लगाया जा सकता है कि हर साल 19 अप्रैल को विश्व फैटी लिवर दिवस (Fatty liver day ) के रूप में मनाया जाता है इसका उद्देश्य लोगों को इस बीमारी के प्रति जागरूक करना है ।

Also read –

उच्च रक्तचाप के कारण, लक्षण व बचाव । High blood pressure in hindi.

लिवर के कारण लक्षण व उपचार । Liver disease in hindi.

फैटी लीवर क्या होता है | What is fatty liver ?


Fatty liver. एक तरह की लीवर की बीमारी होती है फैटी लिवर को गुर्दे की चर्बी कहते हैं । फैट की मात्रा कोशिकाओं में बढ़ने से लीवर में फैट जमा हो जाता है उस प्रक्रिया को फैटी लीवर कहते हैं । फैटी लीवर दो तरह के होते हैं एक एल्कोहलिक फैटी लीवर दूसरा नॉनएल्कोहलिक फैटी लीवर ।


लीवर में फैट की मात्रा अधिक हो जाने से लिवर फैटी हो जाता है जिसके कारण लेबर में खराबी आ जाती है । या ठीक से कम नही कर पाता है । केवल अधिक तैलीय युक्त पदार्थ से लीवर में फैट नहीं होता बल्कि अधिक मात्रा में शराब का सेवन करने से भी लिवर को नुकसान पहुंचता है इसके कारण लीवर ठीक से काम करना बंद कर देता है ।


Alcoholic Fatty Liver disease –


एल्कोहलिक फैटी लिवर यह फैटी लिवर का साधारण प्रकार है जो शराब पीने की शुरुआती सिटी में उत्पन्न होता है एल्कोहलिक फैटी लिवर उस स्थिति में लिवर के खराब होने के कारण का कारण बन सकता है जब कोई व्यक्ति निरंतर रूप से शराब का सेवन करता है । तो शराब के अत्यधिक सेवन से लिवर में सूजन आ जाती है तथा लिवर क्षतिग्रस्त हो जाता है ।


लिवर का मुख्य काम भोजन और अपशिष्ट पदार्थों को प्रोसेस करना होता है । एक स्वस्थ लिवर में पेट बहुत कम मात्रा में या बिल्कुल नहीं होता परंतु अत्यधिक शराब के सेवन या बहुत अधिक वसायुक्त भोजन करते हैं तो आपका शरीर इन अतिरिक्त कैलोरी को फैट में बदल देता है । इस फैट को लीवर कोशिकाओं में स्टोर किया जाता है । अधिक शराब व तैलीय पदार्थों के सेवन से लिवर कोशिकाओं में फैट की मात्रा बहुत ज्यादा बढ़ जाती है उस स्थिति को एल्कोहलिक फैटी लीवर कहते है ।

non-alcoholic fatty liver disease –


नॉन एल्कोहलिक फैटी लिवर कई सारे अन्य लक्षणों जैसे मधुमेह उच्च रक्तचाप आदि के करण हो सकता है और इन बीमारियों से अधिकतर लोग पीड़ित होते हैं इस बीमारी में लिवर में सूजन आ जाती है ।


लिवर हमारे शरीर में मेटाबॉलिज्म को मेंटेन करता है । नॉन एल्कोहलिक फैटी लीवर डिजीज में लीवर में फैट जमा हो जाता है । जिसका इलाज अगर समय पर इलाज नहीं कराया गया तो लिवर डैमेज हो सकता है । जिससे लिवर सिरोसिस कहते हैं । आजकल बहुत सामान्य है और आजकल लाइफ स्टाइल में बदलाव की वजह से ज्यादा लोगों में होता है इसका डायग्नोसिस नहीं हो पाता और ज्यादातर दूसरे टेस्ट करवाने पर ही इसका पता चल सकता है इसकी कोई शुरुआती लक्षण नहीं है । इसके लक्षण एडवांस पेज में ही दिखाई देते हैं ।


पेट के ऊपरी दाएं भाग में दर्द या अधिक थकान व वजन घटना या कमजोरी होना इसके लक्षण है । वही सिरोसिस के दौरान शरीर पीला पड़ना और आंखों का सफेद होना है । त्वचा में खुजली होना और घुटनों में सूजन आना सिरोसिस के लक्षण है । इस बीमारी से बचने के लिए एल्कोहल स्मोकिंग आदि को अवॉइड करना चाहिए जो लोग अल्कोहल नहीं लेते उन्हें भी परेशानी हो सकती है । यह वजन बढ़ने, कोलेस्ट्रोल बढ़ने, ब्लड प्रेशर, डायबिटीज आदि इसके कारण हो सकते हैं ।

फैटी लिवर के चार चरण होते हैं – fatty liver step –


Steatosis
स्टीटोसिस इस बीमारी का सामान्य व आरंभिक चरण है इसे सिंपली फैटी लीवर के नाम से जाना जाता है इस स्थिति में लिवर में के आसपास फैट जमा हो जाता है ।


Fibrosis
जब लिवर में सूजन के कारण लिवर और उसके आसपास रक्त वाहिकाओं के अधिकांश देशों का निर्माण हो जाता है लेकिन इसके बावजूद वह सामान्य रूप से काम करता रहता है उसे स्थिति को फाइब्रोसिस के नाम से जाना जाता हैl

Steatohepatitis
यह बीमारी का गंभीर चरण है जिसे non alcoholic steatohepatitis के नाम से भी जाना जाता है ।


Cirrhosis
फैटी लिवर का सबसे घातक चरण होता है जिसमें लीवर सिकुड़ जाता है और इसकी वजह से वह खराब हो जाता है यदि कोई व्यक्ति सिरोसिस की अवस्था तक पहुंचता है तो उसके लिए लिवर ट्रांसप्लांट एकमात्र विकल्प बचता है ।

फैटी लीवर के कारण – cause of fatty liver in hindi.

Fatty liver के बहुत से कारण हो सकते हैं जैसे /,
● शरीर में अधिक मात्रा में विटामिन B12 की कमी के कारण फैटी लीवर हो सकता है । वजन का अत्यधिक होना भी फैटी लीवर की समस्या का कारण बन सकता है ।
● अधिक मात्रा में शराब पीने के कारण फैटी लीवर की प्रॉब्लम हो सकती है ।
● आहार में अधिक कोलेस्ट्रोल वाले भोजन लेना फैटी लीवर का एक कारण हो सकता है ।
● मिर्च मसालों का अधिक मात्रा में सेवन करने डायबिटीज व ब्लड प्रेशर की समस्या होने के कारण भी फैटी लिवर हो सकता है ।
● डॉक्टर की सलाह के बिना स्वयं अधिक मात्रा में एंटीबायोटिक दवाओं के सेवन से फैटी लीवर की समस्या हो सकती है ।

fatty liver symptoms in hindi.

फैटी लिवर के लक्षण | fatty liver symptoms in hindi. –


Fatty liver ke lakshan. सभी व्यक्तियों में अलग-अलग होते हैं जैसे किसी में पेट में सूजन, छाती में भारीपन, भूख न लगना, पेट में गैस अधिक बनना, कमजोरी वाला सोना, हथेलियों का लाल होना आदि लक्षण दिखाई देते है ।


◆ पेट के ऊपरी हिस्से में दर्द होना इस बीमारी का प्रमुख लक्षण होता है जिसमें पीड़ित के पेट में ऊपरी हिस्से में दर्द होता है
◆ वजन में कमी होने के कारण फैटी लीवर की प्रॉब्लम हो सकती है ।
◆ त्वचा और आंखों का पीला होना कई बार लिवर में फैट जमा होने के कारण आंखों और त्वचा का रंग पीला हो जाता है ।
◆ पेट में सूजन का होना वह पेट दर्द होना फैटी लीवर की समस्या का लक्षण है ।
◆ अक्सर फैटी लीवर होने पर लोगों की हथेलियों में बदलाव होता है और उनका रंग लाल हो जाता है ।

फैटी लीवर में क्या खाना चाहिए । Fatty liver diet in hindi.


◆ Fatty liver में खाना फल सभी ताजा होना चाहिए ।
◆ फलों में ताजे फल ही खाना चाहिए जैसे सेब, अंगूर, पपीता, नाशपाती व लीची आदि
◆ सब्जियों में आलू, पालक, हरी सब्जियां, करेले, भिंडी आदि को उबालकर उपयोग करना चाहिए ।
◆ तरल पदार्थों में पानी अधिक पीना चाहिए इसके अलावा नारियल पानी एलोवेरा जूस बिना मलाई का दूध मेथी का पानी ताजी सब्जियों के सूप ताजे फलों के रस का सेवन कर सकते हैं ।
◆ घर का बना ताजा कम तेल का भोजन करना उचित होगा ।

Fatty live के परहेज –

फैटी लीवर में शराब तेलिया पदार्थ, जंक फूड, पैक्ड फूड, अधिक मिर्च मसाले, रेड मीट, मिठाइयों, केक, अचार, नमकीन एवं अधिक मात्रा में नमक के सेवन से बचें ।

फैटी लिवर का इलाज । Fatty liver treatment –


यह प्रश्न हर उस व्यक्ति के लिए मायने रखता है जो फैटी लीवर की समस्या से पीड़ित होता है उसे हमेशा उपचार के सर्वोत्तम तरीकों की तलाश रहती है जिसके माध्यम से वह इस बीमारी से निजात पा सके फैटी लीवर की बीमारी से घरेलू उपचार से भी निजात पा सकते हैं समस्या बढ़ने पर डॉक्टरी परामर्श लेना उचित होगा घरेलू उपचार जिनसे Fatty liver की समस्या से निजात पाई जा सकती है ।


◆ देसी इलाज Fatty liver की बीमारी में देसी उपचार काफी लाभदायक हो सकता है । देसी उपचार अपनाकर आप फैटी लीवर की समस्या से निजात पा सकते हैं । इसके लिए आप सिर्फ का हल्दी पपीता नींबू आदि का सेवन कर सकते हैं । ग्रीन टी फैटी लीवर का इलाज ग्रीन टी के माध्यम से किया जा सकता है ।


◆ ग्रीन टी से फैटी लीवर की समस्या से छुटकारा मिल जाता है । ग्रीन टी से लिवर की कार्य क्षमता में सुधार होता है ।
◆ योगा कोई होगा किसी भी अन्य बीमारी की तरह फैटी लीवर के इलाज में भी लाभदायक होता है तरह-तरह के योगासन लीवर की कार्य क्षमता में सुधार करने में सक्षम होते हैं ।

Fatty liver ke gharelu upay in hindi. 

● गोखरू का पानी पिए पोर्न पुनर्नवा का पानी पिए ।
◆ मकोय के फल को खाएं ।
◆ भूमि आंवला चंद्रप्रभा वटी के जूस का सेवन करें ।
◆ पीपलवा नीम के पत्तों का जूस पिए नीम की छाल को उबाल कर पीएं ।


◆ भूमि आंवला यात्री एक ऐसी औषधि है । जो लिवर को संपूर्ण रूप से सुरक्षा प्रदान करती है ।
◆ फैटी लीवर के लिए नींबू का उपयोग कर सकते हैं नींबू विटामिन सी से युक्त होता है जो कि एक पॉवरफुल एंटीऑक्सीडेंट है और यह लीवर की कोशिकाओं को रेडिकल डैमेज से रोकता है ।

◆ सूखे आंवले का जूस फैटी लीवर के ट्रीटमेंट में सहायक होता है ।
◆ करेले का जूस वटी लिवर के उपचार में लाभदायक हो सकता है ।

यदि Fatty liver से पीड़ित व्यक्ति के किसी भी अन्य तरीके या घरेलू उपचार से लाभ नहीं मिलता तो उसे डॉक्टर से परामर्श करना चाहिए । डॉक्टर की सलाह में देर नहीं करनी चाहिए । फैटी लीवर की समस्या गंभीर होने पर डॉक्टर लिवर ट्रांसप्लांट की सलाह देता है । इस प्रक्रिया में डॉक्टर खराब लिवर को सेहतमंद व्यक्ति के लिवर से बदल देते हैं । यह प्रक्रिया लिवर ट्रांसप्लांटेशन कहलाती है । उम्मीद है यह जानकारी आपके लिए फायदेमंद होगी ।। नीरजा दवे रायपुर छत्तीसगढ़ ।।

Leave a Comment