बवासीर की दवा Himalaya. गैस, कब्ज व पाइल्स की गारंटी दवा

bawasir ki dawa himalaya

बवासीर की दवा Himalaya. आज कल बदलते हुए खानपान, बिजी लाइफ स्टाइल से अनेकों शारिरिक बीमारियां होती हैं उनमें से गैस, कब्ज, अपच, बवासीर मुख्य हैं । असल में जब कब्ज जैसी प्रॉब्लम यदि लम्बे समय तक रहती हैं तो पाइल्स या  Bawasir जैसी बीमारी का जन्म होता हैं ।

इसी प्रकार लगातार बैठे रहने, अधिक भोजन करने, शारिरिक गतिविधि न करने से गैस व अपच जैसे विकारों को उत्पन्न करती है । इन विकारों को दूर करने के लिए हिमालय की बहुत अच्छी दवा है । जैसे हिमालय गैस की दवा, हिमालय कब्ज की दवा एवं बवासीर की दवा Himalaya. आदि इन दवाओं के बारे मे हम चर्चा करने वाले हैं तो चलिए जानते है – हिमालय Bawasir ki dawa Tablet के बारे में –

पढ़े – ब्रेस्ट बढ़ाने की दवा हिमालय । स्तन बढ़ाने की 5 टेबलेट व क्रीम

बवासीर किसे कहते हैं ? What is Piles in Hindi.

बवासीर या फिशर या अर्श एक अत्यंत कष्टदायक एवं पीड़ादायक रोग है । जो मलद्वार के अंतिम भाग में सूजन, फूलने या बढ़ जाने के कारण होता है । कभी कभी मलद्वार मे मल त्याग के मार्ग में छोटे छोटे मस्से हो जाते है जिसे मस्सा कहा जाता है । इन मस्सो की सख्या एक या अधिक भी हो सकती हैं । ये मस्से मल त्याग के दौरान दर्द देते है । इस दौरान खून भी टपकता हैं ।

मलद्वार के बाहरी भाग में होने वाली पाइल्स को बादी बवासीर एवं अंदर में होने वाली प्रॉब्लम को खूनी बवासीर कहा जाता है । बवासीर मस्से पर खाज, खुजली, दर्द की सम्भावना ज्यादा रहती हैं । इन मस्सो के फटने पर खूनी भी आता है । इसी कारण खूनी बवासीर कहा जाता है ।

एक्सपर्ट के अनुसार यह इस बीमारी का कारण अव्यवस्थित खानपान हैं । इनके अलावा दवाओं के कारण, अत्यधिक गर्म तासीर की वस्तुओं का सेवन करने के कारण होती हैं । एक बार होने के बाद दवाओं का सेवन करने के अलावा सावधानी बरतने की आवश्यकता होती हैं । इनके बारे में हम अपने पिछले लेख ( Bawasir ka ilaaj ) में बता चुके हैं ।

बवासीर की दवा himalaya.

हिमालय ड्रग्स कंपनी एक जानी मानी कंपनी हैं जो अनेको दवाओं का उत्पादन करती हैं । ये दवाएं अधिकतर आयुर्वेदिक होती हैं । जिनका सेवन करने से कोई दुष्प्रभाव नहीं है लेकिन रोगी को सेवन करने से पहले योग्य डॉक्टर से परामर्श करना आवश्यक है ।

इनसे पहले हम पतंजलि बवासीर क्रीम के बारे में बता चुके हैं । चूँकि Piles एक ऐसी प्रॉब्लम हैं जो अलग अलग चरणों से दौर से गुजरती है । कभी कभी तो इतना भयानक रूप धारण कर लेती हैं जिसमें सर्जरी के सिवाय कोई ऑप्शन नहीं होता है । तो चलिए जानते है हिमालय कंपनी की टेबलेट, क्रीम के बारे में –

पढ़े – जल्दी मुक्ति के लिए हिमालय दवा 

Himalaya Pilex Tablet. हिमालय पाइलेक्स टेबलेट के फायदे –

पिलेक्स टेबलेट एक हर्बल एवं आयुर्वेदिक दवा है । जो एक एनाल्जेसिक एवं रोगाणुरोधी एजेंट के रूप में कार्य करती हैं । पाइलेक्स का नियमित रूप से उपयोग करने पर बवासीर के साथ साथ मलद्वार पर होने वाले दर्द, खुजली, कब्ज, रक्तस्राव व बेचैनी का उपचार किया जाता हैं ।

हिमालया पाइलेक्स टैबलेट में मौजूद आयुर्वेदिक घटक जैसे – गुग्गुलु, नीम के बीज, हरीतकी, बिभीतकी, आंवला, कंचनारा, नागकेसर, प्यूरीफाइड शिलाजीत, दारुहल्दी, लज्जलु, यशद भस्म आदि जो पाइल्स की विभिन्न प्रकार की समस्याओं के लिए कारगर है । यह तत्व बवासीर में होने वाले दर्द, सूजन एवं घाव भरने के लिए कारगर है ।

इस टेबलेट का कोई साइड इफेक्ट्स नहीं है फिर भी इनका उपयोग डॉक्टर की देखरेख में करें । इनके अलावा यह बवासीर दूसरे व तीसरे चरण के लिए लाभदायक है । ध्यान रखें कि इस टेबलेट का सेवन गर्भावस्था के दौरान न करें । वही यह दवा एनल फिशर के लिए लाभकारी है ।

बवासीर की दवा Himalaya – पाइलेक्स क्रीम का उपयोग कैसे करें ? Himalaya Pilex Ointment Hindi.

हिमालय कंपनी द्वारा पाइलेक्स ऑइंटमेंट ( क्रीम ) एक उपयोगी दवा है । इनका उपयोग बाहरी स्किन पर यानी मलद्वार के अंतिम भाग पर किया जाता हैं । इसमें उपस्थित आयुर्वेदिक घटक जैसे लज्जालु ( Lajjalu ), भृंगराज (Bhrinraj), निर्गुन्डी (Nirgundi ), जेरगुल (Zergul), कर्पूरा (Karpura), टंकण (Tankan) आदि दोनों प्रकार के बवासीर यानी खूनी या बादी बवासीर के लिए लाभदायक है ।

यह क्रीम बाबासीर के दौरान होने वाले दर्द, खुजली, जलन एवं लेटिन के साथ गिरने वाले खून से भी राहत प्रदान करती हैं । यह क्रीम मल त्याग के दौरान होने वाले दर्द से मुक्ति देता है । लेकिन यह पिलेक्स टैबलेट की तरह एक निश्चित स्तर तक बवासीर का उपचार करने के लिए उपयोगी है ।

पढ़े – पतंजलि बवासीर क्रीम व 5 बेस्ट आयुर्वेदिक दवा

हिमालय पाइलेक्स फोर्ट टैबलेट । Pilex forte tablet Uses in Hindi.

यह टेबलेट हिमालय बवासीर की दवा के रूप में जानी जाती है । यह फिशर के दौरान होने वाले दर्द, जलन, खुजली से निजात पाने की रामबाण दवा है । यह टैबलेट में एंटी इन्फ्लेमेटरी, रोगाणुरोधी, एनाल्जेसिक, एन्टी ऑक्सीडेंट, मैट्रिक्स मेटालोप्रोटीनिस निरोधात्मक हैं जो घाव भरने, सूजन कम करने, सक्रमण को रोकने के लिए उपयोगी हैं ।

यह टैबलेट हिमालय बवासीर की रामबाण दवा से कम नहीं है । जो दर्द, सूजन एवं सक्रंमण से बचाने के साथ साथ फिशर-इन-एनो एवं पोस्ट-हेमोराइडल सर्जरी के दौरान तेजी से रिकवरी करने में मददगार होती हैं । इनके अलावा यह पेट से जुड़ी प्रॉब्लम जैसे गैस, कब्ज से भी राहत प्रदान करती हैं । इस टेबलेट का कोई साइड इफेक्ट्स नहीं है लेकिन रोगी की आयु व लिंग के अनुसार अनुशासित खुराक सेवन करें ।

बवासीर की दवा Himalaya – Pilex Forte Ointment uses in hindi.

यह क्रीम एक आयुर्वेदिक बवासीर क्रीम हैं जो बवासीर के कारण होने वाले विभिन्न प्रकार के दर्द जैसे खुजली, जलन, दर्द एवं सूजन से राहत देती हैं । Himalaya Pilex Forte cream जिसमें मौजूद प्राकृतिक घटक जैसे यशद भस्म एवं छुईमुई आदि पाइल्स की विभिन्न प्रकार की प्रॉब्लम से राहत प्रदान करती हैं ।

इस क्रीम का उपयोग मलद्वार के ऊपरी भाग एवं अंदर उंगली के माध्यम से किया जाता है । यह दवा गर्भवती महिलाओं, एवं पुरुषों के लिए सुरक्षित हैं । छोटे बच्चों को इस्तेमाल करने से पहले डॉक्टरी परामर्श अवश्य करें ।

कब्ज की दवा हिमालय हर्बोलेक्स । Himalaya Herbolax uses in hindi.

यह दवा कब्ज दूर करने के लिए एक रामबाण आयुर्वेदिक औषधि है । यह दवा पेट से जुड़ी प्रॉब्लम के साथ साथ नई या पुरानी कब्ज दूर करने के लिए जानी जाती हैं । इसमे उपस्थित आयुर्वेदिक घटक जैसे – हरीतकी, त्रिवृथ, कसानी सिचोरियम इंटिबस, सुनथी, कसामर्दा, विदांग, काकामाची सोलनम निग्रुम व यस्थी जो पुराने से पुराने कब्ज को दूर करने के लिए उपयोगी है ।

कब्ज तोड़ने के कारण बवासीर, आंतो की प्रॉब्लम एवं हार्मोनल असतुंलन जैसी समस्याओं से निजात मिल सकती हैं । यह पेट साफ करने का कार्य करती हैं । इनका उपयोग डॉक्टर की सलाह से रात को 2 से 3 गोलियां सेवन कर सकते है । ध्यान रखें कि कब्ज की स्थिति के अनुसार सेवन करें ।

हिमालय गैस की दवा – गैसेक्स टेबलेट । Himalaya gasex tablet uses in hindi.

यह एक ऐसी टैबलेट हैं जो पाचन तंत्र से जुड़ी प्रॉब्लम के उपचार हेतु आयुर्वेदिक दवा है । इनका उपयोग गैस, कब्ज, सीने में जलन, बदहजमी, अपच जैसी प्रॉब्लम के लिए किया जाता हैं । इसमें उपस्थित तत्व जैसे – कौड़ी भस्म, एकोनिटम पालमैटम, त्रिफला, ज़िंगबेर ऑफ़िसिनल, शंख भस्म, एम्बेलिया पसली व पाइपर नाइग्रम जो पाचन क्रिया से जुडे समस्त विकारों को दूर करने में सहायक होते है ।

हिमालय कंपनी द्वारा निर्मित गैसेक्स टेबलेट गैस के लिए फायदेमंद होती ही है । इनके अलावा यह मुंहासे, पेट मे अल्सर एवं मधुमेह जैसे रोगों के लिए उपयोगी होती हैं । इनका उपयोग योग्य डॉक्टर की सलाह के अनुसार करना चाहिए । बात करें दुष्प्रभाव की तो यह एक आयुर्वेदिक दवा है । इनका कोई साइड इफेक्ट्स नहीं है । यदि किसी तरह के दुष्प्रभाव नजर आते है तो तुरंत डॉक्टर से सम्पर्क करना आवश्यक समझे ।

हिमालय गैस, कब्ज की दवा – यष्टिमधु टेबलेट । Himalaya Yashtimadhu Tablet uses in hindi.

यह टेबलेट पाचन विकारो के उपचार हेतु उपयोग में ली जाती है । इनके अलावा पेट से जुड़ी समस्या जैसे गैस, बदहजमी, कब्ज जैसी प्रॉब्लम के लिए भी लाभकारी दवा है । इनका मुख्य घटक मुलेठी हैं जो पाचन शक्ति बढ़ाने के लिए जाना जाता है ।

यह टैबलेट अधिक गैस होने पर गैस्ट्रिक स्राव को कम करती हैं । वही पेट अस्तर के लिए बलगम पैदा करती हैं । जो बैक्टीरिया अल्सर एवं गैस्ट्रिक से जुड़ा है उनसे सुरक्षा करने की कारगर दवा है । यह दवा एक शुद्ध शाकाहारी, जिलेटिन से रहित एवं आयुर्वेदिक दवा है । इनका कोई साइड इफेक्ट्स नहीं है फिर इनका उपयोग अनुशासित खुराक के रूप में करें ।

पढ़े – बेस्ट 9 महिलाओं के लिए टॉनिक Patanjali, आयुर्वेदिक

अंतिम शब्द – आज के लेख हिमालय बवासीर की दवा Tablet. गैस, कब्ज व पाइल्स की गारंटी की दवा । में दी गई समस्त जानकारी का उद्देश्य शैक्षणिक हैं । आप इन दवाओं का इस्तेमाल करने से पहले योग्य डॉक्टर से अवश्य परामर्श लें ।