साइंस बायो लेने के फायदे – जाने बायोलोज़ी सब्जेक्ट के बारे में

science bio lene ke fayde

साइंस बायो लेने के फायदे । शिक्षा ग्रहण करना मानव का मौलिक अधिकार है शिक्षा से ही उसमें बौद्धिक विचार का समावेश होता है चाहे वह साइंस हो आटर्स या फिर कॉमर्स हो। हम बात करते हैं साइंस के विषय के बारे में जिसमें बायोलॉजी जिसे जीव विज्ञान कहते हैं इस विषय को लेकर पढ़ने से छात्र डॉक्टर या फार्मासिस्ट बनते हैं मेडिकल के क्षेत्र में कैरियर बनाने के लिए Bio लेना सबसे अच्छा माना जाता है ।

जिन छात्र को साइंस में रुचि है या वह अपने कैरियर डॉक्टरी लाइन में बनाना चाहते हैं । वह बायोलॉजी लेकर 10th के बाद शुरुआत करते हैं । यह एक ऐसा विषय है जिसमें डॉक्टर बनने के साथ – साथ फार्मासिस्ट और मेडिकल क्षेत्र में कैरियर बनाने के बहुत सारे अवसर हैं।

समय परिस्थिति बदलने के दौरान विषयों का चयन छात्र के कैरियर के लिए बहुत बड़ा महत्वपूर्ण हो जाते हैं जैसे कोरोनावायरस के आने से मेडिकल और स्वास्थ्य विभाग में बहुत ही ज्यादा स्टाफ और पैरामेडिकल स्टाफ की जरूरत पड़ी। इस दौरान जो छात्र साइंस लेकर पढ़ाई की थी जिसमें बायो सब्जेक्ट की चयन था । उन स्टूडेंट को करोना प्रियड में बहुत सारे अवसर मिले जो उनकी कैरियर को और भी ऊंचाई पर ले जाने का अवसर उन । science bio lene ke fayde –

बायो सब्जेक्ट के बारे में –

साइंस स्ट्रीम के विषय में जीव विज्ञान को बायोलॉजी कहते हैं इस सब्जेक्ट का चयन छात्र 10th के बाद मेडिकल लाइन में कैरियर बनाने के लिए चयन करते हैं मेडिकल विभाग में अलग-अलग फील्ड खुले हुए हैं जिसमें जो स्टूडेंट बायोसाइंस लेकर पढ़ाई करते हैं उन्हें अपनी कैरियर बनाने का बहुत सारा क्षेत्र है। इस विषय की पढ़ाई में मनुष्य, पेड़ पौधे और जीव जंतु के बारे में आंतरिक परीक्षण की पढ़ाई की जाती है।

मुख्य रूप से बायो साइंस की पढ़ाई मनुष्य में हुए रोगों के निवारण करने के लिए की जाती है इसके अलावा पेड़ पौधों और जीव जंतु के विभिन्न अंगों के बारे में जानकारी दी जाती है । इस विषय में 2 ब्रांच होते हैं बॉटनी और जूलॉजी बॉटनी में पेड़ पौधे की जानकारी दी जाती है और जूलॉजी में जीव जंतु के बारे में पढ़ाई किया जाता है।

पढ़े – अश्वशक्ति पाउडर के फायदे नुक्सान । Ashwashakti powder ke fayde.

साइंस बायो लेने के फायदे –

छात्र अपने कैरियर की शुरुआत अपनी रूचि के आधार पर करते हैं । जिनकी रूचि साइंस विषय की पढ़ाई करने में र होती है वह 10th के बाद ही इसका चयन कर लेते हैं । साइंस सब्जेक्ट की पढ़ाई के लिए बहुत सारे प्रोफेशनल कोर्स भी हैं। साइंस की पढ़ाई में मेडिकल और इंजीनियरिंग के क्षेत्र आते हैं ।

साइंस स्ट्रीम की पढ़ाई करने में बहुत सारे मनपसंद नौकरी के अवसर और अपने कैरियर बनाने के बहुत सारे रास्ते खुले रहते हैं। इतना ही नहीं जिन छात्रों को अंतरिक्ष विज्ञान की जानकारी हासिल करने हो वे साइंस विषय की चयन के द्वारा ही कर सकते हैं।

10वीं के बाद साइंस बायो लेने के फायदे

बायो साइंस लेने के फील्ड में बहुत सारे सब्जेक्ट हैं जिसके माध्यम से छात्र अपने कैरियर की शुरुआत कर सकते हैं। यह धारणा गलत है कि बायोलॉजी सब्जेक्ट सिर्फ मेडिकल लाइन तक ही सीमित है इसमें बहुत सारे ऑप्शंस हैं।

बायोलॉजी सब्जेक्ट लेने वाले विद्यार्थी मेडिकल फील्ड में जाने के लिए अपने कैरियर की शुरुआत डॉक्टर बनने की इच्छा से कर सकते हैं । एमबीबीएस, बीडीएस, बी. यू. एम. एस. की पढ़ाई की जाती है। इसके अलावा नरसिंग, बी फार्मा, डी फार्मा, बीपीटी इत्यादि की पढ़ाई मेडिकल फील्ड की है शुरुआत है।

पढ़े – रातोंरात गोरा होने के उपाय । 11 बेस्ट क्रीम व घरेलू उपाय

12th मे साइंस बायो लेने के फायदे

छात्र अपनी रूचि के आधार पर 10th के बाद विषय का चयन करते हैं जिन छात्रों को अपनी ख़ैरियत इंजीनियरिंग और मेडिकल में बनाने की इच्छा है वह साइंस सब्जेक्ट का चयन करते हैं। साइंस में बायोलॉजी के क्षेत्र में रुचि रखने वाले छात्र अपने विषय का चयन बायोलॉजी, फिजिक्स, केमेस्ट्री, इंग्लिश और एक इलेक्ट्रिक सब्जेक्ट के आधार पर करते हैं।

दूसरी ओर जिन छात्र के रूचि में इंजीनियर बनने की इच्छा है वह अपने सब्जेक्ट का चयन फिजिक्स, केमेस्ट्री, मैथ इंग्लिश और इलेक्टिसेव सब्जेक्ट से करते हैं।

पढ़े – सील टूटने के बाद कितने दिन मे जुड़ जाती है – जाने सील का सच

साइंस लेकर क्या क्या बन सकते हैं ।

इसके अलावा साइंस लेकर ब्रॉडकास्टिंग के फील्ड में भी छात्रा पुरी कैरियर बना सकते हैं इसके अलावा मीडिया इंडस्ट्री में भी अपनी पहचान बना सकते हैं । रिसर्च पर पढ़ लिख सकते हैं । हेल्थ केयर ( Health care ) वर्कर का काम कर सकते हैं एविएशन के फील्ड में भी काम किया जा सकता है।

साइंस के क्षेत्र में उच्च शिक्षा ग्रहण करने के बाद डॉक्टर इंजीनियर, ऑफिसर ब्रॉडकास्ट, मीडिया प्रभारी, हेल्थ केयर वर्कर और नर्स ऑपरेशन थियेटर टेक्निशियन मेडिकल लैब टेक्रीशियन बन सकते हैं इसके अलावा आईएएस और आईपीएस भी बन सकते हैं।

बायो से कौन-कौन सरकारी नौकरी मिल सकती है।

बायोलॉजी पढ़ाई करने के बाद एमबीबीएस, बीएचएमएस, बीडीएस, बी फार्मा, बीएससी नर्सिंग, बीएसई की पढ़ाई पूरी करने के बाद इन सभी क्षेत्र में सरकारी नौकरी हासिल किया जा सकता है ।

साइंस बायो वालों छात्राओं के लिए डॉक्टर बनने के लिए 12th के बाद NEET का टेस्ट देने की आवश्यकता है । टेस्ट मे रैंक के अनुसार सरकारी कॉलेजो मे एम बी बी एस मे एडमिशन मिल जाता हैं । इसी प्रकार साइस बायो वाले छात्राओं को लेब टेक्निशियल, रेडियोग्राफर, एक्सरे, इसीजी आदि क्षेत्रो मे जॉब मिलने की प्रबल संभावना रहती हैं ।

बायोलॉजी वाले इंडियन आर्मी में जा सकते हैं।

बायोलॉजी के अलावा किसी भी स्क्रीन के बच्चे इंडियन आर्मी में आसानी से अपनी योग्यता के अनुसार स्थान हासिल कर सकते हैं। जिस तरह इंडियन आर्मी में अन्य सभी स्ट्रीम के उम्मीदवारों की आवश्यकता होती है । उसी तरह साइंस के यानी कि बायोलॉजी के स्टूडेंट की आवश्यकता भी होती है । इंडियन आर्मी में दिए गए प्रशिक्षण के तहत बायो साइंस के स्टूडेंट को भी उसी तरह की प्रशिक्षण से गुजरना पड़ता है ।

लिखित रूप में उन्हें मेडिकल टेस्ट फिजिकल टेस्ट के बाद ही आर्मी में चयन किया जाता है। लेकिन इंडियन आर्मी में नौकरी केवल उन्हीं लोगों को दी जाती है जो इंडियन आर्मी के निर्धारित दिए गए परीक्षा को पास करते हैं । बायोलॉजी के इंडियन स्ट्रीम के भर्ती के लिए फिजिकल परीक्षा मेडिकल परीक्षा और लिखित रूप में ली जाती है।

सबसे पहले फिजिकल टेस्ट लिया जाता है । इसके बाद ही विद्यार्थी को मेडिकल टेस्ट देना पड़ता है। लेकिन ध्यान देने की बात यह है कि इंडियन आर्मी में शामिल होने के लिए छात्र को मेडिकल संबंधी कोई भी समस्या ना हो अर्थात वह उम्मीदवार फिजिकल रूप से फिट होना जरूरी है । इसके अलावा उम्मीदवार को फिटनेस पर पूरी पूरी ध्यान देने की आवश्यकता भी है।

साइंस जॉब लिस्ट।

साइंस स्ट्रीम के पढ़ाई करने के बाद मल्टीनेशनल कैरियर बनाने का बहुत ही सुनहरा अवसर छात्र को मिलता है । इसके लिए दो ग्रुप होते हैं पीसीएम और पीसीबी। लेकिन सरकारी नौकरी हासिल करने के लिए साइंस में ग्रेजुएशन होना बहुत ही आवश्यक है जिसके लिए यूपीएससी, एसएससी और आरआरबी की नौकरी हासिल किया जा सकता है।

बैंक, पोस्ट ऑफिस के अलावा 12वीं के स्टूडेंट को कंप्यूटर कोर्स के करके डाटा एंट्री के विभिन्न जॉब हासिल हो सकत हैं। इंजीनियर, साइंटिस्ट टीचर, आर्मी ऑफिसर, बैंक मैनेजर, सॉफ्टवेयर डेवलपर, वेब डिजाइन इत्यादि क्षेत्र में साइंस के स्टूडेंट वाली अपनी योग्यता के अनुसार कार्य हासिल कर सकते हैं।
अर्थात 12वीं के बाद साइंस वाले स्टूडेंट के लिए बहुत सारे अवसर खुले रहते हैं बशर्ते कि उस परीक्षा में उन्हें सफलतापूर्वक अपने ज्ञान की परीक्षा देनी होगी ।। कल्पना झा ।।