नामर्दी की अंग्रेजी दवा । नपुंसकता की 5 बेस्ट एलोपैथी मेडिसिन

Namrdi ki Angrezi ki dawa.

अंग्रेजी दवा – नामर्दी पुरुषों में पाई जाने वाली एक ऐसी लैंगिक समस्या है जो प्रजजन विकार उत्पन्न करती हैं । यानी एक पुरूष में प्रजनन क्षमता बिल्कुल कमजोर हो जाती हैं । फलस्वरूप Namardi की विभिन्न प्रकार की दवाएं जैसे एलोपैथी, आयुर्वेदिक, होम्योपैथी एवं पतंजलि आदि का उपयोग करना पड़ता है । सरल शब्दों में Namardi एक प्रकार से नपुंसकता होती हैं जिसे इंग्लिश में Erectile Dysfunction कहते है ।

प्रकाशित खबर के मुताबिक वर्तमान में पुरुषों में नपुंसकता जैसी प्रॉब्लम तेजी से बढ़ रही है । इनका मुख्य कारण खानपान एवं लाइफ स्टाइल हैं । इनके अलावा गंदी आदतें, बचपन की गलतियां, टेस्टोस्टेरोन हार्मोन का बिगड़ा हुआ लेवल भी मुख्य कारण है । एक्सपर्ट का कहना है कि इस प्रकार की प्रॉब्लम से बचने के लिए नियमित रूप से योग, व्यायाम एवं हेल्थी लाइफ स्टाइल को अपना कर बचा जा सकता है तो चलिए जानते है – नामर्दी की अंग्रेजी दवा के बारे में –

पढ़े – जल्दी मुक्ति के लिए हिमालय की दवा

नामर्दी के लक्षण –

नामर्दी एक प्रजजन से जुड़ी समस्या है । जिनकी पहचान करना आसान नहीं है । असल में इनकी पहचान पार्टनर के साथ बिस्तर पर होती हैं । एक पुरूष के गुप्तांग की स्थिति एवं गतिविधि को देखकर ही पता लगा सकते है । आमतौर इनके लक्षण इस प्रकार है –

  • खड़ा न होना – यह एक प्रकार की पेनिस प्रॉब्लम हैं जिससे पुरूष का लिंग खड़ा नहीं होता है । और न ही कोई तनाव होता है ।
  • शीघ्रपतन – यदि कभी कभार खड़ा होता हैं तो जल्दी स्खलित हो जाता है ।
  • धात गिरना – पेशाब के साथ या नाईट फॉल के रूप में धातु गिरता है ।

नामर्दी के अन्य लक्षण – शारीरिक कमजोरी, थकान, पार्टनर के साथ शर्मिंदगी महसूस होना, बॉडी के कमर के नीचे का हिस्सा सपात होना, अत्यधिक तनाव, नशा करना आदि ।

नामर्दी की अंग्रेजी दवा । नपुंसकता के लिए एलोपैथी मेडिसिन

नपुंसकता के इलाज के लिए अनेक प्रकार की दवाएं उपलब्ध हैं । उनमें से अंग्रेजी दवा भी एक है । एक्सपर्ट के अनुसार अंग्रेजी दवा यानी एलोपैथी दवा तुरंत अपना प्रभाव दिखाती हैं । इन दवाओं का सेवन करने के 1 घण्टे के अंदर जोश बढ़ा देती है जो अगले 4 घण्टे तक जबरदस्त असर दिखाई देता है ।

अंग्रेजी दवा सीधे तौर पर नर्वस सिस्टम को भी प्रभावित करती हैं । जिसे ब्लड फ्लो तेजी से बढ़ने लगता है । यही कारण है कि यह दवा कुछ समय के लिए जोश बढ़ाकर पुरुषत्व में वृद्धि करती हैं । प्रजजन अंगों में ब्लड फ्लो तेजी से बढ़ने पर उनकी सक्रियता बढ़ जाती है और सही तरीके से कार्य करने लगते है तो चलिए जानते है – नपुंसकता की अंग्रेजी दवाओं के बारे में –

पढ़े – नामर्दी की दवा जड़ी बूटी । नामर्द को मर्द बनाने की 7 देसी दवाए

सिलडेनाफिल । Sildenafil Viagra tablet.

यह एक अंग्रेजी दवा है जो नामर्दी/नपुंसकता जैसे रोगों के उपचार हेतु प्रयोग में ली जाती हैं । इसे पॉवर फूल टेबलेट भी कहा जाता है । इनके अलावा यह विभिन्न प्रकार के प्रजजन विकारों के लिए लाभदायक दवा है ।

Sildenafil tablet सेवन बिस्तर पर जाने से आधा घंटे पहले करना चाहिए ताकि आप बेहतर परफॉर्मेंस दे सकते हैं । ध्यान रखें कि इनका सेवन अधिक मात्रा में न करें । सरदर्द, चक्कर आना, मतली होना आदि इनके दुष्प्रभाव हो सकता है ।

वर्डेनफिल । Vardenafil Tablet. नामर्दी की अंग्रेजी दवा –

यह टैबलेट Erectile Dysfunction यानी नपुंसकता / स्तम्भ दोष की कारगर दवा है । जो रतिक्रिया के दौरान प्रजजन अंगों में रक्त प्रवाह को बढ़ाती है । लिंग में ब्लड फ्लो बढ़ने से तनाव आने लगता है ।

पेनिस में इरेक्शन आने मर्दाना ताकत पुनः लौट आती हैं । जिससे आप पार्टनर के साथ बेहतर परफॉर्मेंस कर सकते हैं । इन दवा का असर करीब 10 घण्टे से अधिक समय तक रहता है । ध्यान रखें कि अनुशासित खुराक सेवन करें । अन्य सरदर्द, चक्कर आने जैसा साइड इफेक्ट्स हो सकते है ।

पढ़े – पतंजलि में नामर्दी की दवा । Patanjali namardi ki dawa.

टाडालाफिल । Tadalafil Tablet. – नामर्दी की अंग्रेजी दवा –

यह एक 5 प्रकार की ED नामक समूह से सम्बंध रखने वाली दवा है । जो रक्त वाहिकाओं को ढीला एवं चौड़ा कर पेनिस में रक्त संचार को बढ़ा देती हैं । वही प्रजजन अंगों का स्थापन करके पेनिस को ज्यादा देर खड़ा व सख्त रखने में मदद करती हैं । यह दवा मूत्र सम्बंधित रोगों के लिए भी लाभकारी है ।

इनका उपयोग रतिक्रिया के 1 घण्टे पहले करना चाहिए । इनका असर लगभग 15 घण्टे तक रहता है । इनका उपयोग अनुशासित खुराक के रूप में करे । अन्यथा कुछ साइड इफेक्ट्स भी हो सकते है ।

पढ़े – डाबर शिलाजीत गोल्ड कैप्सूल के फायदे । Dabur shilajit gold capsule.

मैनफोर्स । Manforce 100mg. नपुंसकता की एलोपैथी दवा –

यह दवा PDE 5 नामक दवाओं के समूह से एक है । जो इरेक्टाइल डिसफंक्शन यानी नामर्दी के इलाज के लिए उपयोग में ली जाती है । यह दवा पेनिस को सख्त एवं अधिक देर तक खड़ा रखने में कारगर होती हैं । यह पेनिस में ब्लड फ्लो को बढ़ाकर तनाव लाने का कार्य करती हैं ।

योग्य डॉक्टर की सलाह से इनका सेवन 1 घण्टा पहले करे । ध्यान रखें कि अधिक खुराक सेवन न करे अन्यथा कुछ दुष्प्रभाव देखने को मिल सकते है ।

पढ़े – पतंजलि शराब छुड़ाने की दवा । नशा मुक्ति की 5 आयुर्वेदिक दवा

डैपोक्सी । Dapoxetine 60mg – शीघ्रपतन की अंग्रेजी दवा –

यह शीघ्रपतन की अंग्रेजी दवा है जो दिमाग मे सेरोटोनिन नामक हार्मोन को बढ़ाती हैं । जिससे शीघ्रस्खलन पर ब्रेक लग जाता है । वही यह डिप्रेशन को कम करके अधिक समय तक पार्टनर का सहयोग करने में मददगार होती हैं । यही कारण है कि यह आप आत्मविश्वास के साथ पारी खेल सकते है ।

डैपोक्सी 60mg टैबलेट का उपयोग घण्टेभर पहले करे । इस बात का अवश्य ध्यान रखें कि अनुशासित खुराक को स्थान दे । ताकि किसी तरह का कोई दुष्प्रभाव न हो । और नामर्दी भी दूर हो ।

नामर्दी की एलोपैथी दवाओ के नुकसान

एलोपैथी की दवा जितनी प्रभावशाली होती हैं उतनी ही नुकसानदेह होती हैं । बेहतर ऑप्शन यही है कि यदि आप नपुंसकता या नामर्दी के शिकार हैं तो इन दवाओं का सेवन डॉक्टर की सलाह से अनुशासित खुराक के रूप में करें । इन दवाओं के नुकसान इस प्रकार है –

  • जकड़न – मांशपेशियों में दर्द, ऐठन आदि ।
  • दर्द – सरदर्द, जोड़ो का दर्द, सीने में दर्द आदि ।
  • चक्कर आना, बेहोशी एवं धुंधलापन आदि ।

इनके दुष्प्रभाव से बचने के लिए 24 घण्टे में केवल एक ही खुराक सेवन करें । इन दवाओं का सेवन रोजाना न करे अन्यथा लत लगने की सम्भावना रहती हैं । यह भी ध्यान रखने योग्य है कि एलोपैथी में नामर्दी का पूर्ण इलाज नहीं है ।

पढ़े – गामा ओरीज़ोल के फायदे । Gama oryzanol benefits in hindi.

नामर्दी की होम्योपैथिक दवा । Namardi ki homeopathic dawa.

एलोपैथी की तरह होम्योपैथी में भी नामर्दी का इलाज किया जाता है । पर ये इलाज स्थायी हैं या नहीं इस बात की कोई गारंटी नहीं है । तो चलिए जानते है – होम्योपैथिक दवाओं के बारे में –

  • कैलकेरिया कर्ब 30 – नपुंसकता जैसी प्रॉब्लम के लिए यह कारगर मेडिसीन है । इनका सेवन करने से पेनिस में इरेक्शन के साथ साथ उत्तेजना भी बढ़ती है ।
  • लीकॉपीडियम 30 – यह होम्योपैथी मेडिसिन पेनिस प्रॉब्लम जैसे ढीलापन, खड़ा न होना आदि के लिए कारगर है । इनका सेवन 2 से 3 बून्द तक ही करें ।
  • डेमियन Q – यह मेडिसिन प्रजजन संस्थान के विकारो को दूर करने के लिए उपयोगी है । इनका इस्तेमाल चालीस से साठ वर्ष की आयु के लोग कर सकते है । इनका सेवन आधा कप पानी मे 10 बूंदे मिलाकर रात को सोते समय करे ।

अंतिम शब्द – आज के लेख नामर्दी की अंग्रेजी दवा ( Namrdi ki Angrezi ki dawa. ) में दी गई समस्त जानकारी का उपयोग करने से डॉक्टर से अवश्य परामर्श करें । इनके अलावा घरेलू उपाय जैसे जड़ी बूटी सेवन एवं खानपान में बदलाव करके भी Namardi से बचा जा सकता है ।

Share