कैसे जाने कि आप प्रेग्नेंट है ? How To Know That You Are Pregnant.

How To Know That You Are Pregnant in hindi.

How To Know You Are Pregnant In Hindi. माँ एक ऐसा शब्द है जिसमे पुरी सृष्टि समाहित हैं। माँ बनना हर औरत का एक ऐसा सपना होता हैं, जिसे वह ना जाने कब से संजो कर रखी होती है। किन्तु जब माँ बनने का समय आता है तो हममे से बहुत से लोगो को यह पता तक नही चल पाता कि क्या सच में गर्भवती हूँ ? और Pregnancy में क्या करना चाहिए और क्या नही करना चाहिए ?

How To Know You Are Pregnant के बारे में पता करने के लिए सबसे पहले प्रेग्नेंसी के शुरुआती लक्षणों पर गौर करना चाहिए । हालांकि पहली प्रेग्नेंसी में महिलाएं काफी संकोच करती है मगर पीरियड मिस होने के बाद जी मिचलाना, चक्कर आना, या उल्टी होने जैसे लक्षण है तो हो सकता है कि आपका गर्भ ठहर गया हो |

इन्ही सब बातों के बारे हम आज आपको बताते हैं। पहले के जमाने में बड़ी उम्र की अनुभवी महिलाएं किसी को मात्र देख कर बता देती थी कि वह गर्भवती है। गर्भवती होने पर चाल -ढाल, शक्-सूरत, उठना- बैठना, खाना-पीना, पसन्द-नापसन्द, ख़ुशी -दुखी सब बदल जाता है, जिससे पता चल जाता है कि आप गर्भवती हो। आइये बताते हैं कि कैसे जाने कि आप प्रेग्नेंट है ? How To Know You Are Pregnant In Hindi.

Also read

गर्भावस्था में एलोवेरा के फायदे । Aloe vara in pregnancy in hindi.

डिलीवरी के बाद वजन कम कैसे करें । Pregnancy ke baad weight loss.

 

कैसे जाने कि आप प्रेग्नेंट है ? How To Know That You Are Pregnant In Hindi.

प्रेग्नेंसी के बारे में पता करने के सबसे पहले शुरुआती लक्षणों ( Early pregnancy symptoms ) पर ध्यान देना चाहिए । पीरियड मिस होने के पहले दिन से कुछ हल्के लक्षण नजर आने शुरू हो जाते हैं जैसे जी मिचलाना, चक्कर आना आदि । प्रेग्नेंसी के शुरुआती लक्षणों के आधार पर ही पता कर सकते है कि आपका गर्भ ठहर गया है या नहीं । ये लक्षण इस प्रकार है –

मासिक धर्म ना आना – गर्भवस्था में सबसे पहले यही लक्षण दिखाई देते हैं। यदि आपको नियमित और समय से मासिक धर्म होते हैं, तो अचानक मासिक धर्म होने बंद हो जाये तब यह लक्षण गर्भवती होने के संकेत देते हैं। किन्तु जरूरी नहीं कि मासिक धर्म ना आए इसका मतलब आप गर्वबती ही हो, कभी कभी खान पान की अनियमितता, दवाइयों के साइड इफेक्ट्स या किसी अन्य बीमारी के कारण भी मासिक धर्म रुक जाते हैं।

उल्टी या चक्कर आना – यह गर्भवती होने के दूसरे संकेत है कि महिलाओं को उल्टियां होने लगती है, सरदर्द भी होता है जिसके कारण उन्हें चक्कर भी आ जाते हैं। कुछ मामलों में महिलाओं को अजीब सी बेचैनी भी होने लगती है।

खान-पान में बदलाव – गर्भवती स्त्री के खान पान में काफी बदलाव हो जाता है, उन्हें अचानक कुछ भी खाने का मन होने लगता है, ज्यादातर खट्टी वस्तुएं उन्हें भाती है। जी मचलाने लगता है अर्थात अलग अलग प्रकार की चीजें खाने का उनका मन होने लगता है।

व्यवहार – गर्भवती महिलाओं के व्यवहार में भी काफी बदलाव आ जाता है । बेचैनी, चिड़चिड़ापन और क्रोध बात बात पर आने लगती है। अचानक खुश होना और अचानक दुःखी हो जाना भी व्यवहार परिवर्तन का संकेत भी गर्भवती होना दर्शाता है।

पेट में दर्द का अहसास – गर्भवती स्त्रियों को पेट के निचले हिस्सों में दर्द होने लगता है। शारीरिक बदलाव की वजह से कुछ लोगो को अकड़न भी महसूस होती है। कब्ज की शिकायत भी होती हैं। इन बदलावों से जाना जा सकता है कि आप गर्भवती है।

थकान – गर्भवती महिलाओं को थकान बहुत जल्दी होने लगती है क्योंकि शारीरिक बदलाव होने से उनके शरीर की आंतरिक संरचना प्रभावित होती जिसकी वजह से थकान बहुत होती है।

यदि उपयुक्त लक्षण आपको दिखाये दे तो समझ जाइये की आप गर्भवती है। कभी कभी ऐसा होता है कि लक्षण नजर नही आते तो सबसे बेहतर तरीका है कि मेडिकल से प्रेग्नेंसी टेस्ट किट लाकर कुछ ही मिनटों में टेस्ट किया जाये। How To Know You Are Pregnant.

घर पर प्रेग्नेंसी टेस्ट कैसे करें | How to pregnancy test in hindi.

आजकल बाजार में कई तरह की प्रेग्नेंसी टेस्ट किट मौजूद हैं मगर यदि आप घर में ही श्योर होना चाहते हैं तो विनेगर (एक प्रकार का सिरका, जो भोजन में उपयोग किया जाता है) लीजिये और उसमे यूरीन (मूत्र) की कुछ बूंदे डालिये, यदि विनेगर का रंग बदल जाये तो आप गर्भवती हो और अगर रंग ना बदले तो आप गर्भवती नही हो।

प्रेग्नेंट है या नही इसे जाँच करने के लिए मासिक धर्म अनियमित होने के एक सप्ताह बाद आप प्रेग्नेंसी टेस्ट किट में बने स्ट्रेप में ड्रॉपर की सहायता से यूरिन की कुछ बूंदे डाल दें। यदि एक गुलाबी लाइन दिखाई दे, इसका मतलब आप गर्भवती नही है और यदि दो गुलाबी लाइन दिखाई दे, इसका मतलब आप गर्भवती हो। यदि अगर कोई भी लाइन दिखाई ना दे तो आपका टेस्ट सही तरीके से नही हुआ है और आपको दुबारा टेस्ट करना होगा।

How to pregnancy test in hindi.

नमक से प्रेग्नेंसी टेस्ट कैसे करें । Salt pregnancy test in hindi.

How To Know You Are Pregnant. अपने घर पर प्रेग्नेंसी टेस्ट करने के लिए आजकल प्रेग्नेंसी टेस्ट किट उपलब्ध है लेकिन नमक से भी प्रेग्नेंसी टेस्ट किया जा सकता है । यह बहुत ही आसना प्रक्रिया है जो इस प्रकार है जैसे –

● सबसे सुबह के समय पहली पेशाब की कुछ बूंदे सेंपल के रूप में कंटेनर मे ले ।
● अब इसमें 3/4 चम्मच डाले एवं 2 से 3 मिनट इंतज़ार करें ।
● अब नमक व यूरिन का रिएक्शन पर नजर रखे ।
● विज्ञान के मुताबिक प्रेग्नेंट यूरिन में उपस्थित HCG हार्मोन नमक के साथ अभिक्रिया करता है जिससे झाग बन जाते है ।

अब बात करते हैं इनका परिणाम कैसे पता करें यदि नमक व यूरिन मिलाने पर झाग बन जाते है तो प्रेग्नेंट माना जाता है लेकिन इसके विपरीत झाग नहीं आते हैं तो प्रेग्नेंट नहीं माना जाता है । इन परिणामों को काफी सटीक माना जाता है ।

पीरियड मिस होने के कितने दिन बाद प्रेग्नेंसी टेस्ट करना चाहिए ? How To Know You Are Pregnant.

पीरियड मिस होने के बाद आमतौर पर संकोच की स्थिति में पड़ जाती है । कही न कही उनके मन तनाव आ जाता है विशेष रूप से जब आप पहली बार पीरियड मिस कर देती हैं । ऐसी स्थिति में प्रेग्नेंसी टेस्ट करना आवश्यक हो जाता है । जिस आप How To Know You Are Pregnant पता चल सकता है ।

बिना कंडोम शारीरिक संबंध बनाने के बाद जब आपका पीरियड मिस हो जाता है तो अगले 48 या 72 घण्टे के दौरान प्रेग्नेंसी टेस्ट कर सकते है । सरल भाषा में बात करें तो पहले 3 – 4 में टेस्ट कर सकती है । यह टेस्ट यूरिन, ब्लड टेस्ट के रूप में किये जाते है । आमतौर पर महिलाएं प्रेग्नेंसी टेस्ट किट का इस्तेमाल करती है ।

प्रेग्नेंट होने के बाद ध्यान देने योग्य टिप्स । Pregnancy care tips in hindi.

गर्भवती महिलाओं के लिए शूरु के तीन महीने बहुत ध्यान देने की जरूरत होती है क्योंकि उनकी जरा सी लापरवाही से भ्रूण का विकास नही हो पाता और नष्ट हो जाता है इसलिए डॉक्टर गर्भवती माताओं को शुरुआती तीन महीनों पर विशेष ध्यान रखने की हिदायत देते हैं। जैसे –

● खान पान का खास ध्यान रखे। भूख लगने पर ही खाएं एवं ज्यादा देर तक भूखा ना रहे।
● खाने में पोषक युक्त भोजन का उपयोग ज्यादा करे।
● मौसमी फलों का सेवन करे और अधिक से अधिक पानी पियें।
● भूलकर भी पपीता का सेवन ना करें क्योंकि इससे भ्रूण का विकास रुक जाता है।

● उछल कूद ना करें अर्थात ज्यादा मेहनत के कार्य ना करे।
● पर्याप्त मात्रा में नींद लें क्योंकि गर्भवती माताओं को अधिक से अधिक आराम की आवश्यकता होती है ।
● इच्छाओं को ना मारे, जो अच्छा लगे वह करे।हमेशा पॉजिटिव रहे ।

● नियमित तौर पर डॉक्टर द्वारा बताए गए हल्के फुल्के व्यायाम करें ।
● डॉक्टर द्वारा दी गयी दवाइयों का सेवन समय से करे ।
● तीन महीने के बाद आपको समय समय पर डॉक्टर की परामर्श लेनी चाहिए क्योंकि तीन महीने बाद भ्रूण अच्छी तरह विकसित हो चुका होता है और उसकी हर हलचल का पता लगाने के लिए सोनोग्राफी की जानी चाहिए ।

● शरीर का आकार बढ़ जाने से काम करने में परेशानी होती है इसलिए उन्हें सामर्थ्य अनुरूप कार्य करने की सलाह दी जाती है।
● इस समय गर्भवती माताओं की हालात ऐसी होती है कि किसी भी बात का उनके मन पर बहुत गहरा प्रभाव पड़ता है, इसलिए उन्हें सकारात्मक माहौल में रहने की सलाह दी जाती है ।

● गर्भावस्था के दौरान प्रकृति के बीच समय बिताना चाहिए। सुबह की सैर, गुनगुनी धूप लेनी चाहिए और रात को कुछ देर टहलना चाहिए इससे गर्भ में पल रहे बच्चे का मस्तिष्क सुचारू रूप से कुशाग्र होता है ।
● शरीर की अनुकूलता अनुसार ढीले एवं सुविधा युक्त कपड़े पहनने चाहिए क्योंकि चुस्त एवं कड़े किस्म के कपड़े गर्भवती महिलाओं के लिए ठीक नही होते हैं ।
● अधिक मात्रा में प्रोटीन, आयरन और कार्बोहाइड्रेड वाले भोज्य पदार्थों का सेवन करना चाहिए ।

● यदि आप गर्भवती है, तो आपको अपना ध्यान रखने की सबसे ज्यादा जरुरत होती है क्योंकि आप और आपका शरीर एक नव जीवन बनाने की तैयारी करता है, जिसमे कई तरह के परिवर्तन दिखाई देते हैं। हार्मोन्स बदलाव की वजह से व्यवहार में भी काफी अंतर आता है, इसलिए प्रेग्नेंसी के दौरान अच्छी बातें सोचने और सुनने को कही जाती हैं। जिससे आने वाले बच्चे के मस्तिष्क पर माता द्वारा किये या सोचे गये कार्य का बोझ ना पड़े। सबसे जरूरी बात यह कि इस हालात में लापरवाही बिल्कुल ना बरतें और जरा सी भी तकलीफ पर तुरंत डॉक्टर के पास जाएं क्योंकि कभी कभी लापरवाही से जच्चा बच्चा दोनों की ही जान को खतरा हो जाता है, इसलिए हमेशा चिकित्सक के सम्पर्क में रहें।

उम्मीद करते हैं आज का लेख How To Know You Are Pregnant in hindi.  आपके लिए उपयोगी रहा होगा । आप अपने विचार हमारे कमेंट बॉक्स में लिख सकते है । । शिखा गोस्वामी ‘निहारिका’, छत्तीसगढ़ ।।

 

Leave a Comment