नामर्दी की दवा जड़ी बूटी । नामर्द को मर्द बनाने की 7 देसी दवाएं

Namardi ki dawa Jadi - buti.

नामर्दी की दवा जड़ी बूटी । Namardi ki dawa Jadi – buti. ईश्वर ने स्त्री और पुरुष दोनों को इस धरती पर पैदा किया है । इसके पीछे जो कारण है वह आप सभी भलीभांति जानते हैं, जी हां संतान की उत्पत्ति कर उसका पालन पोषण करना व वंश को आगे बढ़ाना । परंतु कभी कभी ऐसा भी देखा गया है कि कुछ पुरुष इस योग्य नहीं होते कि संतान उत्पत्ति में पत्नी को सहयोग कर सकें । ऐसे पुरूष नपुंसक कहलाते हैं ।

नामर्दी या नपुंसकता को दूर करने के लिए कुछ आयुर्वेदिक जड़ी बूटियां रामबाण औषधि की तरह काम करती हैं । इन दवाओं का नियमित रूप से सेवन करने से लाभ होता है । साथ ही साथ उचित खानपान एवं ध्यान, मेडिटेशन करने सेहतमंद होता हैं । आज हम यहां बात करेगें कि नपुंसकता क्या है ? इसके क्या कारण हैं ? इसका क्या इलाज है और नामर्द वह मर्द में क्या अंतर है ?

पढ़े – ईडी बूस्टर कैप्सूल । ED booster capsule uses in hindi.

नामर्दी / नपुंसकता क्या है ?

किसी महिला/पत्नी से सहवास के समय पुरुष के लिंग में पर्याप्त तनाव या कड़ापन न होना और सही ढंग से सेक्स ना कर पाने को साधारण भाषा में नपुंसकता कहा जाता है।

यह एक शारीरिक और मानसिक अवस्था है जिसका प्रभाव मनुष्य की सेक्स प्रक्रिया पर पड़ता है। इसके कारण रिश्तों में मनमुटाव होना शुरू हो जाता है और आत्मविश्वास की कमी होने लगती है। आम बोल चाल में हम यह भी कह सकते हैं कि सहवास ना कर पाने की स्थिति को नपुंसकता कहा जाता है।

पढ़े – अश्वशक्ति पाउडर के फायदे नुकसान । Ashwashakti powder ke fayde.

नपुंसकता के कारण

ऐसा तो अभी तक ऐसा कोई विशेष कारण सामने नहीं आया है जो कि यह साबित कर सके कि नपुंसकता इसी से आती है। परंतु फिर भी कुछ कारण हैं जो इसके लिए उत्तरदायी माने जा सकते हैं जैसे –

ब्लैडर का कैंसर, तंत्रिका तंत्र में खराबी, ब्लड प्रैशर का हाई या फिर अचानक लो हो जाना, किसी कारण से अत्यधिक दवाइयों का प्रयोग करना, नशीले पदार्थो वो चीज़ों का सेवन, डायबिटीज/मधुमेह, कोई चोट का लगना, इत्यादि। बहुत से लोगों का कहना है कि सिगरेट पीने से भी नपुंसकता आती है परंतु ऐसा नहीं है। सिगरेट पीने से नपुंसकता नहीं आती बल्कि शुक्राणुओं की क्वालिटी में फर्क पड़ जाता है।।

मर्द और नामर्द की पहचान

मर्द की पहचान – जो पुरुष अपनी पत्नी को सेक्स से पूरी तरह से संतुष्ट कर देता है वह मर्द कहलाता है। यह व्यक्ति स्त्री के साथ मिलकर संतान उत्पत्ति कर उनका लालन पालन करते हैं और भविष्य उज्जवल बनाते हैं।

नामर्द की पहचान – हमारे समाज में लड़कियों के विवाह बाद ही पता चल पाता है कि पति पूरी तरह से पुरुष है या नहीं? ऐसे में जब लड़कियों की शादी होती है और वो भी नामर्द इंसान से तो उनका जीवन नर्क बन जाता है । क्योंकि नामर्द इंसान कभी भी अपनी पत्नी को खुश नहीं रख पायेगा और ना ही संतान की उत्पत्ति कर सकेगा। नामर्द पुरुष की पहचान केवल संभोग के समय ही हो सकती है। अन्यथा उसे देखने पर बिल्कुल भी पता नहीं चल पाता कि वह नामर्द या नपुंसक पुरुष है।

पढ़े – यौन शक्ति बढ़ाने के उपाय । Yaun shakti badhane ke upay.

यौन समस्याओं व नपुंसकता के कारण-

1. शरीर में टेस्टोस्टेरोन का स्तर कम हो जाना।
2. रक्तचाप व ब्लडप्रेशर की शिकायत होना।
3. शुगर की शिकायत
4. कोई आपरेशन होना जिसमें तंत्रिका की क्षति हो चुकी हो।
5. अधिक हस्तमैथुन करना
6. गन्दे नावेल पढ़कर भावनाओं पर नियंत्रण ना रख पाना।
7. शराब का सेवन या नशा करना।
8. विवाह से घबराना
9. अत्यधिक चिंता करते रहना।
10. यौन प्रदर्शन के बारे में चिंतित रहना।
11. डिप्रैशन रहना।
12. किसी के प्रेम में पड़कर शादी ना करना।

नामर्दी की दवा जड़ी बूटी । Namardi ki dawa Jadi – buti.

इन सभी समस्याओं को दूर करने मे आयुर्वेद में कई तरह की दवाईया एवं घरेलू जड़ी- बूटियां आ चुकी हैं। इन जड़ी बूटीयो का साइड इफेक्ट्स न के बराबर है लेकिन इनका सेवन योग्य वैध की सलाह से फायदेमंद होता है । इसी प्रकार पतंजलि में कुछ दवाएं हैं आयुर्वेदिक जड़ी बूटियों से तैयार की जाती हैं । जिसके बारे में हम पिछले लेख ( पतंजलि में नामर्दी की दवा ) में बता चुके है ।

शतावरी । Shatavari.

इसके सेवन से भूख बढ़ती है और शरीर को शक्ति मिलती है। एक चम्मच शतावरी का चूर्ण एक चम्मच मिश्री का चूर्ण मिलाकर दूध के साथ सेवन करने से नामर्द वाली शिकायत काफी अधिक कम हो जाती है।

पढ़े – पतंजलि पेनिस तेल । Patanjali ling vardhak oil.

खजूर | Khajur.

खजूर जहां खाने में स्वादिष्ट लगते हैं वहीं इसके गुण इतने अधिक है कि आप कल्पना भी नहीं कर सकते। जहां इसका सेवन स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है। वहीं इसके नियमित सेवन से मर्दाना कमजोरी दूर होती है क्योंकि खजूर में प्रचुर मात्रा में पोषक तत्व पाए जाते हैं जो शरीर को शक्तिशाली बनाने में सहायक होते हैं इसलिए मर्दाना कमजोरी से परेशान लोगों को प्रतिदिन 7 से 8 खजूर सुबह दूध के साथ सेवन करना लाभदायक होता है।

पढ़े – टाइमिंग बढ़ाने की देसी दवा । Timing badhane ki desi dawa.

मकरध्वज | Makaradhvaj.

यह एक गोली है जिसको मुसल्यादि चूर्ण के साथ सुबह-शाम सेवन करने से यौन संबंधी सभी समस्याओं को दूर करने में मदद मिलती है। जैसे- मर्दाना कमजोरी, शीघ्र स्वखलन, वीर्य पतलापन इत्यादि।

पढ़े – जिसका खड़ा नहीं होता उसकी दवा ।

नामर्दी की दवा जड़ी बूटी – भारतीय जिनसेंग ( विथानिया सोमनीफेरा ) । Indian ginseng.

यह एक ऐसी जड़ी बूटी हैं जिनका इस्तेमाल आयुर्वेदिक चिकित्सा पद्धति में किया जाता है। आयुर्वेद का कहना है कि यह औषधि वीर्य एवं शुक्राणुओं की संख्या बढ़ाने में भरोसेमंद एवं रामबाण औषधि है । इसे अश्वगंधा भी कहा जाता है ।

यह औषधि हार्मोन के लेवल को बढ़ाकर फ्री रेडिकल्स को खत्म करता है । अध्ययन से पता चला है कि यह अधिक वजन वाले लोगों में टेस्टोस्टेरोन को बढ़ाने में उपयोगी हैं । वही यह तनाव को कम करने के लिए लाभदायक है ।

मार्केट में आयुर्वेदिक स्टोर पर आसानी से उपलब्ध हो जाता है । इनके अलावा इनका चूर्ण एवं कैप्सूल भी उपलब्ध हैं । इनका सेवन अनुशासित खुराक के रूप में करें ।

नामर्दी की दवा जड़ी बूटी – सफ़ेद मुसली ( Safed Musali )

यह एक आयुर्वेदिक औषधि है जो पीले एवं सफेद रंग की जड़ के रूप में होती हैं । यह औषधि विभिन्न प्रकार के यौन विकारों के लिए रामबाण औषधि है । वही तनाव को नियंत्रित करने में भी सहायक है । यही कारण है कि यह स्तम्भन दोष के लिए भी उपयोगी है ।

इनका नियमित रूप से सेवन करने पर तनाव विकार को कम करती है जो कोर्टिकोस्टेरोन नामक तत्व के उत्पादन हेतु प्रेरित करता है । जिससे टेस्टोस्टेरोन हार्मोन नियंत्रित होता है । यही कारण है कि यह औषधि स्पर्म काउंट बढ़ाने में कारगर साबित होती हैं ।

मार्केट में इनके पाउडर, चूर्ण एवं टेबलेट के रूप में उपलब्ध है । जिससे आप आयुर्वेदिक स्टोर से आसानी से खरीदकर बताए गए दिशा निर्देश के अनुसार या वैध की सलाह से सेवन कर सकते है ।

नामर्दी की दवा जड़ी बूटी – गोक्षुरा ( Gokshura )

आयुर्वेद के अनुसार गोक्षुर एक एंटीऑक्सीडेंट एवं शुक्राणु वर्धक, वीर्यवर्धक औषधि है । यह जड़ी बूटी विशेष रूप से यौन विकारों के लिए उपयोग की जाती हैं । यह शीघ्रपतन, इरेक्टाइल डिस्फंक्शन, लिंग समस्या के लिए इस्तेमाल की जाती हैं ।

इनका नियमित रूप से सेवन करने टेस्टोस्टेरोन हार्मोन में सुधार करता है । वही तनाव व मर्दाना कमजोरी दूर करने में सहायक है । जो नपुंसकता जैसे विकारों के इलाज के लिए फायदेमंद होता है । यह मार्केट में पाउडर, चूर्ण एवं टैबलेट के रूप में उपलब्ध हैं ।

पढ़े – महिला को जल्दी डिस्चार्ज कैसे करें ।

नामर्दी की दवा जड़ी बूटी – तुलसी के बीज ( Tulsi ke beej. )

तुलसी एक ऐसा पौधा है जो आयुर्वेदिक एवं धार्मिक दृष्टि से बहुत महत्वपूर्ण है । तुलसी अन्य रोगों के लिए लाभदायक होने के साथ साथ लैंगिक प्रॉब्लम के लिए भी रामबाण औषधि है । इनके बीजों का सेवन करने यौन विकार दूर होते हैं । यह पेनिस वर्षक होने के साथ साथ कामेच्छा वर्धक भी होते हैं ।

आयुर्वेद के अनुसार इन बीजो का नियमित रूप से इस्तेमाल करने पर बांझपन, स्तंभन दोष एवं शीघ्रपतन जैसी लैंगिक प्रॉब्लम से राहत मिलती है । इनका सेवन योग्य वैध की सलाह से अनुशासित खुराक के रूप में किया जा सकता है ।

नामर्द को मर्द बनाने का नुस्खा ।

Namardi ki dawa Jadi – buti. एक ऐसी जड़ी बूटी है जो नामर्द को मर्द बना देती हैं । इन आयुर्वेदिक औषधियों का एक मिश्रण तैयार किया जाता हैं जिसे मुसल्यादि चूर्ण कहते है । इनके घटक इस प्रकार है –

  • अश्वगंधा,
  • शतावरी
  • सफेद मूसली,
  • तालिमखाना,
  • विदारीकंद व
  • उरांगन आदि ।

ये सब चीज़े 20- 20 ग्राम लें और शक्कर 100 ग्राम लेकर इनका चूर्ण बना लें। इस चूर्ण को 2 से 5 ग्राम की मात्रा में दिन में दो बार दूध के साथ सेवन करें। इसके सेवन से काम उत्तेजना बढ़ेगी और स्वप्नदोष दूर होगा। यह पुरूषों का वीर्य गाढ़ा कर देता है जिससे शीघ्रपतन नहीं होता और नामर्दी को दूर किया जा सकता है।

नामर्दी की दवा जड़ी बूटी से जुड़े कुछ प्रश्नोत्तर ( FAQ )

नामर्द की साधारण पहचान क्या है ?

बड़े बुजुर्ग लोगों का कहना है कि नामर्द पुरुष की हाथो वो पैरो की उंगलियों में काफी पतलापन होता है। उंगलियां महिलाओं की तरह दिखती हैं। यदि किसी पुरुष की उंगलियां कमज़ोर हैं या पतली हैं तो समझ जाओ कि उसका लिंग भी कमज़ोर होगा और सहवास के समय उसमें कड़ापन नहीं आ पायेगा। ऐसी स्थिति में पत्नी तो संतुष्ट होगी ही नहीं साथ ही संतान भी उत्पन्न नहीं हो पायेगी।

क्या खाने से आदमी नामर्द हो जाता है ?

मर्दाना शक्ति बनाए रखने के लिए प्रोटीन का सेवन कम करना चाहिए । बॉडी में प्रोटीन की अधिकतम मात्रा पुरुष को नपुंसकता की ओर ले जा सकती है। इसी प्रकार ज्यादा खट्टी एवं मीठी, आँवला, केले की जड़ व कोल्ड ड्रिंक नामर्दी की ओर ले जाती हैं ।

स्तंभन दोष के लिए सबसे अच्छा आयुर्वेदिक दवा कौनसी है ?

यह एक पुराना आयुर्वेदिक नुस्खा है जो महिला एवं पुरुषों को कई गुप्त रोगो से छुटकारा दिलाने में सफल होता देखा गया है। इसके लिए एक चम्मच अश्वगंधा पाउडर, एक चम्मच मिश्री का पाउडर मिलाकर दूध के साथ सुबह – शाम सेवन करना फायदेमंद होता है। अश्वगंधा चूर्ण के सेवन से मर्दाना कमजोरी, नपुंसकता, शीघ्रपतन, स्वप्नदोष जैसी समस्याओ को दूर किया जा सकता हैं ।

मर्द बनने के लिए क्या खाएं ?

मर्द बनने के लिए कुछ खानपान पर ध्यान देना आवश्यक है । इनके उड़द दाल, कच्चे लहसुन की कलिया, कच्चा प्याज, खजूर, दही, केला, अखरोट, गाजर, कस्तूरी, अदरक एवं हरी सब्जियों का सेवन करना चाहिए ।

अंत में हम यही कहेगें कि जीवन एक बार मिलता है अपने शरीर को हस्तमैथुन से खराब मत करो । यदि शरीर में कोई कमी है तुरंत चिकित्सक से संपर्क करें और सारी समस्याओं को बताएं ।। शाहाना परवीन “शान” ।।

Leave a Comment