जानें क्यों होती है महिलाओं को संबंध बनाने की इच्छा ।

Jane kyo hoti hai mahilao ko sambandh bnane ki ichcha.

हर इंसान के मन में सवाल होता है कि जानें क्यों होती है महिलाओं को संबंध बनाने की इच्छा । वर्तमान परिवेश या बढ़ते अवैध सम्बन्धो को देखकर शायद आपके मन में यही प्रश्न कुतूहल मचा रहा होगा । वैसे कुछ करने के लिए आसपास का वातावरण एवं सोच मुख्य कारण होती हैं । ठीक वैसे इनका जबाब भी इनके इर्दगिर्द घूमता है ।

फिज़िकल रिलेशन जितना निजी होता हैं उतना जरूरी भी । औऱ नर नारी की रजामंदी से होता है । कुछ पुरूष सोचते है कि कब उनकी करने की इच्छा हो और कब वह छक्के पे छक्के लगाए । पर स्त्री के मन की बात जानना आसान नहीं हैं । वैसे फिज़िकल रिलेशन बनाना मानवीय स्वभाव का हिस्सा है । करने की इच्छा जितनी पुरुष को होती हैं उतनी महिलाओं को होती हैं । तो आइए – जानते हैं –

पढ़े – अश्वशक्ति पाउडर के फायदे व नुकसान । Ashwashakti powder ke fayde.

Table of Contents

जानें क्यों होती है महिलाओं को संबंध बनाने की इच्छा ।

महिलाओं में होने वाले परिवर्तन, शारिरिक क्षमता एवं आस पास का वातावरण संबंध बनाने के लिए प्रेरित करता है । कभी शरारत या बगावत के रूप में तो कभी शरीर की भूख मिटाने के लिए पुरुष के प्रति आकर्षित होती हैं । उम्र के साथ हार्मोन्स के बढ़ने के कारण संबंध की ओर बढ़ती है । वैसे फिज़िकल रिलेशन जीवन का अहम हिस्सा है या यूं कहें कि पति पत्नी का रिश्ते के बीच मजबूत कड़ी है ।

ल्यूटिनाइजिंग हार्मोन के कारण 

जिस प्रकार पुरुषों के लिए टेस्टेस्टेरोन हॉर्मोन महत्वपूर्ण होता है । उसी प्रकार महिलाओं में ल्यूटिनाइजिंग हार्मोन के कारण इच्छा तीव्र होती हैं । यह हॉर्मोन जितना ज्यादा बढ़ेगा उतनी करने की इच्छा बढ़ेगी ।

फर्टिलिटी पॉवर के कारण होती हैं महिलाओं को संबंध बनाने की इच्छा ।

महिलाओं में एक विशेष पॉवर होता है जिसे फर्टिलिटी पॉवर कहा जाता है जो हर महीने में 7 दिन अपने चरम पर होती है । यही पॉवर ओव्यूलेशन पीरियड ( Ovulation Periods ) के दौरान महिलाओं में कामेच्छा को बढ़ाता है । इन दिनों बनने वाले ओर्गेज्म भी महिलाओं को संबंध बनाने की ओर आकर्षित करते हैं । यह ओर्गेज्म इतने पॉवरफुल होते है एक महिला पुरुष से अधिक सेक्स कर सकती हैं ।

पढ़े – मेडरमा क्रीम कैसे इस्तेमाल करें । Medrma cream uses in hindi.

आस पास के वातावरण के कारण होती हैं करने की इच्छा ।

आस पास का वातावरण किसी महिला पुरुष को संबंध बनाने के लिए प्रेरित करता है । जैसे आस पास के लोग, मोबाइल, टीवी एवं वेषभूषा आदि काफी हद सेक्स करने की इच्छा को बढ़ा सकते है ।

सोच की प्रवृत्ति के आधार पर

किसी भी इंसान की सोच सबसे अहम होती हैं जो आपको किसी भी कार्य करने को प्रेरित करती हैं । इसी प्रकार सेक्सी सोच, भावना, विचार आदि महिलाओं को न सेक्स करने बल्कि उत्तेजित करने में मदद करती है । जिनकी सोच सेक्सी होती हैं वो महिला उतनी तेज इच्छा होगी संबंध बनाने की ।

17 के बाद, जाने क्यों होती हैं महिलाओं को संबंध बनाने की इच्छा ।

17 वर्ष की उम्र के बाद लड़कियों / महिलाओं में बढ़ती उम्र के साथ हार्मोन्स स्त्रावित होता है जो संबंध की ओर आकर्षित करता है । इस उम्र में बढ़ती अनजानी यौन इच्छा के कारण कुछ गलतियां भी हो जाती हैं । एक शोध के अनुसार लड़कियों में 17 से 29 वर्ष की उम्र संबंध बनाने की इच्छा अधिक होती हैं ।

30 के बाद,

महिलाओं के सम्बंध में एक कहावत है सत्रह को खतरा – तीस के बाद पीस । यह वो उम्र है जिसमें में महिला पूर्ण रूप से परिपक्व हो जाती हैं । यहां तक आते आते सेक्स सम्बंधित पूरी जानकारी, तर्क – वितर्क से अच्छी तरह से वाफिक हो जाती हैं । हर महीने बनाने स्त्रावित होने वाले हार्मोन संबंध बनाने की इच्छा को जागृत करते हैं । हाल ही हुए एक शोध के अनुसार 30 से 45 वर्ष की उम्र में सेक्स करने की इच्छा अधिक होती हैं ।

पढ़े – एलोवेरा से ब्रैस्ट कैसे बढ़ाएं । Aloevara for breast growth in hindi.

प्रेगनेंसी के दौरान,

महिलाओं के लिए प्रेगनेंसी एक कठिन समय होता है । इस दौरान एक महिला अपने पति का साथ रहती है । एक पति उनका बेहतर देखभाल करने की कोशिश करता है । इस समय महिलाओ के शरीर में हार्मोनल बदलाव भी होते रहते हैं । यही कारण है कि महिलाओ का मुड संबंध बनाने को लेकर बार-बार स्विंग होता रहता हैं । वही एस्ट्रोजन और प्रोजेस्ट्रोन हार्मोन स्तर भी बढ़ जाता है जो संबंध बनाने की इच्छा को जागृत करता है ।

पार्टनर के स्पर्श से,

पार्टनर द्वारा प्यार से स्पर्श करने से महिला उत्तेजित हो सकती हैं । प्यार भरी बातें, दिन भर उनके साथ घूमना, साथ खाना खाना, उनके द्वारा किए गए अंगो का स्पर्श उनकी संबंध बनाने की इच्छा को बढ़ा देता है ।

यह सुनकर भले ही आपको थोड़ा अजीब लगे लेकिन मासिक धर्म चक्र के दौरान महिलाओं को संबंध बनाने की इच्छा काफी तेज होती है। क्योंकि इन दिनों शरीर में हार्मोन्स के स्तर में व्यापक रुप से बदलाव आते हैं । यही नहीं पीरियड्स में या उनके बाद संबंध बनाने से प्रेग्नेंट होने की संभावनाएं भी बहुत कम होती हैं।

खाली दिमाग के कारण महिलाओं को संबंध बनाने की इच्छा ।

कहा जाता है कि खाली दिमाग शैतान का घर … । यानी खाली दिमाग शैतानी कर लेता है । जी हां जिस व्यस्त इंसान केवल अपने काम छोड़कर अन्य बातों के बारे में नहीं सोच सकता है । वही खाली दिमाग वाले व्यक्ति के दिमाग में कुछ न कुछ चलता रहता हैं । उनका मूड स्वीमिंग होता रहता है । जो फिज़िकल रिलेशन बनाने की इच्छा को जन्म देता है ।

पढ़े – स्त्री को स्खलित करने के उपाय । Mahila kamottejana kaise badhae.

महिलाओं को सप्ताह में कितनी बार संबंध बनाने की इच्छा होती हैं ?

यह किसी भी महिला के मनोविज्ञान, समय के अनुसार परिस्थितियों एवं मनोदशा पर निर्भर करता है । कि आप सप्ताह में कितनी बार संबंध बना सकते है ।

महिला की कितनी उम्र तक सम्बन्ध बनाने की इच्छा होती हैं ?

महिलाओं की कितनी उम्र तक संबंध बनाने की इच्छा होती हैं । यही सवाल काफी अहम है लेकिन यौन संबंधों की इच्छा के पीछे कई कारक होते है जो या प्रेरित करते है उसे दबा देते हैं । शारिरिक, मानसिक, सामाजिक व आर्थिक । वैसे 18 से 29 वर्ष की उम्र में सबसे तेज यौन इच्छा होती हैं । 30 से 50 तक की महिलाओं में कामेच्छा का स्तर कम हो जाता है । वही हेल्थी लाइफ स्टाइल के लोगों में 50 के बाद भी यौन इच्छा होती हैं ।

ब्रिटिश शोध के अनुसार बढ़ती उम्र में पुरुषों की तुलना महिलाएं यौन इच्छा जल्दी खो लेती हैं । जब पुरुषों में यौन शक्ति की गिरावट 35 से 44 वर्ष की उम्र थी वही महिलाओं 55 से 65 की उम्र थी ।

हाल ही में प्रकाशित ब्रिटिश शोध के अनुसार 16 से 74 वर्ष की उम्र की महिलाओं में यौन संबंधों में मजबूत संबंध पाया गया । भारत में 16 से 50 वर्ष तक की उम्र में यौन शक्ति का संबंध पाया जाता है ।

रोज शारीरिक संबंध बनाने से क्या होता है ?

रोज शारिरिक संबंध बनाने से ब्लड सर्कुलेशन कंट्रोल में रहता है । वही दिल की बीमारियों के लिए फायदेमंद होता है । रोज संबंध बनाने से शारिरिक रूप एक्ससाइज हो जाती हैं जो आपको को खुशनुमा बनाने में मदद करती हैं । लेकिन इनके लिए आपको पौष्टिक आहार की आवश्यकता होती है अन्यथा नुकसान भी हो सकते है ।

पराई स्त्री से संबंध बनाने से क्या पाप लगता है ?

हमारे सनातन परंपरा के अनुसार पराई स्त्री के साथ संबंध बनाना एक बड़ा अपराध माना गया है । क्योंकि जब शादी के दौरान अग्नि को साक्षी मानकर 7 फेरे खाये जाते हैं । उन में फेरो में, उन 7 वचनों में यह भी कहा गया है कि शादीशुदा जोड़े को किसी पराई स्त्री / पुरूष के सोना पाप का भागीदार होता है । लेकिन वर्तमान परिप्रेक्ष्य में यह गलत है ।

पढ़े – यौन शक्ति बढ़ाने के उपाय । Yaun shakti badhane ke upay.

यदि आप किसी की मर्जी से संबंध बना रहे है तो कोई पाप नहीं होता हैं । इसके विपरीत किसी के साथ जबर्दस्ती से, कोई लोभ प्रलोभन देकर, किसी की मजबूरी का फायदा उठाकर कोई भी व्यक्ति किसी स्त्री के साथ संबंध बनाता है तो वह महापाप की श्रेणी में आता है । कानूनी रूप से भी अवैध माना गया है । वह कानूनी रूप से सजा का हकदार हैं । इसलिए पराई स्त्री के साथ संबंध न बनाये तो बेहतर होगा ।

शारीरिक संबंध बनाने की सही उम्र ।

शारिरिक संबंध बनाने की सही उम्र की बात करें तो कानून के अनुसार 18 व 21 वर्ष निर्धारित की गई हैं जो काफी हद तक सही है । जब एक महिला एवं पुरूष शारिरिक रूप से पूर्ण परिपक्व हो जाते हैं वही उम्र सही मानी जाती है । वर्तमान में यह समय 18 व 21 बजाय 21 औऱ 24 करने पर विचार चल रहा है । यह तथ्य भी उचित ही लगता है क्योंकि इस उम्र में आते आते कोई भी महिला पुरूष परिपक्व हो जाते हैं ।

पहली बार शारीरिक संबंध बनाने के बाद महिलाओं में होते हैं ये बदलाव, जानिए

जब पहली बार संबंध बनाने से महिला के शरीर में कई प्रकार के बदलाव आते हैं । जैसे स्तनों में बदलाव, हॉर्मोन्स का उत्पादन शुरू होता है जैसे एंडोर्फिन, डोपामाइन, ऑक्सीटोसिन हॉर्मोन का स्तर काफी बढ़ने लगता है, कामोत्तेजना के कारण ब्लड फ्लो का बढ़ना आदि बदलाव होते हैं जो महिला को खुशनुमा बनाते हैं ।

पढ़े – सिल्डेनाफिल के फायदे । Sildenafil tablet uses in hindi.

महिलाओं को संबंध बनाने की सबसे अधिक इच्छा कब होती हैं ?

ओव्यलैशन पीरियड्स वह समय है जो जैविक रुप से सेक्स का सर्वोत्तम समय माना गया है क्योंकि इस दौरान महिलाओं के हार्मोन्स काफी सक्रिय एवं बढ़े हुए होते हैं। एस्ट्रोजन स्तर उतार चढ़ाव होता है। साथ ही साथ प्रोजेस्ट्रॉन हॉर्मोन स्तर हाई होता है जिससे महिलाओं को संबंध बनाने की इच्छा बहुत अधिक होती है। सबसे महत्वपूर्ण तथ्य यह है ओव्यलैशन के दौरान महिलाओं में पुरुषों को आकर्षित करने के लिए फेरोमेन्स ( Pheromones) का भी निर्माण होता है।

महिलाओं में संबंध बनाने की इच्छा में कम होने के कारण –

जिस प्रकार कुछ कारक सेक्स करने की ओर आकर्षित करते है । इसी प्रकार समय समय पर बनती बिगड़ती परिस्थितियां भी सेक्स में कमी लाती हैं । महिलाओ में सेक्स की कमी के कारण इस प्रकार है –
● तनाव / अवसाद
● बीमारी या कोई शारिरिक परेशानी ।
● बहुत अधिक व्यस्तता ।
● सेक्स हार्मोन की कमी आदि मुख्य । तो उम्मीद करते हैं आज का टॉपिक जाने क्यों होती हैं महिलाओं की इच्छा । ( Jane kyo hoti hai mahilao ko sambandh bnane ki ichcha. ) आपको पसंद आया होगा । आप अपने विचार कमेंट बॉक्स में लिखे । ।

Leave a Comment