फ्लेक्स आयल कैप्सूल के फायदे नुकसान व सेवन करने का तरीका

Flax oil capsule ke fayde.

फ्लेक्स आयल कैप्सूल के फायदे । Flax oil Capsule benefits. व्यक्ति को स्वस्थ रहना परमावश्यक है। काम का अत्यधिक बोझ और वक्त की कमी के कारण व्यक्ति अपना ख्याल नहीं रख पाता जिसका यह कारण होता है व्यक्ति बहुत ही खतरनाक बीमारी की गिरफ्त में चला जाता है इसका एक ही उपाय है वह अपने खानपान में विशेष सावधानियां रखें ।

विशेषकर फ्लेक्स आयल का सेवन हम अपने भोजन में करें जैसे आमतौर पर अलसी जिसे आम भाषा में पीसी कहते हैं। इसमें एंटीबायोटिक है जिसका काम बैक्टीरिया से होने वाले संक्रमण को रोकना है। यह नाक गले और सॉफ्ट टिशु और फेफड़े के इंफेक्शन में इसका इस्तेमाल बहुत ही कारगर होता है इतना ही नहीं या यह  सूक्ष्म जीवो की वृद्धि को रोकने और इन्फेक्शन में इसका इस्तेमाल होता है। तो चलिए जानते हैं फायदे नुकसान के बारे में – Flax oil capsule ke fayde.

पढ़े – अश्वाशक्ति पाउडर के फायदे नुकसान । Ashwashakti powder ke fayde. 

 फ्लेक्स आयल कैप्सूल के घटक –

Vestige Flax Oil एक प्रकार का अलसी का तेल है जो Omega-3 Fatty Acid का मुख्य सोर्स है । फ्लेक्स आयल मे आवश्यक फैटी एसिड जैसे अल्फा लाइनॉइनिक एसिड (ALA), ओमेगा-6 एव ओमेगा-3, विटामिन ई का मुख्य घटक भी है । यह एक शक्तिशाली एंटी ऑक्सीडेंट्स से भरपुर है । यह हानिकारक फ्री रेडिक्लस से बचाने मे मददगार होता है ।

फ्लेक्स ऑयल का मुख्य स्रोत अलसी का तेल और ओमेगा 3 फैटी एसिड है इसका कमी से अवसाद हृदय रोग कैंसर शुष्क त्वचा और मानसिक रोग का शिकार हो सकते हैं ।

पढ़े – मेडरमा क्रीम इस्तेमाल कैसे करें । Mederama cream uses in hindi. 

फ्लेक्स आयल कैप्सूल के फायदे –

अब इसके फायदे के बारे में जाने क्योंकि यह यह एंटीबायोटिक दवा है जो शरीर में इंफेक्शन पैदा करने वाले बैक्टीरिया को नष्ट करता है इसलिए इसके सेवन से तुरंत व्यक्ति स्वस्थ हो जाता है । इसका मतलब यह नहीं कि इसको बंद कर देना चाहिए समय से पहले बंद करने पर इंफेक्शन पुनः अपना प्रभाव दिखाना चालू कर देता है जिसे इलाज और भी मुश्किल हो जाता है। तो चलिए जानते हैं इनके फायदे के बारे में – Alsi ke tel ke fayde.

  • फ्लेक्स आयल कैप्सूल पाचन में सुधारने उपयोगी – फ्लेक्स आयल कैप्सूल सेहतमंद है जो आपकी पाचन क्रिया को दुरस्त करने मे उपयोगी है । इसमे उपस्थित फाइबर जो हमारा पाचन संबंधी विकारो को दूर करके पाचन क्रिया को मजबूत करता है । इनका नियमित रूप से सेवन करने से आंतो के द्वारा भोजन जाने मे मददगार होता है ।
  • अलसी का तेल स्किन के लिए फायदेमंद – यह तेल विटामिन डी व ई से भरपुर होने के कारण विभिन्न प्रकार की स्किन प्रॉब्लम जैसे पिम्पल्स, कील मुहसे एव दाग़ धब्बे के लिए उपयोगी है ।
  • Flax oil Capsule वजन कम करने के लिए उपयोगी – इसमे मौजूद फैटी एसिड, ओमेगा 3, फाइबर, ज़िंक एव पोटेशियम जो वजन कम करने के लिए कारगर है ।
  • फ्लेक्स आयल ह्रदय रोग के लिए उपयोगी – यह तेल ओमेगा 3 एव फैटी एसिड से युक्त होता है जो दिल को हेल्दी रखने मे उपयोगी होता है । यह धमणियों मे सूजन को कम करता है ।
  • फ्लेक्स आयल कोलेस्ट्राल कम करने मे सहायक – इसमे फ्लेवोनॉएड्स एव सोलुबल फाइबर होता है जो Bad cholesterol का अवशोषण करने मे सहायक होता हैं ।
  • Flax oil Capsule  शुगर का उपचार के लिए उपयोगी – अलसी का तेल मधुमेह रोगियों के लिए फायदेमंद है जो रक्त शर्करा स्तर मे सुधार ला सकता है ।

Vestige फ्लेक्स आयल कैप्सूल के महिलाओ के लिए फायदे –

अलसी का तेल न केवल पुरुषो के लिए बल्कि महिलाओ के लिए भी उपयोगी है । इनका नियमित रूप से सेवन करने से अनेको फायदे है जैसे –

  • फ्लेक्स आयल मे उपस्थित लिग्नेनिन नामक हार्मोन जो कि टुमर सेल्स के प्रसार को रोकने मे सहायक है । जिससे ब्रेस्ट कैसर से बचा जा सकता है ।
  • फ्लेक्स आयल महिलाओ मे प्रजनन क्षमता का विकास करता है ।
  • अलसी का तेल महिलाओ के सेक्स प्रॉब्लम को दूर करता है ।
  • Flax oil Capsule  महिलाओ मे मासिक धर्म को नियमित करने मे उपयोगी है ।
  • यह महिलाओ को तनाव या अवसाद दूर करने मे फायदेमंद है ।
  • महिलाओ की विभिन्न प्रकार की स्किन प्रॉब्लम एव हेयर फॉल प्रॉब्लम से निजात देने मे सहायक है ।
  • फ्लेक्स आयल महिलाओ मे रजनोवृत्ति (Menopause) की समस्या से निजात देता है ।

पढ़े – बैद्यनाथ शुगर की दवा । 5 बेस्ट आयुर्वेदिक व पतंजलि दवा

फ्लेक्स आयल कैप्सूल के फायदे Modicare

यह कैप्सूल एव आयल अनेक ब्रांड मे उपलब्ध है जैसे Modicare, Vestige, लेकिन यह सभी के लिए उपयोगी है । यह विभिन्न प्रकार की गंभीर बीमारियों जैसे मधुमेह, कैंसर, ह्रदय रोग के साथ साथ स्किन प्रॉब्लम एव बालो की समस्या के लिए फायदेमंद औषधि है ।

यह आयल हमारे शरीर मे मौजूद टॉक्सिंस यानी विशाक्त पदार्थ को बाहर निकलने का कार्य करता है । इसमे मौजूद ओमेगा 3 फैटी एसिड जो कि बॉडी को डिटैक्स करके अपशिष्ट पदार्थों को बाहर निकलने मे उपयोगी है ।

पढ़े – ब्रेस्ट बढ़ाने की दवा हिमालय । स्तन बढ़ाने की 5 टेबलेट व क्रीम 

फ्लेक्स आयल कैप्सूल सेवन करने का तरीका

अब हम बात करते हैं इसका सेवन कैसे किया जाए फ्लेक्स कैप्सूल का इस्तेमाल हम दो तरह से कर सकते हैं । खाना खाने के बाद या बिना खाना खाए भी वैसे दवाइयां अक्सर डॉक्टर के निर्देशानुसार सेवन करना चाहिए और साथ ही नियमित रूप से इसे लेना चाहिए । जब तक कि रोगी स्वस्थ ना हो जाए जैसा कि हम जानते हैं यह एंटीबायोटिक है अतः इसका कोर्स पूरा करना चाहिए । जब तक आप बेहतर ना हो जाए तभी इसका सेवन को बंद करना चाहिए । जल्दी बाजी में बीच में ही छोड़ देने के कारण शरीर में कुछ बैक्टीरिया जीवित रह जाते हैं जो फिर से इंफेक्शन का कारण बन सकती हैं।

लेट्स कैप्सूल का इस्तेमाल करने से पहले हमें इसके बारे में जानकारी होना आवश्यक है । आखिर यह क्या है फ्लेक्स कैप्सूल एक एंटीबायोटिक है यह बैक्टीरियल प्रोटेक्टिव कवरिंग का काम करती है । बैक्टीरिया को कोशिका झिल्ली के माध्यम से ढककर इससे शरीर की रक्षा करती है जो बैक्टीरिया जीवित रहने के लिए आवश्यक है उसको यह बचाती है।

पढ़े – पतंजलि कमर दर्द दवा । 5 दर्दनाशक आयुर्वेदिक दवा

Flax oil Capsule की सावधानियां –

1. रोग ग्रसित व्यक्ति को डॉक्टर कैप्सूल लेने की सलाह संक्रमण के इलाज और लक्षणों में सुधार के लिए देते हैं। लेकिन आपको इस दवा के सेवन से किसी तरह की परेशानी जैसे त्वचा में खुजली चेहरे और मुंह पर सूजन या फिर सांस लेने में कोई कठिनाई हो रही हो तो इसका सेवन बंद कर देना चाहिए और अपने डॉक्टर से परामर्श लेना चाहिए।

2. रोगी अगर खुद को स्वस्थ महसूस करता है तो इसका मतलब यह नहीं कि फ्लेक्स कैप्सूल का इस्तेमाल तुरंत बंद करते हैं नहीं तो फिर या आपको दोबारा हो सकती हैं और फिर से व्यक्ति संक्रमित हो सकता है।

3. रोगी को अगर इस दवा के सेवन से कोई साइड इफेक्ट हो रहे हो तो तुरंत अपने डॉक्टर को सूचित करें।

फ्लेक्स आयल कैप्सूल के नुकसान – Flax seeds oil capsule side effects.

हां एक बात का हमेशा ख्याल रखना चाहिए कि अगर आपको किसी ने एंटीबायोटिक से एलर्जी है या किडनी या लिवर संबंधी किसी तरह की समस्या है तो अपने डॉक्टर को इसकी जानकारी अवश्य दें और अपने दवाई का सेवन करते हुए डॉक्टर से जरूर इस बारे में बात करें क्योंकि इस दवा का असर पड़ता है या अभी इस पर क्या असर डालते हैं इसका पता चलता है हां गर्भवती महिलाओं को इसका सेवन करने से पहले डॉक्टर का परामर्श बहुत ही आवश्यक है।

अंतिम शब्द – व्यक्ति के पास समय नहीं रहने के कारण ना ही वह एक्सरसाइज कर पाते हैं और अगर नाही इसका इस्तेमाल कर पाते हैं इसीलिए विकल्प के रूप में इसे कैप्सूल का रूप दिया गया है जो बाजार में उपलब्ध हैं। अब यह आप पर निर्भर हैं की अपने भोजन और दिनचर्या में तब्दीली करें या फिर इस कैप्सूल के माध्यम से शरीर में आए विषाक्त पदार्थों की भरपाई करें ।। कल्पना झा, बोकारो ।।