Site icon Global Health Tricks

शुगर के लक्षण व घरेलू उपाय । Home remedies for Diabetes

Home remedies for Diabetes.

Home remedies for diabetes. वर्तमान समय में बदलती जीवन शैली के चलते Diabetes के मरीज़ो की संख्या में निरन्तर बढ़ौतरी हो रही है। हमारे देश भारत में जनसंख्या का लगभग 3.8 फीसदी के करीब यानि की 5 करोड़ के आसपास लोग अपनी बीमारी से परेशान है । आजकल प्रदूषण, शुद्ध जल की कमी और नकली भोज्य सामग्री के कारण देश में कम से कम एक मिलियन आबादी ऐसी है जो कैंसर, मधुमेह और उच्च रक्तचाप आदि बीमारियों से जूझ रही है।


“सेंट्रल ब्यूरो आफ हेल्थ इंटेलीजेंस” की एक रिपोर्ट के अनुसार अनेको बीमारियों के बीच सबसे अधिक मधुमेह के ही मरीज पाए गये हैं । खून में शर्करा का स्तर सामान्य से अधिक होने पर बार बार पेशाब आना, हाथों पैरो में झनझनाहट एवं घाव न भरना जैसे लक्षण दिखाई देते है । मगर खानपान में बदलाव करके सामान्य जीवन व्यतीत किया जा सकता है । तो चलिए Global health Tricks में जानते है – शुगर के लक्षण एवं घरेलू उपाय । Home remedies for Diabetes –

डायबिटीज क्या है ? What is diabetes.


यह तो आपको पता ही है कि डायबिटीज को मधुमेह और शुगर भी कहा जाता है। सामान्य शब्दों में रक्त में शर्करा का स्तर बढ़ जाना, बार बार पेशाब आना और शरीर में अत्यधिक कमज़ोरी का महसूस होना यह मधुमेह के लक्षण हैं। मनुष्य के शरीर में रक्त ग्लोकोज़ ही से ताकत आती है। और यह तभी आता है जब मनुष्य सही ढंग से खाना खाता है।

इंसुलिन क्या है –
इंसुलिन अग्नाशय द्वारा बनाया जाने वाला एक हार्मोन है। जो भोजन मानव खाता है उस भोजन को इंसुलिन ग्लोकोज़ में बदल देता है और मानव शरीर में कोशिकाओं को भरपूर ऊर्जा प्राप्त होती है जो मनुष्य को कार्य आदि करने में मदद करती है।
कभी कभार ऐसा भी देखा गया है कि शरीर जितना इंसुलिन बनाना चाहिए, उतना नहीं बना पाता या हम यह भी कह सकते हैं कि जितने इंसुलिन का उपयोग होना चाहिए उतना मानव शरीर की कोशिकाओं तक नहीं पहुंच पाता।

डायबिटीज के प्रकार । Type of diabetes –


यदि मानव शरीर में काफी समय तक रक्त में ग्लोकोज़ रहता है तो शरीर मे समस्याएँ जन्म ले लेती हैं और कहा जाने लगता है कि व्यक्ति को शुगर हो गया। हमें मधुमेह को हल्के में नहीं लेना चाहिए बल्कि यह एक ऐसी बीमारी है जो अपने साथ साथ अनेको बीमारियों को भी उत्पन्न कर देती है। बात करते हैं मधुमेह के टाइप की –


 टाइप 1 डायबिटीज । Type 1 diabetes


इसके अन्तर्गत मनुष्य का शरीर इंसुलिन नहीं बना पाता यानि कि व्यक्ति की immune system अग्नाशय में उन कोशिकाओं को नष्ट कर देती है जो इंसुलिन बनाता है। इसी कारण टाइप 1 मधुमेह हो जाता है। यह अक्सर बच्चों और युवाओ मे देखा जाता है। यह एक ऐसा टाइप है जिसमें मनुष्य को जीवित रहने के लिए प्रतिदिन इंसुलिन लेने की आवश्यकता पड़ती है।

टाइप 2 डायबिटीज । Type 2 diabetes.


टाइप 2 मधुमेह एक बेहद आम प्रकार है जो आप सभी को लोगों मे देखने को अक्सर मिल जायेगा। इसके अन्तर्गत शरीर ना तो इंसुलिन को सही ढंग से बना पाता ना ही उपयोग में ला पाता। यह मध्यम आयु वर्ग के लोगों को और वृद्वों को अधिक परेशान करता है।

Gestational diabetes. गर्भावधि मधुमेह


जब महिला गर्भवती होती है, तब कुछ महिलाओं को गर्भ के दौरान गर्भकालीन मधुमेह हो जाता है और सबसे अच्छी बात यह है कि जब बच्चा जन्म लेता है तब यह मधुमेह स्वतः ही ठीक भी हो जाता है परन्तु किसी-किसी केस में इस दौरान होने वाले मधुमेह को महिला को काफी लंबे समय तक झेलना पड़ता है। यदि किसी महिला को टाइप 1 हुआ है तो यह भी हो सकता है कि प्रसव के बाद उसे टाइप 2 हो जाये और सही भी हो सकता है। तीनो की स्थितियाँ महिला के साथ घटित हो सकती हैं।

मधुमेह के अन्य प्रकार । Other types of diabetes


कुछ व्यक्तियों में मधुमेह बिना किसी कारण भी होते देखा गया है कि कभी उनके पुरखों / पूर्वजों को मधुमेह बहुतायत में था तो अब वह अनुवांशिक रूप में बच्चे में आ गया है। इसको हम विरासत में मिला मधुमेह भी कह सकते हैं। यह मधुमेह सिस्टिक फाइब्रोसिस से सम्बंध रखता है।

मधुमेह से उत्पन्न समस्याएं । Risk fector of diabetes.


खून में शर्करा की मात्रा अधिक हो जाने से दिल से सम्बंधित बीमारी, आघात, गुर्दे की बीमारी, आँखों की समस्या/ दांत के रोग, नस की क्षति, पैरों की समस्या, कमज़ोरी का होना, चक्कर व नींद का आना, बेचैनी आदि अनेको बीमारियों की समस्या उत्पन्न हो जाती है।


Home remedies for diabetes – शुगर बीमारी में कुछ घरेलू उपचार –


कुछ ऐसे घरेलू उपचार जो शुगर लेवल को नियंत्रित करने में पूर्ण रूप से मदद करते हैं। आजकल के परिवेश व बदलते खानपान के कारण शुगर की बीमारी बहुत अधिक फैलती जा रही है आजकल इसका शिकार युवा वर्ग भी हो रहा है। व्यक्तियों को अपना शुगर चैक करते रहन बेहद ज़रूरी है साथ ही कुछ ऐसे घरेलू उपचार हैं जो शुगर को कम करने व नियंत्रित रखने में सहयोग देते हैं ।

गेहूँ के पौधे से मधुमेह का घरेलू उपाय – Home remedies for diabetes with wheat.


आपने गेहूँ के छोटे पौधे तो देखें ही होगें ? इन पौधो के रस को green blood के नाम से भी जाना जाता है। हैरानी की बात होगी यह जानकर कि गेहूँ के जवारे का 1/2 cup fresh juice सुबह और शाम पीने मात्र से मधुमेह बीमारी में काफी लाभ मिलता है।

तुलसी के पौधे से घरेलू उपाय – Home remedies for diabetes with tulsi plant.


हमारे देश में तुलसी की पूजा की जाती है क्योकिं तुलसी का अकेला पौधा ही इतना गुणकारी है कि जितनी प्रशंसा की जाए कम होगी। इसके पत्तों में एन्टीऑक्सीडेंट तत्व होते हैं, जो इजिनॉल, मेथिल इजिनॉल और कैरियोफ़ैलिन बनाने में सहायक होते हैं।
यही वह महत्वपूर्ण तत्व हैं जो शरीर में इन्सुलिन एकत्र करने वाली कोशिकाओं को अपना कार्य करने में मदद करते हैं। मधुमेह के स्तर को कम करने हेतु प्रतिदिन दो य तीन पत्ते तुलसी के खाने या फिर इसके पत्तों का जूस निकालकर पीने से डायबिटीज को नियंत्रित किया जा सकता है।

दाल चीनी से घरेलू उपाय – dal chini se shugar ka gharelu upay.


हम सभी सब्जी और दाल में गरम मसालो का प्रयोग करते हैं। उन गरम मसालो में से दाल चीनी बहुत महत्वपूर्ण है । हालाकि हैं तो सभी मसाले उपयोगी परन्तु यदि हम अपने भोजन में दालचीनी को शामिल कर लें तो शुगर में काफी आराम मिल जायेगा।

दालचीनी को हम चाय में डाल सकते हैं, सब्जी में भी अलग से ऊपर से छिड़र कर खा सकते हैं । इसके अलावा हम अपने पानी में इसे डालकर रख सकते हैं और जब भी प्यास लगेगी हम इस पानी को पी लेगें जिससे दालचीनी हमारे शरीर में चली जायेगी। यह ब्लड शुगर को नियंत्रित रखती है।

ग्रीन टी से शुगर का इलाज – Home remedies for diabetes with Green Tea –


Green tea का एक बैग 2 या 3 मिनट के लिए पानी में भिगोकर रख दें । इस चाय को सुबह या फिर भोजन से पहले पीने की आदत बन लें यह शुगर मरीज़ो व नार्मल व्यक्ति के लिए बहुत लाभकारी है।

home remedies for diabetes with Drum stick –


Drumstick को अमलतास भी कहते हैं। इसकी पत्तियों को धोकर उनका रस निकालकर एक चौथाई कप में डालें और फिर उसे पीएं इससे भी ब्लड शुगर में काफी लाभ मिलता है। याद रखें कि इसे सुबह खाली पेट पीना है तभी इसका लाभ हो पायेगा।

नीम की पत्तियाँ – Neem ki pattiyo se shugar ka gharelu ilaj.


“जितनी करें तारीफ कम होगी, नीम तेरी बातें कभी कम नहीं होगीं। “
जी हाँ दोस्तों नीम इंसुलिन संग्राहक संवेनशीलता को बढ़ाता है । ब्लड शुगर के लेवल को कम करते हुए खून वाहिकाओं को प्रसारित कर खून परिसंचरण में सुधार लाता है। इसका एक और महत्वपूर्ण सहयोग कि यह हाइपोग्लास्मिक दवाईयों पर मरीज़ की निर्भरता को कम करता है।

सौंफ से शुगर का घरेलू उपाय – sauf se shugar ka gharelu ilaj.


यदि डायबिटीज का मरीज़ नियमित सौंफ भी खाता रहे तब भी शुगर उसके नियंत्रण में रहेगा। सौंफ खाना खाने के बाद खाई जाए तो अधिक अच्छा परिणाम देती है।

ब्राऊन चावल से शुगर का घरेलू उपाय – Home remedies for diabetes with brown rice.


आजकल बाज़ार में कई तरह के चावल आ रहे हैं मरीज़ को डायबिटीज से बचने या उसे नियंत्रित करने के लिए ब्राऊन चावल खाने चाहिए।

आँवला से शुगर का घरेलू उपाय – Aanvala se shugar ka gharelu ilaj –


2 gram हल्दी पावडर में ,10 मिलीग्राम आंवले का जूस मिलाकर पीने से डायबिटीज नियंत्रित रहता है इस जूस को दिन में दो बार लेना चाहिए।

काला नमक से शुगर का इलाज – Home remedies for diabetes with black salt.


मरीज़ को काले नमक के साथ जामुन खानी चाहिए । इससे रक्त में शुगर नियंत्रित रहता है तथा मरीज़ को आराम मिलता है।

बैगनबेलिया के हरे पत्ते बहुत उपयोगी
इस मिश्रण को लेने से पहले एक बात का खास ध्यान रखें कि इसे पीने के 1/2 घंटे तक कुछ भी नहीं खाना पीना है तभी यह मिश्रण लाभ करेगा। इसको बनाने के लिए नीम के पत्ते, तुलसी के पत्ते, बेलपत्र, बैगनबेलिया के पत्ते, 6 समान मात्रा में ले लीजिये। अब इसमें 3 कालीमिर्च पीसकर इन सबको मिलाइये। अब इस मिश्रण को खाली पेट पानी के साथ लेने से diabetes नियंत्रित रहता है और शरीर में कमज़ोरी भी नहीं आ पाती।

अलसी के बीज से घरेलू उपाय – Alasi ke beej se shugar ka gharelu ilaj.


अलसी के बीज आपको किरयाने की दुकान पर आसानी से मिल जायेगें। इसका चूर्ण बनाकर रख लीजिये और इस चूर्ण को खाली पेट सुबह गरम पानी के साथ लेने से जहाँ डायबिटीज मे आराम होगा वहीं शरीर का extra fat व शुगर अवशोषित होकर बाहर निकल जायेगा। यह चूर्ण डायबिटीज के मरीज की लगभग 28 % शुगर को कम करने की क्षमता रखता है जो भोजन के बाद की शुगर होती है।

मेथी के दाने से शुगर का घरेलू उपाय – Home remedies for diabetes with methee.


मेथी के दाने रात को पानी में भिगोकर रख दीजिये। सुबह उठकर इन भीगे बीजों को चबाकर ऊपर से इसका बचा पानी पी लेने से भी डायबिटीज नियंत्रित हो जाती है।

सब्जियों का जूस से शुगर का घरेलू उपाय


करेला सभी को पता है कि कितना कड़वा होता है। करेला 1, टमाटर 1 व खीरा भी 1 समान मात्रा में लेकर जूस बना लीजिये। सुबह खाली पेट पीने से लाभ होगा। साथ ही शरीर में आई कमज़ोरी भी दूर होगी।

हरी सब्जियाँ से शूगर का घरेलू उपाय –


अधिकतर लोगों को लौकी, तोरई खाने में अच्छी नहीं लगती पर यहाँ एक बात हम बता दें कि मरीज़ को तौरई, लौकी, परवल, पालक, पपीता आदि का प्रयोग अधिक से अधिक मात्रा में करना चाहिए। इन में फाइबर होता है जो पेट और आंतो के लिए बहुत अच्छा होता है। भोजन से फालतू शर्करा की मात्रा को निकालने में मदद करता है।


इसके अतिरिक्त शुगर के मरीज़ को एलोविरा और जामुन खानी चाहिए। जामुन के बीजों का चूर्ण भी बहुत लाभकारी माना गया है। कहते हैं अगर किसी को मूत्र से सम्बंधित कोई परेशानी है तब भी जामुन खाने से वह काफी हद तक दूर हो जाती है। इसके अतिरिक्त करेले का जूस यह तो सदियों से चलन में आ रहा है।

सेज की चाय से शुगर का घरेलू उपाय –


आपको बता दें कि सेज में इंसुलिन बढ़ाने की शक्ति व क्षमता होती है। मरीज़ को सेज के पत्तो की चाय बननी है। करना अधिक कुछ नहीं है बस एक चम्मच सेज के पत्तों को पानी के साथ उबाल लीजिये और सुबह के समय यह चाय पी लीजिये। इसका परिणाम आपको स्वतः ही मिल जायेगा।


जिनसेंग चाय से शुगर का घरेलू उपाय –


जिनसेंग की जड़ो से तैयार की जाने वाली यह चाय ब्लड शुगर को बहुत अधिक नियंत्रित करती है। जिनसेंग एक बूटी है और यह बहुत पुरानी पद्वति है इसमें इतने गुण हैं कि इसका प्रयोग अब पश्चिमी देशों में भी होने लगा है।

उम्मीद करते है आज का टॉपिक शुगर के लक्षण एवं घरेलू उपाय । Home remedies for Diabetes. में आपको उपयोगी जानकारी मिली होगी लेकिन कोई उपाय करने से पहले योग्य डॉक्टर से परामर्श लेना हितकारी समझे ।। शाहाना परवीन ।।

Read more posts –

आस्टिओआर्थराइटिस के कारण एवं इलाज । Treatment of osteoarthritis

एनीमिया के कारण, लक्षण एवं उपाय । What is anemia in hindi.

Share
Exit mobile version