स्किन एलर्जी का इलाज । Skin allergy treatment in hindi.

Skin allergy treatment in hindi.
Skin allergy treatment in hindi.

Skin allergy treatment in hindi. हमारे शरीर रुपी इमारत में जब ऐसे तत्व प्रवेश कर जाते हैं जिनका तालमेल हमारे शरीर की प्रणाली के साथ ठीक से नहीं बैठ पाता है तब नतीजा एलर्जी के रूप में सामने आता है। किसी खाने की चीज, पालतू जानवर, मौसम में बदलाव, धूल, धुआं या किसी महक वाली चीजों का इस्तेमाल एवं अप्राकृतिक वस्तुओं के उपयोग से यह एलर्जी होती है ।

एलर्जी ( Allergy ) की प्रॉब्लम से बचने के लिए खानपान का ध्यान रखने के अलावा जिस पदार्थों/चीज़ों से skin Allergy होती है उनसे परहेज करें । इसके अलावा ठंडे पानी से नहाने से भी राहत मिलती है । तो चलिए जानते है स्किन एलर्जी के बारे में – Skin allergy treatment in hindi.

Also read

सोरायसिस के कारण व घरेलू उपाय । Psoriasis treatment in Hindi.

विटामिन बी12 की कमी । Vitamin B12 deficiency in hindi.

स्किन एलर्जी क्या है । what is skin allergy.

त्वचा हमारे शरीर का बाहरी आवरण है । अंगों के नजरिए से देखें तो यह सबसे बड़ा अंग है । सुंदर, स्वस्थ, चमकदार त्वचा सभी का सपना होती है। चमकदार त्वचा अंदरूनी तंदुरुस्ती को बताती है। किंतु स्किन एलर्जी के कारण त्वचा की प्राकृतिक सुंदरता नष्ट होने लगती है। प्रदूषण, कीटनाशकों की बहुतायत वाला भोजन, फास्ट फूड, बीमारी और गलत खानपान की आदतों के कारण शरीर पर जो प्रतिक्रिया होती है । उसका सीधा असर हमारी त्वचा पर पड़ता है और नतीजा होता है स्किन एलर्जी ।

स्किन एलर्जी के लक्षण | symptoms of skin allergy in hindi.

● त्चचा पर चकत्ते होना ।
● स्किन पर लाली, खुजली होना
● त्वचा पर जलन होना ।
● स्किन पर सूजन
● क्रैक्स होना
● स्किन पर लाल धब्बे होना ।

स्किन एलर्जी के प्रकार । Type of skin allergy.

स्किन एलर्जी अनेक प्रकार की होती है । परंतु उसमें जो बहुत कॉमन है वो हैं-
1. एग्जिमा – यह स्किन की एक सामान्य एलर्जी है। इसमें त्वचा में सूजन आ जाती है । जिससे त्वचा लाल पपड़ीदार हो जाती है। त्वचा में तीव्र खुजली होती है। ये बड़ों से लेकर बच्चों तक को हो सकती है ।

2. ग्रानुलोमा एनुलारे – यह स्किन एलर्जी लंबे समय तक परेशान करने वाली होती है । इसमें त्वचा पर लाल गोलाकार बड़े पानी वाले दाने हो जाते हैं । सामान्यतः यह बच्चों और किशोरों में होती है । लड़कियों को होने की संभावना ज्यादा होती है।

3. लिचेन प्लानस – यह एक कामन स्किन एलर्जी है । यह 30 से 70 वर्ष तक के लोगों में होती है। इसमें लाल दानें जैसे चमकदार धब्बे त्वचा के ऊपर हो जाते हैं। यह कलाई,टखनों या पैर के निचले भाग में अधिक होते हैं। तीव्र खुजली होती है।

4. पित्ती – यह एक कामन स्किन एलर्जी है। इसमें त्वचा पर उभरे हुए लाल दाने हो जाते हैं। यह शरीर के किसी भी हिस्से में हो सकती है और बड़ी तेजी से फैलती है।

स्किन एलर्जी के कारण | causes of skin allergy.

स्किन एलर्जी अनेक कारणों से हो सकती है। खान-पान से, प्रदूषण से, किसी इत्र परफ्यूम से, धूल या धुएं से या मौसम में आए बदलाव से हो सकती है ।
● कृत्रिम आभूषणों से लोगों को स्किन एलर्जी होना आम है । धूल और पसीने से स्थिति और अधिक विकट हो जाती है।

● कभी-कभी दवाइयों के रिएक्शन से भी स्किन एलर्जी उभर आती है।
● खाने की वस्तुओं में कीटनाशक आदि के अधिक प्रयोग से।
● इत्र परफ्यूम की खुशबू से स्किन एलर्जी हो सकती है।
● हेयर डाई, नेल पेंट, शैंपू आदि में प्रयोग होने वाले ‘क्वाटरनियम -15’ से भी लोगों को स्किन एलर्जी का खतरा होता है।
● परागकण, धूल, कीड़े आदि के द्वारा भी स्किन एलर्जी हो सकती है ।
● किसी किसी पेड़ पौधों या फूलों से भी स्किन एलर्जी का खतरा होता है।

स्किन एलर्जी टेस्ट | Skin allergy test.

ये परीक्षण प्रत्येक आयु वर्ग के लोगों के लिए सुरक्षित होता है। किंतु इन्हें डॉक्टर की सलाह द्वारा ही करवाना चाहिए।
1. स्किन प्रिक टेस्टिंग – यह सबसे कामन स्किन एलर्जी टेस्ट है। पीठ या बाजू पर यह परीक्षण किया जाता है। यदि पीठ या बाजू पर एलर्जी हो गई तो यह परीक्षण नहीं किया जाता है। इसमें लिक्विड को पीठ या बाजू की त्वचा पर लगा दिया जाता है और उससे जो रिएक्शन होता है उसको ही देखकर उसका रिजल्ट जाना जाता है।

2. ब्लड टेस्ट – यह प्रिक टेस्टिंग से अलग है। इसमें ब्लड का सैंपल लिया जाता है और ब्लड के सैंपल को लैब में भेजते हैं। जहां उस में एलर्जी बढ़ाने वाला केमिकल डालकर उसके बाद उसका रिएक्शन देखा जाता है। उससे बनने वाली एंटीबॉडी बनाकर उपचार किया जाता है।

3. पैचटेस्ट – इसमें एक केमिकल को त्वचा पर लगाकर उसे ढ़ककर तीन-चार दिन के लिए रख दिया जाता है । उसके बाद उसके परिणाम देख कर जांच की जाती है और एलर्जी का पता लगाया जाता है।

स्किन एलर्जी के उपचार । Skin allergy treatment in hindi.

आधुनिक समय में देखें तो स्किन एलर्जी के सामान्य से लेकर विशेष उपचार तक उपलब्ध है।
एग्जिमा या पित्ति – इसमें एलर्जी के अनुसार दवा क्रीम या लोशन शैंपू आदि दिए जाते हैं इसके साथ ही त्वचा पर लगाने वाली और खाने वाली दोनों दवाइयां का इस्तेमाल किया जाता है।

फंगल इनफेक्शन – रिंगवर्म या अन्य फंगल इंफेक्शन के लिए कम केमिकल युक्त शैंपू का इस्तेमाल करना और क्रीम का इस्तेमाल की सलाह दी जाती है और कुछ दवाइयां खाने की भी सलाह दी जाती है । कुछ दवाएं जैसे टर्बीफाइन, लैमीसिल आदि का सामान्यतः उपयोग फंगल इन्फेक्शन में किया जाता है।

स्किन एलर्जी के बेस्ट क्रीम । Skin allergy best cream in hindi.

स्किन एलर्जी के लिए कुछ क्रीम एक अच्छा विकल्प है । इन क्रीम का उपयोग सुबह शाम या डॉक्टर्स की सलाह से कर सकते है –
● हाइड्रोकॉर्टिसोन क्रीम
● फ्लूटिकसोन प्रोपियोनेट (स्टेरॉयड क्रीम)
● एंटीहिस्टामाइन्श
● कैलेमाइन लोशन
● डेसोरलाटाडाईस ( एंटीहिस्टामाइन्श )
● साइप्रोहोटाडिन ( एंटीहिस्टामाइन्श )

स्किन एलर्जी की टेबलेट | Tablets for Skin allergy treatment in hindi.

स्किन एलर्जी से बचने के लिए कुछ टैबलेट होती है जिसे आप डॉक्टर की सलाह के अनुसार सेवन कर सकते हैं जो इस प्रकार है –
● सेटीरिजीन,
● फेक्सोफेनाडीन,
● लेवोसेटीरिजीन और
● लोरैटैडीन आदि । इन टैबलेट के साथ कुछ एंटीबायोटिक दवाओं का इस्तेमाल डॉक्टर की सलाह से कर सकते है ।

skin allergy ka desi ilaaj.
skin allergy ka desi ilaaj.

स्किन एलर्जी के घरेलू उपाय | skin allergy ka desi ilaaj.

एलोवेरा ( Alloevara ) – त्वचा को स्वस्थ रखने के लिए इसका उपयोग 6000 सालों से होता आया है। एलोवेरा की पत्तियों के गूदे को निकालकर उसका प्रयोग किया जाता है । यह प्रयोग में बहुत सरल है। सीधे त्वचा पर इस्तेमाल किया जाता है । इसके जैल की तह त्वचा पर लगा दी जाती है और सूखने पर उसे धो दिया जाता है आजकल कई कंपनियों के एलोवेरा जेल मिलते हैं जिन्हें भी इस्तेमाल किया जा सकता है ।

नारियल का तेल ( Coconut oil ) – नारियल का तेल स्किन के लिए बहुत अच्छा है। नारियल के तेल की तासीर ठंड़ी होती है और यह आसानी से उपलब्ध भी हो जाता है। इसे त्वचा पर सीधे लगाया जा सकता है। यह किसी भी तरह से नुकसानदायक नहीं है।

बेकिंग सोडा ( Baking soda ) – बेकिंग सोडा के इस्तेमाल से त्वचा का PH लेवल सामान्य करने में मदद मिलती है । यह पहुंच में भी बहुत आसान होता है । इसके इस्तेमाल के लिए 4 टेबल स्पून बेकिंग सोडा में 12 चम्मच डिस्टिल्ड वाटर(आसुत जल) मिलाकर पेस्ट बना दिया जाता है। इस पेस्ट को त्वचा पर लगाकर सूखने दिया जाता है । 10 मिनट बाद धोकर और नारियल का तेल लगाने से स्किन एलर्जी से राहत मिलती है ।

पिपरमेंट ऑयल ( Pumper oil ) – पित्ती, डायबिटीज, लिवर, किडनी आदि डिजीज में वैसलीन के साथ मिलाकर पिपरमेंट ऑयल का इस्तेमाल किया जाता है। तासीर ठंडी होने के कारण स्किन एलर्जी में राहत देता है ।

स्किन एलर्जी के अन्य उपाय । Skin allergy treatment in hindi.

स्किन एलर्जी से बचने के लिए सॉफ्ट क्रीम, सॉफ्ट साबुन- शैंपू का इस्तेमाल।
● एलर्जी वाली चीजों से दूरी ।
● कृत्रिम आभूषणों से दूरी।
● ज्यादा खुजलाना नहीं चाहिए।
● ज्यादा एलर्जी हो जाने पर डॉक्टर को दिखाना ही उपाय रहता है।

स्किन एलर्जी से बचने के उपाय । skin allergy se kaise bache.

आयुर्वेद के अनुसार ऐसी अनेक चीजें हैं जिनको साथ साथ खाने से स्किन एलर्जी हो सकती है अतः उन चीजों से दूर रहना चाहिए जैसे खरबूजे के साथ दूध का उपयोग वर्जित है । मछली के साथ दूध का प्रयोग वर्जित है। मूली के साथ दूध का इस्तेमाल वर्जित है। अचार के साथ दही खाने से स्किन पर दुष्प्रभाव पड़ता है। उन्हें ध्यान में रखना चाहिए।

● जिन चीजों से एलर्जी हो उनसे दूरी रखनी चाहिए।
● ठंडे पानी से नहाना भी स्किन एलर्जी से बचाता है। ● त्वचा को हमेशा साफ और सूखी रखना चाहिए।
● साफ और प्राकृतिक रेशे वाले कपड़े पहनना जैसे सूती वस्त्रों का अधिक उपयोग करना चाहिए।
● ज्यादा तंग (टाइट ) कपड़े नहीं पहनने चाहिए। इसी तरह से हम अनेक सामान्य बातों का ध्यान रखकर स्किन एलर्जी से बचे रह सकते हैं ।

● खान -पान जिससे स्किन एलर्जी से बचा जा सकता है- क्वेरसेटिन नामक एंजाइम स्किन एलर्जी से बचाता है। यह प्याज, मिर्च, जामुन आदि में पाया जाता है । इसीलिए खाने में इनका इस्तेमाल करना चाहिए।
● कीवी में विटामिन सी भरपूर मात्रा में होता है। जो कि स्किन एलर्जी से बचाता है। साथ ही वे अन्य खट्टे फल जैसे संतरा नींबू आदि इनमें विटामिन सी भरपूर मिलता है । अतः खाने में इन फलों का इस्तेमाल करना चाहिए।

● अन्नानास ( पाइनएप्पल) में ब्रोमेलैन नामक एंजाइम पाया जाता है ।यह स्किन एलर्जी से बचाने का काम करता है ।
● शहद के इस्तेमाल से स्किन एलर्जी में फायदा होता है । शहद को खाने और लगाने दोनों में इस्तेमाल किया जा सकता है।
● skin allergy से बचने के मॉइश्चराइजर का इस्तेमाल करें । ताकि स्किन का रूखापन दूर हो । त्वचा का रूखापन स्किन एलर्जी का एक कारण है ।

स्किन एलर्जी की OTT दवा | Medicine for Skin allergy treatment in hindi.

● हाइड्रोकॉर्टिसोन क्रीम
● एक्सडर्म फ्लेयर कंट्रोल क्रीम
● ओरल एंटीहिस्टामाइन
● इकोसरीन केलमिंग रिलीफ लोशन आदि थोड़ी जानकारी और थोड़ी निगरानी हमें स्किन एलर्जी से दूर रहने में मदद कर सकती है ।। लेखक – भावना शर्मा ।।

Leave a Comment