पेनिस में तनाव की दवा Ayurvedic. 5 लिंगवर्धक देसी एवं घरेलू उपचार

Penis me tanav ki dawa ayurvedic

पेनिस में तनाव की दवा Ayurvedic. ( Penis me tanav ki dawa ayurvedic ) यह पुरुषों मे होने वाली वो बिमारी है जिसे इरेक्टाइल डिस्फंक्शन कहते है । जिसकी वजह से पुरुष को लिंग मे कठोरता पन या तनाव नहीं आ पाता है । या कठोरतापन या तनाव इतना कम हो जाता है जिसकी वजह से वो अपने पार्टनर के साथ संभोग नहीं कर पाते।

आमतौर पर 50 -70 साल की उम्र के पुरुषो मे पेनिस में तनाव की पाई जाती थी लेकिन आजकल मात्रा 30 – 40 की उम्र के पुरुषों में यह प्रॉब्लम देखी गई है । बढ़ती उम्र के साथ लिंग का ढीलापन, उत्तेजना की कमी, खड़ा न होना जैसे प्रॉब्लम आम हैं । इरेक्टाइल डिस्फंक्शन पर खासतौर पर जानकारी देने से पहले हमे सबसे पहले ये जानना होता है कि, इरेक्शन होता कैसे है ?

पढ़े – जिसका खडा नहीं होता उसकी दवा ।

लिंग में इरेक्शन कैसे होता है ?

इरेक्शन होने के लिए सामान्यतः हमारे शरीर मे 5 महत्वपूर्ण केंद्र है जिनका आपस मे समन्वय तरीके से काम करना बेहद जरुरी है । सबसे महत्त्वपूर्ण चीज है हमारे मस्तिष्क मे कल्पना तैयार होना यह कल्पना सदृश करना (fantasy visual practical ) और कल्पना की जरिये ही कल्पना तैयार होती है ।

तो यह मस्तिष्क हमारे नर्वस सिस्टम खास तौर पर पेंराथींसिस नर्वस सिस्टम को केलकुलेट करता है जिस की वजह से हमारे लिंग मे पिनाइस एंट्री मे खुन का प्रभाव तेजी से होता है। उस के साथ साथ खुन मे आने वाली धमनीयॉ है उन मे रक्त प्रभाव कम हो जाता है। बंद भी हो जाता है। जिसकी वजह से हमारे लिंग मे टिश्युस मे खुन इकठ्ठा हो जाता है ।

पढ़े – बैधनाथ कंपनी की दवा Shighrapatan.

पेनिस में तनाव की कमी के कारण । Ling me dheelapan ke karan.

पेनिस में तनाव की कमी या ढीलापन के कई कारण हो सकता है । लेकिन मुख्य रूप से बढ़ती उम्र एक बड़ा खतरा होता है । शरीर के गुप्तांगों की देखभाल न करने से प्रजजन क्षमता की कमी हो सकती हैं । तो चलिए जानते है –

  • उम्र बढने के साथ नपुंसकता बढने की संभावना बढ़ जाती है ।
  • गम्भीर रोग जैसे मधुमेह, उच्च रक्तचाप, उच्च कोलेस्ट्रॉल, दिल की समस्या आदि ।
  • हायपर टेंशन है स्लिपी फोबिया है या कोई पेंट्री डिसीज है जो अनियंत्रित है उन मे भी नपुंसकता होने की संभावना बढ जाती है ।
  • वजन का बढ़ना यानी मोटापे के कारण भी पेनिस में तनाव की कमी हो सकती हैं ।
  • धूम्रपान ( chronic smoking ) एवं शराब ( chronic alchohol ) सेवन करने से इरेक्टाइल डिस्फंक्शन का खतरा बढ़ जाता है ।
  • वह इंसान जो कि, किसी कारण अवसाद ( Depression ) मे या चिंता के कारण पेनिस में तनाव की कमी का खतरा बढ़ सकता है ।
  • कुछ दवाओं के साइड इफेक्ट्स के कारण भी इरेक्टाइल डिस्फंक्शन की प्रॉब्लम देखी गई है ।

पेनिस में तनाव की दवा Ayurvedic.

आयुर्वेद के अनुसार पेनिस में तनाव या ढीलापन दूर करने के लिए जड़ी बूटियों का सेवन करने के साथ साथ योगासन पर ध्यान देना चाहिए । इतना ही नहीं तनाव से दूर रहे, धूम्रपान से परहेज़ करना चाहिए ।

इन जड़ी बूटियों के सेवन करने से पेनिस ( लिंग ) की मांशपेशियों एवं नसों में रक्त संचार बढ़ता है । जिससे लिंग जल्दी उत्तेजित होता है । वही पेनिस में इरेक्शन की प्रॉब्लम दूर होती हैं तो चलिए जानते है – Penis me tanav ki dawa ayurvedic.

पढ़े – पतंजलि में नामर्दी की दवा । Patanjali me namardi ki dawa.

पेनिस में तनाव की आयुर्वेदिक दवा – शतावरी ( Shatavari )

शतावरी एक आयुर्वेदिक जड़ी बूटी हैं । इसे 100 बीमारियों की दवा के नाम से जाना जाता है । न केवल महिलाओं बल्कि पुरुषों के लिए रामबाण औषधि है । यह पुरुषों में होने वाली लैंगिक प्रॉब्लम जैसे पेनिस में तनाव की कमी, उत्तेजना की कमी, टेस्टोस्टेरोन हार्मोन की कमी, कामेच्छा की कमी जैसी कई प्रॉब्लम के लिए कारगर है । पढ़े – शतावरी के फायदे महिलाओं के लिए

शतावरी से निर्मित अनेक प्रकार की दवा मार्केट में उपलब्ध हैं जैसे शतावरी पाउडर, शतावरी टेबलेट, शतावरी चूर्ण आदि । इनका उपयोग गुनगुने दूध के साथ सेवन किया जा सकता है । या चिकित्सा की सलाह से कर सकता है । इनका कोई साइड इफेक्ट्स नहीं है फिर भी अधिक खुराक सेवन न करे ।

नपुंसकता की रामबाण आयुर्वेदिक दवा – जिनसेंग ( Ginseng )

यह एक ऐसी जड़ी बूटी है जो सेंट्रल नर्वस सिस्टम को दुरस्त करता है । इसमें उपस्थित जिनसेनोसाइड नामक तत्व जो पेनिस की नसों मे रक्त संचार बढ़ाता है । जिससे लिंग में उत्तेजना पैदा होती है । पेनिस की नसों व रक्त वाहिकाओं को मजबूती प्रदान करती है जिससे न केवल पेनिस ताकतवर होता हैं बल्कि सख्त व कठोर बनता है ।

एक शोध में यह तथ्य सामने आया कि लगातार 7 दिनों तक सेवन करने से पेनिस में कठोरता आती हैं । यह लिंग में उत्तेजना बढ़ाने में कारगर है । मार्केट में यह टेबलेट के रूप में उपलब्ध हैं । इस बात का ध्यान रखें कि यह टेबलेट कोरियाई जिनसेंग से बनी होनी चाहिये । यहां इस बात का भी ध्यान रखें कि दिन में एक से अधिक टेबलेट का सेवन न करें अन्यथा कई साइड इफेक्ट्स हो सकते है । इनका सेवन चिकित्सा सलाह से करें तो बेहतर है ।

स्तम्भन दोष की आयुर्वेदिक दवा – सफेद मूसली ( Safed Musali )

पेनिस को लंबा मोटा करने के लिए प्रकृति ने अनेको जड़ी- बूटियां उत्पन्न की जिसमें से सफेद मूसली भी एक है । इनका नियमित रूप उपयोग करके पेनिस में ब्लड फ्लो को आसानी से बढ़ा सकते हैं । इतना ही नहीं यह जड़ी बूटी लिंग में इरेक्शन बढाने, सख्त खड़ा करने, टाइमिंग बढ़ाने के लिए कारगर है ।

बाजार में सफेद मूसली से बने अनेक प्रकार के उत्पाद विभिन्न प्रकार के ब्रांडो में उपलब्ध है । जैसे सफेद मूसली पाउडर, सफेद मूसली चूर्ण, टेबलेट आदि । इनका उपयोग वैध की सलाह से करें । इनका सेवन दूध या पैकेट पर दी गई जानकारी के अनुसार किया जा सकता । इनका कोई साइड इफेक्ट्स नहीं है फिर भी अत्यधिक मात्रा में सेवन न करें ।

पढ़े – पतंजलि पेनिस तेल । Patanjali ling vardhak oil.

पेनिस में तनाव की दवा Ayurvedic. जिंको बिलोबा ( Ginkgo biloba )

यह एक ऐसी औषधि है जो लिंग की मांशपेशियों में ब्लड सर्कुलेशन को बढ़ाने में कारगर है । यह औषधि नपुंसकता एवं लिंग की उत्तेजना की कमी को दूर करने वाली एक रामबाण औषधि है । इसके अलावा पेनिस का ढीलापन दूर करके सख्त खड़ा करने के लिए लाभदायक है ।

एक्सपर्ट के अनुसार इनका कोई साइड इफेक्ट्स नहीं है फिर अत्यधिक मात्रा में सेवन न करे । मार्केट में पाउडर व सप्लीमेंट कैप्सूल के रूप में उपलब्ध है । इनका सेवन चाय के साथ किया जा सकता है । लेकिन इस बात का अवश्य ध्यान रखें कि यदि आप उच्च रक्तचाप या ह्रदय रोग की दवाओं का सेवन कर रहे हैं तो इनका सेवन डॉक्टर की सलाह से करे अन्यथा नुकसान हो सकता है ।

पेनिस में तनाव की दवा Ayurvedic. टेबलेट

स्तम्भन दोष की दवा के रूप में आयुर्वेद ने अनेको जड़ी बूटियों के बारे में बताया हैं जैसे – शिलाजीत, अश्वगंधा, सफेद मूसली, कौच के बीज आदि अनेकों अनेक । इन जड़ी बूटियों का परीक्षण एवं शोधन करके विभिन्न ब्रांडो ने अनेकों प्रकार की टेबलेट, पाउडर, चूर्ण, कैप्सूल आदि का निर्माण किया है । जो विभिन्न प्रकार के यौन विकारो के लिए लाभकारी है । तो चलिए जानते है – पेनिस में तनाव की आयुर्वेदिक दवा के बारे में –

  • कौच के बिज ( Kauch ke beez )
  • बिग जैक कैप्सूल ( Big jack capsule )
  • कामराज बूटी ( Kamaraj Buti )
  • अश्वशिला कैप्सूल ( Ashwashila capsule )
  • शिलाजीत कैप्सूल ( Shilajit capsule )
  • अश्वगंधा कैप्सूल ( Ashwagandha capsule )

इन कैप्सूल का उपयोग वैध की सलाह के अनुसार सेवन करें । एवं उनकी अधिक खुराक सेवन करने से भी परहेज करें ।

पेनिस में तनाव की दवा desi.

पेनिस में तनाव की कमी होना पुरुषों के लिए एक बड़ी प्रॉब्लम हैं । आखिर पार्टनर के सामने अपनी नाक का सवाल है । लेकिन बढ़ती उम्र हो या अन्य किसी कारण से यह प्रॉब्लम खड़ी हो जाती है । समाधान के रूप में कुछ देसी इलाज हैं जिसे आप आसानी से कर सकते है जैसे –

  • उड़द दाल का सेवन करें – आयुर्वेद के अनुसार उड़द दाल यौन विकारों के लिए उपयोगी हैं । यह न केवल धात रोग के लिए उपयोगी हैं बल्कि पेनिस में उत्तेजना बढ़ाने में कारगर है । इनका उपयोग सप्ताह में एक बार दूध के साथ कर सकते है ।
  • लहसुन व प्याज का सेवन करें – लहसुन एक सेक्स प्रॉब्लम के लिए लाभकारी है । आमतौर पर इनका उपयोग रोजाना सब्जियों में डालकर किया जाता हैं । यह एक उत्तेजना बढ़ाने वाली एवं दिल को स्वस्थ रखने वाली औषधि है ।
  • प्रतिदिन कम से कम 2 केला खाए – आयुर्वेद के अनुसार केले का सेवन करने से सेक्सुअल प्रॉब्लम दूर होती है । इसमें उपस्थित तत्व लिंग में उत्तेजना बढ़ाने में सहायक है । इनका सेवन नियमित रूप से 2 केला सुबह शाम जरूर खाए ।
  • अपनी डाइट में जिंक रिच फ़ूड को दे स्थान – हमारे शरीर में जिंक की कमी होने का मतलब सेक्स प्रॉब्लम । यह तत्व यौन विकारों के लिए रामबाण दवा है । जिंक फ़ूड जैसे अखरोट, काजू, आदि का सेवन करें ।

इसके अलावा दालचीनी व खजूर भी यौन विकारों के लिए लाभदायक है । इनका उपयोग दूध के साथ करें । ध्यान रखें कि इनका उपयोग अधिक मात्रा में सेवन करें । वही हरी सब्जियों एवं फलों का सेवन भी पर्याप्त मात्रा में करें ।

पढ़े – जल्दी मुक्ति के लिए हिमालय की दवा

पेनिस या लिंग मोटा व बड़ा करने के घरेलू उपाय । Ling ki size badhane ke  gharelu upay.

यदि आप किसी प्रकार की यौन दुर्बलता की प्रॉब्लम से परेशान है तो सबसे पहले आपको प्राथमिक उपचार या अपनी लाइफ स्टाइल पर ध्यान देना होगा । यानी आप अपनी जीवनशैली में बदलाव करके इन प्रॉब्लम से बचा जा सकता है तो चलिए जानते है – पेनिस में तनाव का घरेलू उपाय –

  • Behaviour theropy इस मे अगर आपका वजन अधिक है तो मोटापा कम करे ।
  • यदि आप smoking के आदी हैं तो इसे तुरंत छोड़े ।
  • यदि आप मधुमेह, हायपर टेंशन के मरीज हैं तो कंट्रोल करे।
  • यदि दवाइया का साइड इफेक्ट्स या सेक्सुअल दवाओं का उपयोग कर रहे हैं तो सीमित मात्रा में करें ।
  • नियमित रूप से योग व्यायाम करें जैसे तेज कदमो से चलना, किंग व्यायाम, अश्वनी मुद्रा आदि ।
  • अगर यह उपचार मरीज पर काम ना करे तो मरीजों को penis implant सलाह भी ली जा सकती है।
  • अगर जब कभी भी आपको इरेक्शन से संबंधित कोई समस्या हो तो बिल्कुल ना हिचकिचाये समय रहते ही अपने Neurologist psychologist से मिले।

अंतिम शब्द – आज के लेख ( Penis me tanav ki dawa ayurvedic ) में बताई गई जानकारी आयुर्वेद के अनुसार हैं । इनका उपयोग करने से पहले किसी योग्य वैध के साथ परामर्श अवश्य करें ।

Leave a Comment

Share via
Copy link